नेशनल हेरल्ड केस: बेल मिलते ही सोनिया और राहुल का मोदी सरकार पर हमला

By: | Last Updated: Sunday, 20 December 2015 12:13 PM
full unformation on national herald case

नई दिल्ली: नेशनल हेरल्ड केस में सोनिया गांधी और राहुल गांधी को जमानत मिल गई है. कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने इस मामले में सोनिया-राहुल की तरफ से पक्ष रखे थे. दोनों को 50-50 हजार के मुचलके पर जमानत मिली है. इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी अदालत कक्ष में मौजूद थे. कार्यवाही शुरू होने के करीब 10 मिनट में ही दोनों को जमानत मिल गई. इसके बाद दोनों नेता वहां से निकल कर चले गए.

AK ANTONY

एके एंटनी ने सोनिया और प्रियंका गांधी ने भाई राहुल की जमानत ली. इस बीच बीजेपी नेता और वकील सुब्रमण्यम स्वामी ने इसका विरोध भी किया. उन्होंने कहा कि दोनों को जमानत मिली तो वे देश छोड़ कर भाग सकते हैं.

 

सोनिया ने क्या कहा
बेल मिलने के बाद सोनिया गांधी ने कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार जानबूझकर अपने विरोधियों को निशाना बना रही है. हम साफ़ मन से अदालत में पेश हुए, जैसे एक अच्छे नागरिक को होना चाहिए. सोनिया गांधी ने कहा कि मुझे भरोसा है सच्चाई सबके सामने आएगी. सोनिया गांधी ने कहा कि विरोधी कभी भी रास्ते से हटा नहीं पाए.

 

राहुल ने क्या कहा
राहुल गांधी ने कहा कि मोदी जी झूठे आरोप लगवाते हैं. वह सोचते हैं कि विपक्ष झुक जाएगा. मैं स्पष्ट बताना चाहता हूं कि हम एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे. मोदी जी कांग्रेस मुक्त भारत चाहते हैं, कांग्रेस मुक्त भारत कभी नहीं होंगे. उधर स्वामी ने कहा कि मैं यह केस 2016 में जीतूंगा, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और बाकी सब जेल जाएंगे.

 

क्या हुआ पूरा दिन?

नेशनल हेरल्ड केस में सोनिया गांधी और राहुल गांधी को जमानत मिल गई है.  कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल व अभिषेक मनु सिंघवी ने इस मामले में सोनिया-राहुल की तरफ से पक्ष रखे थे. दोनों को 50-50 हजार के मुचलके पर जमानत मिली है. इस दौरान कांंग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी अदालत कक्ष में मौजूद थे. कार्यवाही शुरू होने के करीब 10 मिनट में ही दोनों को जमानत मिल गई. इसके बाद दोनों नेता वहां से निकल कर चले गए.

 

एके एंटनी ने सोनिया और प्रियंका गांधी ने भाई राहुल की जमानत ली. इस बीच बीजेपी नेता और वकील सुब्रमण्यम स्वामी ने इसका विरोध भी किया. उन्होंने कहा कि दोनों को जमानत मिली तो वे देश छोड़ कर भाग सकते हैं. हालांकि, अदालत ने उनकी दलील नहीं मानी और आरोपियों की वकीलों की छोटी बहस के बाद ही जमानत दे दी. इस मामले में अगली सुनवाई की तारीख 20 फरवरी, 2016 तय की गई है. इस तारीख को भी सोनिया-राहुल को पेेश होना होगा.

1912 330pm SONIA RAHUL

इससे पहले प्रियंका गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी कोर्ट पहुंचे. नेशनल हेरल्ड केस में आरोपी मोती लाल वोरा इसके अलावा शीला दीक्षित, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, एके एंटनी, मीरा कुमार, कुमारी सैलजा समेत तमाम शीर्ष नेतृत्व पटियाला हाउस कोर्ट में मौजूद थे. कोर्ट रूम इस बीच खचाखच भरा हुआ था.

 

पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी  और राहुल गांधी पेश हुए थे. वे दोपहर बाद करीब 2 बजकर 45 मिनट पर पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचें थे. दोनों गाड़ी से उतर कर पैदल ही अदालत के अंदर तक गए. प्रियंका गांधी भी कार से उतर कर पैदल ही अंदर तक गई थी. गांधी परिवार के साथ ही इस मामले में आरोपी सैम पित्रोदा को छोड़कर सभी आरोपी अदालत में पहुंचे थे.

 

सुनवाई को लेकर कोर्ट की सुरक्षा बढ़ाई गई थी. पटियाला हाउस कोर्ट के आसपास एसपीजी, दिल्ली पुलिस, सीआरपीएफ और आरपीएफ के 500 जवान तैनात थे. सीसीटीवी कैमरों से भी नजर रखी जा रही थी. इससे पहले इस मामले में सोनिया-राहुुल के साथ ही इस मामले के सभी आरोपियों की बैठक बुलाई गई थी. यह बैठक दोपहर बाद 1:30 बजे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के घर पर हुई. इससे पहले करीब 12 बजे राहुल गांधी अपने आवास से निकल, 10 जनपथ पहुंचे थे.

 

इन सब के बीच कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद पेशी से पहले खुलकर सोनिया और राहुल के समर्थन में आ गए. रॉबर्ट वॉड्रा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, ”मेरी सास और साले को मेरा पूरा समर्थन है. राजनीतिक बदले की भावना से काम किया जा रहा है. सच सामने आएगा. पत्नी प्रियंका साथ राबर्ट के भी कोर्ट जाने की सूचना थी.

 

अदालत में पेश होने की जानकारी खुद सोनिया गांधी ने दे दी थी. एक सवाल के जवाब के में सोनिया गांधी ने शुक्रवार को ही स्थिति साफ कर दी थी और कहा था कि, ”हां मैं कल कोर्ट जाऊंगी.” हालांकि उनसे जब पूछा गया कि क्या वो बेल बॉन्ड भरेंगी और जमानत लेंगी तो इस पर उन्होंने कोई टिप्पणी नहीं की.

 

नेशनल हेरल्ड की कहानी ?

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने 9 सितंबर 1938 को लखनऊ में द नेशनल हेरल्ड अखबार की शुरुआत की थी. उस समय एसोसिएटेड जर्नल लिमिटेड ने नेशनल हेरल्ड के साथ हिंदी में नवजीवन और उर्दू में कौमी आवाज अखबार की भी शुरुआत हुई थी.

 

पंडित नेहरू नेशनल हेरल्ड अखबार के पहले संपादक थे और देश के पहले प्रधानमंत्री बनने तक वो नेशनल हेरल्ड बोर्ड के चेयरमैन भी रहे. कांग्रेस का मुखपत्र माना जानेवाला नेशनल हेरल्ड शुरू से आर्थिक संकट को झेलता रहा और 1977 में इंदिरा गांधी की हार के बाद दो साल तक अखबार बंद भी रहा था.

 

1986 में भी ये अखबार बंद होने के कगार पर पहुंच गया था लेकिन तब के प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने आर्थिक मदद देकर इसे बंद होने से बचाया था. बाद में भारी घाटे की वजह से ये अखबार 1 अप्रैल 2008 को पूरी तरह बंद हो गया. उसी के बाद कांग्रेस नेतृत्व ने इसे 90 करोड़ का कर्ज दिया था.

 

क्या है नेशनल हेरल्ड मामला?
नेशनल हेरल्ड केस की नींव साल 2008 में पड़ी जब नेशनल हेरल्ड अखबार को चलानेवाली कंपनी एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड पर 90 करोड़ का कर्ज चढ़ गया था और इस कर्ज की वजह से अखबार को बंद करना पड़ा. एजीएल को ऋणमुक्त करने के लिए कांग्रेस नेतृत्व ने पार्टी कोष से 90 करोड़ का कर्ज दिया.

 

कर्ज देते वक्त सोनिया गांधी कांग्रेस की अध्यक्ष थीं और उस समय सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मोतीलाल वोरा और ऑस्कर फर्नांडीज ने मिलकर पांच लाख की राशि से एक नई कंपनी यंग इंडिया बनाई. इस कंपनी में सोनिया और राहुल गांधी की 38-38 फीसदी हिस्सेदारी थी और बाकी दोनों नेताओं की 12-12 फीसदी हिस्सेदारी थी.

 

यंग इंडिया ने एसोसिएटेड जर्नल्स का कर्ज चुकाने के लिए शर्त रखी थी कि 90 करोड़ के कर्ज के बदले एसोसिएटेड जर्नल्स 10-10 रुपये कीमत के 9 करोड़ शेयर यंग इंडिया के नाम करेगा. 9 करोड़ के शेयर एसोसिएटेड जर्नल्स की कुल संपत्ति के 99 फीसदी के बराबर थे.

 

इस सौदे की वजह से सोनिया गांधी और राहुल गांधी की कंपनी यंग इंडिया को एसोसिएटेड जर्नल्स की संपत्ति का मालिकाना हक मिल गया. इसी सौदे को आधार बनाकर सुब्रमण्यम स्वामी ने साल 2012 में सोनिया और राहुल गांधी के खिलाफ धोखाधड़ी और दूसरे मामलों के तहत कोर्ट में याचिका दायर की.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: full unformation on national herald case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

मुरथल बलात्कार मामला: हाईकोर्ट ने एसआईटी को एक महीने में जांच पूरी करने को कहा
मुरथल बलात्कार मामला: हाईकोर्ट ने एसआईटी को एक महीने में जांच पूरी करने को...

चंडीगढ़: पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट ने साल 2016 के जाट आंदोलन के दौरान सोनीपत के निकट मुरथल में...

बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट में
बाढ़ का कहर: बिहार में 98 तो असम में अबतक 133 लोगों की मौत, यूपी के 15 जिले भी चपेट...

नई दिल्ली: बिहार, असम और पश्चिम बंगाल में बाढ़ ने जनजीवन पर बुरी तरह असर डाला है. बिहार में बाढ़...

यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र
यूपी के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी का प्रमाणपत्र

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में गुरुवार को 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5...

सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की मंजूरी
सेना की ताकत बढ़ाएंगे छह अपाचे लड़ाकू हेलीकॉप्टर, सरकार ने दी खरीदने की...

नई दिल्ली: रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को एक बड़ा फैसला लिया. मंत्रालय ने भारतीय सेना के लिए...

क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?
क्या है अमेरिकी राजदूत के हिंदू धर्म परिवर्तन कराने का वायरल सच?

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से एक विदेशी महिला की चर्चा चल रही है.  वायरल वीडियों...

भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश
भागलपुर घोटाला: सीएम नीतीश कुमार ने दिए CBI जांच के आदेश

पटना/भागलपुर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भागलपुर जिला में सरकारी खाते से पैसे की अवैध...

हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम: पाकिस्तान
हिजबुल मुजाहिदीन को विदेशी आतंकी संगठन करार देना अमेरिका का नाजायज कदम:...

इस्लामाबाद: आतंकी सैयद सलाहुद्दीन को इंटरनेशनल आतंकी घोषित करने के बाद अमेरिका ने कश्मीर में...

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017