ग्रीनपीस कार्यकर्ता की गवाही भारतीय हितों के लिए हो सकती थी नुकसानदेह: सरकार

By: | Last Updated: Tuesday, 17 February 2015 3:03 AM

नई दिल्ली: केन्द्र ने आज दिल्ली हाई कोर्ट के समक्ष कहा कि ग्रीनपीस की कार्यकर्ता प्रिया पिल्लै को लंदन जाने वाली उनकी उड़ान से इसलिए जाने नहीं दिया गया था क्योंकि ब्रिटेन की एक संसदीय समिति के समक्ष उनका प्रस्तावित बयान भारतीय हितों के लिए नुकसानदेह हो सकता था.

 

केन्द्र ने यह भी कहा कि इस समिति की बैठक में उनके जाने से वैश्विक रूप से व्यापक प्रभाव पड़ता जिससे देश के द्वारा आदिवासियों के अधिकारों के संरक्षण के लिए किये जा रहे व्यापक प्रयासों की गलत छवि बनती. बैठक में उनके जाने से एक विदेशी राष्ट्र की विदेश नीति के हित सधते.

 

गृह मंत्रालय ने 13 फरवरी को हाई कोर्ट में दाखिल किये गये एक हलफनामे में यह बात कही है. यह हलफनामा हाई कोर्ट के निर्देश पर दिया गया है. पिल्लै को 11 जनवरी को यहां इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उनकी लंदन जाने वाली उड़ान से उतार लिया गया था. इसके विरूद्ध पिल्लै ने अदालत में एक याचिका दायर की है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ‘Greenpeace Activist’s Testimony to Leave us Open to Sanctions,’ Home Ministry told delhi high Court
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017