EPF टैक्स का फैसला वापस लेगी सरकार?

By: | Last Updated: Wednesday, 25 January 2017 11:12 AM
Govt considering partial rollback demands on proposed EPF tax

नई दिल्ली: चौतरफा आलोचनाओं के बीच फंसी सरकार ने ईपीएफ (भविष्य निधि) पर टैक्स लगाने के बजट प्रस्ताव को आंशिक रूप से वापस लेने पर विचार कर सकती हैं.

वित्त वर्ष 2016-17 के बजट में एक अप्रैल के बाद भविष्य निधि में किये जाने वाले अंशदान में से निकासी के समय कर्मचारियों के योगदान के 60 प्रतिशत पर कर लगाये जाने के प्रस्ताव के एक दिन बाद विभिन्न तबकों की आलोचनाओं के बीच सरकार ने जोर देकर कहा कि इस कदम का मकसद उच्च वेतन पाने वाले लोग हैं और 3.7 करोड़ ईपीएफ सदस्यों में इनकी संख्या बहुत ज्यादा नहीं है.

इस संदर्भ में एक-दो स्पष्टीकरण आयें. इसमें से एक में कहा गया है कि सरकार केवल ब्याज पर कर लगाएगी और मूल राशि के निकासी पर नहीं. बाद में एक प्रेस नोट जारी कर कहा गया कि वह केवल संचयी ब्याज पर कर लगाने की मांग पर विचार कर रही है.

वित्त राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने बाद में संवाददाताओं से कहा, ‘‘सरकार इस मुद्दे पर विचार कर रही है.’’ उन्होंने कहा कि जिन लोगों का वेतन सांविधिक सीमा 15,000 रपये मासिक से कम है, उन पर इसका असर नहीं पड़ेगा.

सिन्हा ने कहा, ‘‘चूंकि कई लोगों ने इसको लेकर विरोध जताया है, हम इस पर गौर कर रहे हैं. निर्णय का इंतजार कीजिए.’’ राजस्व सचिव हसमुख अधिया ने भी कहा कि इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय से पहले केवल ब्याज पर कर लगाने की मांग पर विचार किया जाएगा.

इससे पहले, दिन में अधिया ने कहा था कि ईपीएफ (कर्मचारी भविष्य निधि) में एक अप्रैल 2016 के बाद के योगदान पर मिलने वाले ब्याज के 60 प्रतिशत पर ही कर लगेगा और निकासी के समय मूल राशि पर कोई कर नहीं लगेगा.

वित्त मंत्रालय के बयान के अनुसार नये कर प्रस्ताव का मकसद केवल उच्च वेतन पाने वालों पर कर लगाना है और इनकी संख्या कर्मचारी भविष्य निधि के कुल 3.7 करोड़ अंशधारकों में से केवल 70 लाख है. करीब 3.0 करोड़ व्यक्तियों की सांविधिक वेतन सीमा 15,000 रपये प्रति महीने के दायरे में आती हैं, अत: प्रस्तावित बदलाव से उन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कल 2016-17 का बजट पेश करते हुए कहा कि इस साल एक अप्रैल के बाद भविष्य निधि में किये जाने वाले अंशदान में से निकासी के समय कर्मचारियों के योगदान के 60 प्रतिशत पर कर लागू होगा. यह प्रावधान सेवानिवृत्ति कोषों तथा ईपीएफ जैसे मान्यता प्राप्त भविष्य निधि कोषों पर लागू होगा.

उन्होंने मान्यता प्राप्त पीएफ तथा सेवानिवृत्ति कोष में कर लाभ के लिए नियोक्ताओं के अंशदान पर सालाना 1.5 लाख रपये की मौद्रिक सीमा लगाने का भी प्रस्ताव किया है. इस प्रस्ताव का आरएसएस समर्थित बीएमएस समेत विभिन्न कर्मचारी संगठनों तथा राजनीति दलों ने तीखी आलोचना की है और इसे कामकाजी वर्ग पर एक हमला कहा और इसे दोहरा कराधान का स्पष्ट मामला बताा.

मंत्रालय ने कहा कि हमें विभिन्न तबकों से सुझाव मिला है, जिसमें कहा गया है कि अगर कोष का 60 प्रतिशत सेवानिवृत्ति उत्पादों में निवेश नहीं किया जाता है तो कर केवल संचयी रिटर्न पर लगाया जाना चाहिए और न कि अंशदान की राशि पर.’’
वित्त मंत्रालय के बयान के अनुसार, ‘‘हमें यह भी सुझाव मिले हैं कि ईपीएफ के तहत नियोक्ताओं के योगदान पर कोई मौद्रिक सीमा नहीं लगायी जानी चाहिए क्योंकि एनपीएस में ऐसी कोई सीमा नहीं है. वित्त मंत्री इन सभी सुझावों पर विचार करेंगे और इस पर उपयुक्त समय में निर्णय करेंगे.’’

मंत्रालय ने कहा कि इस सुधार का मकसद कर व्यवस्था में बदलाव लाना है ताकि निजी क्षेत्र के ज्यादा-से-ज्यादा कर्मचारी सेवानिवृत्ति के बाद भविष्य निधि से पूरी राशि निकालने के बजाए पेंशन सुरक्षा की ओर अग्रसर हों. इसके लिये सरकार ने घोषणा की है कि सेवानिवृत्ति के समय कुल कोष में से 40 प्रतिशत निकासी पर कोई कर नहीं लगेगा और यह मान्यता प्राप्त भविष्य निधि तथा एनपीएस दोनों पर लागू होगा.

Budget 2017 News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Govt considering partial rollback demands on proposed EPF tax
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Budget 2016 EPF tax
First Published:

Related Stories

तमिलनाडु सरकार ने पेश किया 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का बजट
तमिलनाडु सरकार ने पेश किया 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का बजट

चेन्नई: तमिलनाडु सरकार ने आज फाइनेंशियल ईयर 2017-18 के लिए करीब 16 हजार करोड़ रुपए के राजस्व घाटे का...

बजट के बाद वित्तमंत्री जेटली का Exclusive इंटरव्यू आज रात 9 बजे
बजट के बाद वित्तमंत्री जेटली का Exclusive इंटरव्यू आज रात 9 बजे

नई दिल्ली: वित्तमंत्री अरुण जेटली बजट के बाद एबीपी न्यूज़ से एक्सक्लुसिव बातचीत में कांग्रेस...

बजट 2017 में सीबीआई के लिए पैसे का आवंटन बढ़ाः कुल 8.31% की बढ़त हुई
बजट 2017 में सीबीआई के लिए पैसे का आवंटन बढ़ाः कुल 8.31% की बढ़त हुई

नई दिल्ली: बजट 2017-18 में देश की सबसे बड़ी जांच एजेंसी सीबीआई को जारी किए गए पैसे में भारी बढ़ोतरी...

आईटी रिटर्न तय समय पर नहीं किया दाखिल तो देना होगा जुर्माना
आईटी रिटर्न तय समय पर नहीं किया दाखिल तो देना होगा जुर्माना

नई दिल्ली: अगर आपने समय पर अपना इनकम टैक्स रिटर्न नही दाखिल किया तो परेशानी हो सकती है. नए आम बजट...

बजट 2017 सिर्फ एक पटाखा, किसानों, मजदूरों के लिए कुछ नहीं: पी चिदंबरम
बजट 2017 सिर्फ एक पटाखा, किसानों, मजदूरों के लिए कुछ नहीं: पी चिदंबरम

नई दिल्लीः कल देश के आम बजट 2017 के पेश होने के बाद जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर सभी...

यूनिवर्सल बेसिक इनकम और सब्सिडी एक साथ नहीं चल सकतेः वित्त मंत्री
यूनिवर्सल बेसिक इनकम और सब्सिडी एक साथ नहीं चल सकतेः वित्त मंत्री

नई दिल्लीः कल पेश हुए बजट 2017-18 में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यूनिवर्सल बेसिक इनकम का जिक्र तक...

देरी से इनकम टैक्स देने वालों पर लग सकती है 10 हजार तक पेनल्टी !
देरी से इनकम टैक्स देने वालों पर लग सकती है 10 हजार तक पेनल्टी !

नई दिल्लीः अगर आप कल बजट के ऐलान से खुश हो गए कि आपका टैक्स बचेगा तो कुछ ऐसी भी खबरें हैं जो जेब पर...

रेल बजट को आम बजट में मिलाने के ये बड़े नुकसान हुए जो नहीं जानते आप !
रेल बजट को आम बजट में मिलाने के ये बड़े नुकसान हुए जो नहीं जानते आप !

नई दिल्लीः कल देश के आम बजट में वित्त मंत्री ने रेल बजट के नाम पर जो चंद ऐलान किए उससे रेल बजट को...

Deatils: इनकम टैक्स में छूट से लेकर सस्ता-महंगा तक, जानें- मोदी सरकार के बजट से आपको क्या मिला
Deatils: इनकम टैक्स में छूट से लेकर सस्ता-महंगा तक, जानें- मोदी सरकार के बजट से...

नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा परेशान मिडिल क्लास को इस बार के बजट में बड़ी राहत दी गई है....

BUDGET 2017: 125 करोड़ भारतीयों में सिर्फ 76 लाख की सैलरी 5 लाख से ज्यादा !
BUDGET 2017: 125 करोड़ भारतीयों में सिर्फ 76 लाख की सैलरी 5 लाख से ज्यादा !

नई दिल्ली: 125 करोड़ भारतीयों के देश में 5 लाख से ज्यादा आय वाले सिर्फ 76 लाख लोग हैं. आपको ये आंकड़ा...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017