4 महीने में करीब 10 लाख 37 हजार लोगों ने छोड़ी गैस सब्सिडी

By: | Last Updated: Monday, 13 July 2015 3:00 PM
gas subsidy

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सक्षम लोगों से गैस सब्सिडी छोड़ने की जो अपील की थी उसका असर दिखने लगा है. 4 महीने में 10 लाख 37 हजार लोगों ने गरीबों की खातिर अपनी गैस सब्सिडी छोड़ दी. सब्सिडी छोड़ने वालों की लंबी कतार लगने लगी है. आखिर कौन ऐसे लोग हैं जो अपनी सब्सिडी छोड़ने के लिए तैयार हुए?

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी साल 27 अप्रैल को एक अपील की थी. प्रधानमंत्री की अपील उन लोगों से थी जो सक्षम होने के बाद भी एलपीजी सिलिंडर पर सब्सिडी लेते हैं.

 

प्रधानमंत्री की इस अपील के बाद शुरू हुआ गैस सब्सिडी छोड़ने का गिव इट अप कैंपेन- यानी कि अगर आपके पास सामर्थ्य है, आपके पास पैसा है तो गैस पर अपनी सब्सिडी छोड़िए और गरीबों को गैस जलाने का मौका दीजिए.

 

प्रधानमंत्री की अपील का असर अब दिखने लगा है. 4 महीने में करीब 10 लाख 37 हजार उपभोक्ताओं ने अपनी एलपीजी सब्सिडी छोड़ दी है. एक अनुमान के मुताबिक इससे सरकार की करीब 468 करोड़ रुपये सब्सिडी बची है. अगर सब्सिडी छोडने वालों की यही रफ्तार रही तो पेट्रोलियम मंत्रालय ने एक करोड़ सब्सिडी छोड़ने वालों का जो लक्ष्य हासिल किया जा सकता है.   

गिव इट अप मुहिम की खास बात ये रही है की इसके साथ हर खास और आम जुड़ रहा है. बड़े-बड़े कारोबारी घराने जैसे रिलायंस, टाटा ने अपने कर्मचारियों से सब्सिडी छोड़ने की अपील की.

 

प्रधानमंत्री की अपील का ये असर है कि फिल्म अभिनेता रणबीर कपूर, लता मंगेशकर, कमल हासन, फिल्मकार मणि रत्नम, गायक येसू दास और जाने-माने कारोबारी अनिल अंबानी सहित बड़ी संख्या में जाने-माने लोगों ने सब्सिडी छोड़ दी है. 

 

एलपीजी सब्सिडी छोड़ने की मुहिम में सबसे आगे है उत्तर प्रदेश. यूपी में 2 लाख से ज़्यादा लोगों ने एलपीजी सब्सिडी छोड़ दी है. महाराष्ट्र दूसरे पायदान पर है जहां 1 लाख 30 हज़ार से ज़्यादा लोगों ने सब्सिडी को अलविदा कहा है. राजधानी दिल्ली तीसरे नंबर पर है जहां 1 लाख से ज़्यादा लोगों ने सब्सिडी को गुड बाय कह दिया है.

 

सब्सिडी छोड़ने की रेस (6 जुलाई तक के आंकड़े)

1. उत्तर प्रदेश         202529

2. महाराष्ट्र             137223

3. दिल्ली               106820

 

कर्नाटक में 6 जुलाई तक 67441 लोगों ने सब्सिडी छोडी़ जबकि तमिलनाडू में 64 हजार 213 लोगों ने सब्सिडी छोड़ी

बिहार में 38 हजार 37, पश्चिम बंगाल में 32 हजार 697, हरियाणा में 32 हजार 361, राजस्थान 29 हजार 337 और गुजरात में 26 हजार लोगों ने गैस पर सब्सिडी छोड़ दी.

 

4. कर्नाटक             67441

5. तमिलनाडू          64213

6. बिहार                38037

7. पश्चिम बंगाल       32697

8. हरयाणा              32361

9. राजस्थान            29337

10. गुजरात            26476

 

पेट्रोलियम मंत्रालय की इस मुहिम के साथ आम लोग तो जुड़े ही हैं. नेताओं ने भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है. देश भर में 250 से ज़्यादा सांसद और विधायक भी एलपीजी सब्सिडी को अलविदा कह चुके हैं. ऐसे ही एक सांसद हैं भारतेन्द्र सिंह. भारतेन्द्र सिंह यूपी के बिजनौर से सांसद हैं.

 

सब्सिडी छोड़ने की मुहिम को लेकर पेट्रोलियम मंत्रालय और सरकारी तेल कंपनियों की तरफ से काफी प्रचार किया जा रहा है. देश भर में तमाम पेट्रोल पम्प पर बड़े बड़े होर्डिंग और स्टाल्स लगाये जा रहे हैं.

 

अगर आप भी अपनी एलपीजी सब्सिडी छोड़ना चाहते हैं तो प्रक्रिया बेहद आसान है. आप वेबसाइट पर जाकर सब्सिडी छोड़ सकते हैं या फिर एसएमएस के जरिये भी सब्सिडी को ना कह सकते हैं. इसके अलावा एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटर के यहां जाकर फॉर्म भर सकते हैं या फिर डिलिवरी बॉय से घर पर फॉर्म मंगवाकर उसको भरकर दे सकते हैं.

 

देश भर में करीब 15 करोड़ उपभोक्ता गैस सिलिंडर का इस्तेमाल करते हैं जबकि देश में इनकम टैक्स देने वाले लोगों की संख्या करीब साढे तीन करोड़ हैं. इसके बाद भी सरकार ने सब्सिडी छोड़ने वाले एक करोड़ लोगों का लक्ष्य रखा है. देखना है सरकार का ये लक्ष्य कब पूरा होता है.  

 

सब्सिडी छोड़ना बेहद आसान, कैसे छोड़ेगे गैस सब्सिडी?

पहला तरीका….इनमें से किसी भी वेबसाइट पर जाकर लॉग ऑन करें.

mylpg.in

giveitup.in

ebharatgas.com

indane.co.in

hpgas.com

इसके बाद अपना कन्ज्यूमर नंबर या 17 अंकों का गैस पासबुक पर लिखा नंबर या फिर आधार नंबर डालें और गिव अप सब्सिडी पर क्लिक कर दें.

 

दूसरा तरीका- ये तरीका सबसे आसान है. आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से सिर्फ एक एसएमएस भेजना है.

For Bharat Gas: GIVEITUP to 7738299899

For HP Gas: GIVEITUP to 9766899899 For Indane: GIVEITUP to 8130792899

 

तीसरा तरीका- अपने डिस्ट्रीब्यूटर के यहां जाकर सब्सिडी छोड़ने का फॉर्म भर सकते हैं. सिर्फ कन्ज्यूमर नंबर भरना है और साइन करना है. अगर चाहें तो डिलिवरी बॉय से फॉर्म घर पर मंगवा सकते हैं और भरकर उसे ही दे सकते हैं.

 

वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें-

 

आप भी छोड़ेंग अपनी सब्सिडी? 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: gas subsidy
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Gas subsidy PM Modi PM Narendra Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017