यहां राशन की दुकानें बन जाएंगी बिग बाजार?

By: | Last Updated: Thursday, 20 August 2015 2:59 PM
Future Group to manage ration shops in Rajasthan

नई दिल्ली: राजस्थान में नई शुरूआत हुई है. ये शुरूआत राशन की दुकानों में गेंहू-चीनी-चावल के अलावा दूसरे सामान बेचे जाने की है. यहां कई ब्रांड और कई तरह के सामान गांव-कस्बों में अब राशन की दुकानों में मिलेंगे. 5000 दुकानों तक इन सामानों को पहुंचाने का बिग बाजार चलाने वाले फ्यूचर ग्रुप ने जिम्मा उठाया है.

 

अब तक राशन की दुकानों में चीनी, चावल और गेंहूं बिकता था लेकिन अब राजस्थान की 5000 दुकानों में बिकेगें 250 प्रोडक्ट. अब तक राशन की दुकानें सिर्फ सरकारी दुकानें थीं लेकिन अब राशन की दुकानें बन जाएंगी बिग बाजार का शोरूम.

 

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की मौजूदगी में फ्यूचर ग्रुप के साथ इस बारे में करार किया गया है. राजस्थान के प्रमुख खाद्य सचिव सुबोध अग्रवाल और फ्यूचर ग्रुप के सी ई ओ किशोर बियानी ने इस करार पर हस्ताक्षर किये.

 

इस योजना के तहत अगले छह महीनो में राशन की पांच हज़ार दुकानों पर लोगों को अलग-अलग कम्पनीयों के प्रोडक्ट मिल सकेंगे. जिसमें दाल से लेकर मसाले और बिस्कुट से लेकर टाफी तक शामिल होगी. दावा है कि ये सारे सामान बाज़ार से कम मूल्य पर मिल सकेंगे.

 

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस मौके पर उम्मीद जताई कि इसका लाभ राज्य की ग्रामीण और छोटे कस्बे की आबादी को मिल सकेगा.

 

इस करार के बाद फ्यूचर ग्रुप सभी पांच हज़ार राशन की दुकानों को नए सिरे से तैयार करेगा. जिसमें 24 घंटे लाइट, फर्नीचर तक शामिल होगा यानी दुकानों को चमकाने की जिम्मेदारी फ्यूचर ग्रूप की होगी. इसके बाद इन राशन की दुकानें बन जाएंगी अन्नपूर्णा भंडार.

 

इस करार से पहले फ्यूचर ग्रुप ने राशन की कुछ दुकानो को मॉडल शॉप्स के रूप में विकसित किया है. ऐसा ही एक अन्नपूर्णा भंडार जयपुर के शिवाजी नगर में शुरू किया गया है.

 

इस तरह की छोटी मल्टी ब्रांड दुकानो पर दाल-चावल-नमक-बेसन- आटा -तेल-घी और मसाले जैसी चीज़ें बाज़ार दर से कम कीमत पर मिलने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को भी अच्छी क़्वालिटी की वस्तुऐं मिल सकेंगी.

 

वैसे फ्यूचर ग्रुप का दावा है कि इससे सबसे बड़ा फायदा उन दुकानदारों को होगा जिनकी दुकानें सिर्फ कुछ वक्त के लिए खुलती थीं. अब पूरा महीना वो दुकान चला पाएंगे.

 

फ्यूचर ग्रुप के लिए ये बड़े कारोबार की नई शुरूआत की तरह है. राजस्थान में ही करीब 29000 राशन की दुकानें हैं जिसमें सिर्फ 5000 दुकानों में उसे सामान स्पलाई करने की इजाजत मिली है. फ्यूचर ग्रुप की नजर देश भर की राशन की दुकानों पर है.

 

कुछ वक्त पहले ऑन लाइन सेलिंग की शुरूआत भी फ्यूचर ग्रूप ने राजस्थान से की थीं जिसमें ग्राहक को घर बैठे ऑर्डर करने की सुविधा थी. 5000 गांव और कस्बों तक पहुंच बना कर फ्यूचर ग्रुप ने इस तरफ भी कदम बढ़ा दिए हैँ.

 

हालांकि राजस्थान सरकार के खजाने में इससे सीधे-सीधे कोई फर्क नहीं पड़ने जा रहा है. इन दुकानों पर राजस्थान सरकार पहले की तरह की सस्ता राशन सप्लाई करती रहेगी. पर राजस्थान सरकार को उम्मीद है कि इस स्कीम के जरिए वो गांव कस्बों तक अच्छा सामान पहुंचा पाएगी.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Future Group to manage ration shops in Rajasthan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017