Ghoshanapatra

Ghoshanapatra

By: | Updated: 23 Jan 2015 02:39 PM

नई दिल्ली: एबीपी न्यूज़ के खास शो घोषणापत्र में बीजेपी के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय का कहना है कि चूंकि दिल्ली में चुनावी लड़ाई गोरिल्ला अंदाज़ है इसलिए पार्टी ने रणनीति के तहत किरन बेदी को लाने का फैसला किया.

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा, "1988 में किरन बेदी ने जो किया... उसका जवाब मैं नहीं दे सकता... दूसरी बात अगर उन्होंने 1988 में गलती की थी तो उसका जवाब भी किरन बेदी ही देंगी."

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा, "रणनीति के तहत और हमारी पार्टी के आकर्षण के कारण हमारी पार्टी में बाहर से लोग आए हैं."

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा, बीजेपी सत्ता में आई तो

1. 24 घंटे बिजली मिलेगी

2. 24 घंटे पानी मिले, रेणुका डैम का काम शुरू हो

3. शिक्षा पर ज़ोर दिया जाएगा

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा,  "नौकरशाही पर अविश्वासत करने की बात केजरीवाल ने फैलाई... किरन बेदी अनुशासन की बात कर रही हैं."

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा, "मोदी की दिल्ली रैली में जनसैलाब उमड़ा था. बल्कि 1977 के बाद ये पहली बड़ी रैली थी.... परसेप्शन ग़लत गया."

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा, "किरन बेदी ने कभी धरना प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लिया.... धरना देने का काम केजरीवाल का है... उन्होंने तो गणतंत्र दिवस के मौके पर भी धरना शुरू कर रखा था."

 

सतीश उपाध्याय  ने कहा, "पार्टी ने चुनाव लड़ने से मना नहीं किया... बल्कि मेरा खुद का फैसला था कि मैं चुनाव नहीं लड़ू... बल्कि लड़ाऊं... पार्टी ने महरौली और मालवीयनगर से चुनाव लड़ने का ऑफर दिया था... लेकिन मैंने मना कर दिया."

 

सतीश उपाध्याय का कहना है कि केजरीवाल ने उनपर बेबुनियाद आरोप लगाए हैं. उनके पास सारे सबूत हैं. 

 

बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय का कहना है कि किरन बेदी को लाने में उनका और  पार्टी की सहमति थी. किसी को पछतावा नहीं है.  विजय गोयल और जगदीश मुखी जैसे नेता की भी सहमति थी.

घोषणापत्र में बीजेपी दिल्ली के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय  

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story एबीपी न्यूज़ पर दिन भर की बड़ी खबरें