ई-रिक्शा पर मोदी सरकार का यू टर्न, हाईकोर्ट को दिए हलफनामे में सरकार ने कहा- मोटर कानून के दायरे में आएंगे

By: | Last Updated: Friday, 8 August 2014 8:03 AM

नई दिल्ली: ई-रिक्शा पर अब मोदी सरकार ने सुर बदल लिए हैं. ई-रिक्शा को मोटर व्हीकल कानून के तहत लाया जाएगा. सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट में हलफनामा दिया है जिसके मुताबिक ई रिक्शा चलाने के लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत होगी.

 

ई-रिक्शा चलाने वाले के पास ड्राइविंग लाइसेंस होना चाहिए और इनकी रफ्तार पच्चीस किलोमीटर प्रति घंटा से ज्यादा नहीं होगी. यही नहीं ई रिक्शा चलाने वालों को इंश्योरेंस भी कराना पड़ेगा.

 

ई-रिक्शा पर चार से ज्यादा लोग सफर नहीं कर सकेंगे. इसके अलावा ज्यादा से ज्यादा पचास किलो वजन का सामान ही इस पर ले जाया जा सकेगा. दिल्ली में ई-रिक्शा पर हाईकोर्ट से बैन लगने के बाद ई-रिक्शा चालकों का प्रदर्शन लगातार जारी है.

 

रोहिणी में ई-रिक्शा चालकों ने जूते पॉलिश कर अपना विरोध जाहिर किया. आम आदमी पार्टी के रोहिणी से विधायक राजेश गर्ग भी ई-रिक्शा चालकों के प्रदर्शन में शामिल हुए. उन्होंने भी जूते पॉलिश किए.

 

दिल्ली में चलते रहेंगे ई-रिक्शा, नहीं होगी लाइसेंस की जरूरत  

 

हाईकोर्ट की रोक-

दिल्ली में ई रिक्शा पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी थी. हाईकोर्ट ने कहा था कि ई रिक्शा लोगों के लिए परेशानी का सबब बन रहे हैं. हाईकोर्ट ने सरकार और पुलिस को तुरंत ई-रिक्शा पर रोक लगाने को कहा था.

 

हाईकोर्ट ने कहा था कि ई-रिक्शा बिना कायदे कानून के सड़क पर चल रहे हैं. अभी हाल ही में परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने ई रिक्शा को लेकर छूट देने की बात कही थी. हाईकोर्ट ने ये फैसला त्रिलोकपुरी में बच्चे के कढ़ाही में गिरने की घटना का भी संज्ञान लेते हुए सुनाया था. पूरी खबर यहां पढ़ें: खौलती कड़ाही में गिरा बच्चा, मौत

 

हाईकोर्ट ने यह फैसला सुग्रीव दुबे की जनहित याचिका पर फैसला देते हुए सुनाया था.

 

 

गडकरी ने क्या राहत दी थी-

17 जून को दिल्ली के रामलीला मैदान की रैली में गडकरी ने ई-रिक्शा को लेकर बड़ा एलान किया था. गडकरी ने दीन दयाल योजना के तहत ई-रिक्शा खरीदने के लिए तीन फीसदी के ब्याज पर लोन की बात कही थी.

यही नहीं सड़क परिवहन मंत्री ने ये भी कहा कि अब 650 वॉट की बैटरी वाले ई-रिक्शा सड़क पर चल सकते हैं. इसके लिए लाइसेंस की जरूरत भी नहीं होगी.
 

1988 के मोटर व्हीकल एक्ट के मुताबिक सिर्फ 250 वॉट की बैटरी से चलने वाले रिक्शा ही बिना लाइसेंस के सड़क पर चल सकते हैं. ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट औऱ पुलिस इनका चालान नहीं कर सकता है.