बुरी खबर: देश में पड़ेगा सूखा ?

By: | Last Updated: Tuesday, 2 June 2015 12:05 PM
Government downgrades monsoon forecast

नई दिल्ली: इस साल खेती के लिए बुरी खबर है. केंद्र सरकार ने कहा है कि इस साल बारिश कम होगी. सरकार के मौसम विभाग अनुमान के मुताबिक इस साल 88 फीसदी ही बारिश होगी.

 

केरल में मानसून को 30-31 मई तक ही पहुंचना था, लेकिन अब यहां मानसून के 5 जून तक पहुंचने की उम्मीद है. फिलहाल मानसून श्रीलंका में है. भू-विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन ने कहा है कि इस साल 88 फीसदी बारिश ही होगी. मतलब सामान्य से बेहद कम बारिश होगी. कम बारिश होने का असर सीधा खेती पर पड़ेगा, खाद्यान्न उत्पादन पर असर पड़ेगा. आरबीआई ने भी कमजोर मानसून की आशंका जताते हुए महंगाई बढने की आशंका जताई है. 

कम बारिश हुई तो क्या होगा? 

भू विज्ञान मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि मानसून से जुड़े सारे हालात की जानकारी पीएम को है और उन्होंने सभी मंत्रालय को जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं.

 

भीषण गर्मी से जूझ रहे देश का इस बार सूखे से सामना हो सकता है. क्योंकि सरकार ने मानसून का जो पूर्वानुमान दिया है. उसने किसान से लेकर उद्योग जगत को डरा दिया है.

 

देश में पड़ेगा सूखा ?

 

22 अप्रैल को सरकार ने 93 फीसदी बारिश का अनुमान जताया था. जो पहले ही सामान्य से कम था. अब ताजा आंकड़ा पहले के अनुमान से भी 5 फीसदी नीचे है. सरकार ने बारिश का अनुमान घटाकर 88 फीसदी कर दिया है. इसमें 4 फीसदी कम या ज्यादा हो सकता है.

 

दरअसल 96 से 104 फीसदी के बीच बारिश सामान्य कहलाती है. 90 से 96 फीसदी बारिश सामान्य से कम कही जाती है. और 90 फीसदी से कम बारिश का सीधा मतलब सूखा पड़ने की आशंका है. ताजा अनुमान इसी श्रेणी में है. सरकार से उलट मौसम की जानकारी देने वाली निजी संस्थान स्काईमेट देश में सामान्य मानसून का दावा कर रही है.

 

स्काईमेट के मुताबिक देश में इस साल 102 फीसदी बारिश का अनुमान है. जो शुरूआती दौर में कमजोर रहेगा लेकिन जुलाई में अच्छी रफ्तार पकड़ लेगा.

 

अगर सरकार का अनुमान सच साबित होता है. देश के लिए संकट बहुत बड़ा हो सकता है. देश में मानसून सीधे-सीधे अर्थव्यवस्था से जुड़ा हुआ है. यही वजह है कि कम बारिश की आशंका ने शेयर बाजार को भी डरा दिया है.

 

मंगलवार को सेंसेक्स 661 अंक गिरकर 27,188 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 197 अंक फिसलकर 8236 पर बंद हुआ. कम बारिश की आशंका के बावजूद मौसम विशेषज्ञों को एक उम्मीद की किरण दिख रही है.

 

हालांकि सरकार दावा कर रही है कि कम बारिश से निपटने के लिए वो तैयार है. खुद प्रधानमंत्री मोदी इससे निपटने के निर्देश संबंधित मंत्रालयों को दे चुके हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Government downgrades monsoon forecast
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ????????? government
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017