‘जब हेमा को फोर्टिस अस्पताल ले जाया जा रहा था तब मेरी बेटी ने अपनी मां की गोद में दम तोड़ दिया’

By: | Last Updated: Saturday, 4 July 2015 3:35 AM

जयपुर: जयपुर में बीती रात हुए हादसे का शिकार हुई चार वर्षीय सोनम के पिता ने कहा कि यदि उनकी बेटी को भी हेमा मालिनी के साथ अस्पताल ले जाया जाता तो उसकी भी जान बच सकती थी.

 

सोनम के घायल पिता का यहां के एसएमएस अस्पताल में इलाज चल रहा है. बच्ची की मां अभी भी अपनी बेटी की मौत की खबर से अनजान है. सोनम के पिता ने कहा, ‘‘मेरी छोटी सी बच्ची ने अपनी मां की गोद में ही दम तोड़ दिया. यह भी दुखद है कि उसकी मां भी एसएमएस अस्पताल के पॉलीट्रॉमा वार्ड में जीवन के लिए संघर्ष कर रही है और उसे यह पता भी नहीं है कि सोनम अब जिंदा नहीं रही.’’

 

हनुमान ने दावा किया कि करीब 20-25 मिनट तक उनके परिवार के पांचों सदस्य दुर्घटनाग्रस्त कार में सड़क पर खून से लथपथ पड़े थे जबकि एक डॉक्टर हेमा मालिनी और अन्य को अपनी कार में जयपुर के फोर्टिस अस्पताल ले गए. उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘हम सभी को दौसा पुलिस साथ ले गई और जिस अस्पताल में हमें ले जाया गया उसकी हालत खराब थी जहां हमारी चोटों का इलाज संभव नहीं था.’’

 

उन्होंने कहा कि बच्ची की मां को होश आ गया है लेकिन उसे बेटी की मौत के बारे में नहीं बताया गया. महाजन की पत्नी शिखा, उसकी भाभी सीमा का पॉलीट्रॉमा वार्ड में उपचार चल रहा है जबकि उनका बेटा सोमिल गंभीर हालत में आईसीयू में भर्ती है. सोनम के चाचा शिरीष गुप्ता ने आरोप लगाया, ‘‘घटना के बाद एक डॉक्टर ने हेमा मालिनी को तुरंत दौसा के अस्पताल पहुंचा दिया. बाद में वह उन्हें फोर्टिस अस्पताल ले गए जबकि सोनम मौके पर करीब 15-20 मिनट तक पड़ी रही. किसी ने उसकी सुध नहीं ली.’’

 

गुप्ता ने कहा, ‘‘यदि उसे (सोनम) भी हेमा मालिनी के साथ अस्पताल ले जाया जाता तो उसकी जान बच जाती.’’ परिवार के रिश्तेदारों ने स्पष्ट रूप से कहा कि वे इलाज का खर्च वहन करने में सक्षम हैं और उन्हें सरकार से किसी मुआवजे की उम्मीद नहीं है. उन्होंने कहा कि मीडिया केवल अभिनेत्री के जख्मों पर ध्यान दे रहा था जबकि कोई भी हमारे पास नहीं आया.

 

नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक संबंधी ने बताया, ‘‘अभिनेत्री की कार गलत दिशा में चल रही थी और इसी कारण हादसा हुआ. यदि घायल पांचों व्यक्तियों को किसी निजी अस्पताल में भर्ती कराया जाता तो उनकी हालत अब बेहतर होती.’’

 

महाजन ने हेमा की कार चला रहे रमेश चंद ठाकुर के खिलाफ दौसा के कोतवाली पुलिस थाना में शिकायत दर्ज कराई है. यहां से 60 किलोमीटर दूर दौसा में दोनों की कार हादसे का शिकार हो गई थीं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘Girl could’ve been saved if taken to hospital with Hema’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Hema Malini
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017