रोहिंग्या को शरणार्थी के रूप में देखे सरकार, ना कि मुसलमान के रूप में: ओवैसी

रोहिंग्या को शरणार्थी के रूप में देखे सरकार, ना कि मुसलमान के रूप में: ओवैसी

असदुद्दीन ओवैसी ने पूछा, ''‘‘ यदि बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन भारत में शरण ले सकती है तो रोहिंग्या मुसलमान क्यो नहीं.’’

By: | Updated: 15 Sep 2017 11:09 PM

हैदराबाद: पूरी दुनिया में रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर चर्चा हो रही है. इसी बीच ऑल इंडिया मजलिस-ए-इतेहादुल मुसलिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यदि तिब्बत, बांग्लादेश और श्रीलंका के शरणार्थी भारत में रह सकते है तो म्यांमार के रोहिंग्या मुस्लिम क्यों नहीं रह सकते. उन्होंने बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन का भी हवाला दिया. तसलीमा अपने देश में इस्लामी कट्टरपंथियों से धमकी मिलने के बाद अब एक दशक से अधिक समय तक भारत में शरण लिए हुए है.


म्यांमार के हिंसाग्रस्त रखाइन प्रांत से भागे रोहिंग्या पर रुख को लेकर एनडीए सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा ‘‘ अपना सब कुछ खो चुके उन लोगों को क्या वापस भेजना मानवता है. यह गलत है.’’ उन्होंने हैदराबाद में गुरुवार की देर रात लोगों को संबोधित करते हुए पूछा,‘‘ यदि बांग्लादेशी लेखिका तसलीमा नसरीन भारत में शरण ले सकती है तो रोहिंग्या मुसलमान क्यों नहीं.’’


हैदराबाद से लोकसभा सदस्य ओवैसी ने कहा ‘‘जब तसलीमा नसरीन आपकी बहन हो सकती हैं तो रोहिंग्या भी आपके भाई हो सकते हैं, मिस्टर मोदी.’’ उन्होंने कहा कि केन्द्र की बीजेपी सरकार को रोहिंग्या को शरणार्थी के रूप में देखना चाहिए न कि मुसलमान के रूप में.’’ ओवैसी ने कहा ‘‘ भारत ने तिब्बत, श्रीलंका और बंगलादेश के चकमा शरणार्थियों को शरण दी.’’


ओवैसी ने कहा ‘‘जब यह बताया गया कि वे (श्रीलंकाई शरणार्थी) आतंक में हिस्सा ले रहे हैं , क्या किया गया था? उन्हें एक शिविर से दूसरे शिविर में ट्रांस्फर कर दिया गया.’’ उन्होंने कहा कि भारत का संविधान सभी को समानता का अधिकार देता है और यह शरणार्थियों पर भी लागू होता है. ओवैसी ने कहा ‘‘बीजेपी सरकार कहती है कि हम राहिंग्या मुस्लिमों को वापस भेजेंगे. हम भारतीय प्रधानमंत्री से यह पूछना चाहते है कि किस कानून के तहत आप उन्हें वापस भेजेंगे.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story टमाटर की कीमतों में लगी आग, 80 से 100 रुपये प्रति किलो हुआ भाव