जेएनयू समेत सभी मुद्दों पर चर्चा को तैयार है सरकार - वेंकैया नायडू

By: | Last Updated: Monday, 22 February 2016 9:55 AM
government is ready to discuss jnu issue says venkaiah-naidu

रायपुर: संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने आगामी बजट सत्र के सुचारू रूप से चलने पर भरोसा जताया है तथा कहा है कि सरकार जेएनयू मामले समेत सभी विषयों पर चर्चा कराने के लिए तैयार है. नायडू ने कल संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा कि संसद का बजट सत्र आने वाला है. इस सत्र में कई महत्वपूर्ण विधेयकों को लाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि इससे पहले दो सत्रों में काम नहीं हो पाया है. विपक्षी दलों ने सदन को चलने नहीं दिया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों सदन ठीक तरीके से चले इसके लिए राजनीतिक दलों से बैठक में विचार विमर्श किया था. वहीं इससे पहले जीएसटी बिल को लेकर प्रधानमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ भी बातचीत की थी. साथ ही अन्य महत्वपूर्ण नेताओं से भी बातचीत की गई है.

नायडू ने कहा कि कई ऐसे महत्वपूर्ण विधेयक हैं जो देश के लिए जरूरी है. सरकार कोशिश करेगी कि आगामी बजट सत्र में सभी महत्वपूर्ण बिल पास हो. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार ने विपक्ष से अनुरोध किया है कि बजट सत्र ठीक तरीके से चले तथा सभी विधेयक पारित हो. वहीं जिसे जिस विषय पर आपत्ति है तब वह सदन में अपनी बात रख सकते हैं. लोकतंत्र में विरोध होना स्वाभाविक है. लेकिन लंबे समय तक सदन को चलने नहीं देने से सदन को हानि होगी.

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों हुई बैठकों में सभी पार्टियों के नेताओं के साथ हुई बातचीत के आधार पर ऐसी उम्मीद है कि सभी दल चाहते हैं कि सदन सुचारू रूप से चले. नायडू ने कहा कि कुछ मामलों को लेकर ऐसी अटकलें लगाई जा रही है कि सदन में गतिरोध होगा तथा सदन नहीं चलेगा. लेकिन ऐसा नहीं है तथा पूर्ण विश्वास है कि सदन ठीक तरीके से चलेगा.

संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि यह सही है कि कुछ पार्टी ने नेता जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय मामले को सदन में उठाना चाहते हैं और स्वयं भाजपा के सांसद भी इस मुद्दे पर चर्चा चाहते है. जेएनयू में जो भी हुआ वह गंभीर मामला है. देश की एकता और अखंडता से जुड़ा मामला है. इस मामले में चर्चा भी होना चाहिए जांच भी होना चाहिए. सरकार को किसी भी विषय में चर्चा कराने से कोई परेशानी नहीं है. जेएनयू मामले में कांग्रेस की भूमिका लेकर नायडू ने कहा कि मुख्यधारा में काम करने वाली राजनीतिक पार्टियों को ऐसी घटनाओं का समर्थन करना गलत है. वहीं यदि बाहर के लोगों ने आकर विश्वविद्यालय में देश विरोधी नारे लगाए हैं तब छात्रों और विश्ववि़द्यालय को बताना चाहिए कि बाहर के लोगों ने ऐसा कैसे किया और किसने किया.

उन्होंने कहा कि अकादमिक संस्थाओं को शिक्षा के लिए छोड़ देना चाहिए. ऐसे संस्थान किसी का पक्ष या किसी का विरोध या विभिन्न आपत्तिजनक उत्सव मानने के लिए नहीं है.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जेएनयू को बंद करने का सवाल ही नहीं है. जेएनयू चलेगा और ठीक तरीके से चलेगा. देश की एकता और अखंडता से जूड़े मामलों में राजनीति करना ठीक नहीं है. कांग्रेस जैसी अनुभवी और पुरानी पार्टी को एसी घटनाओं में ऐसा व्यवहार करना उचित नहीं है.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि भाजपा पर आरोप लगाया जा रहा है कि भाजपा राष्ट्रभक्त होने का प्रमाणपत्र बांट रही है. लेकिन पार्टी प्रमाणपत्र नहीं बांट रही है केवल यह कहा जा रहा है कि जेएनयू में जो नारे लगे हैं वह देशद्रोही नारे थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: government is ready to discuss jnu issue says venkaiah-naidu
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017