पटेल आंदोलन: हिंसा के बाद गुजरात में रात भर रही शांति, कई इलाकों में अभी कर्फ्यू लागू

By: | Last Updated: Thursday, 27 August 2015 1:59 AM
gujarat

अहमदाबाद/नई दिल्ली: गुजरात में पटेल समुदाय को अन्य पिछड़ा वर्ग के तहत आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन के दौरान हिंसा भड़कने के बाद हालात काबू में करने में मदद के लिए बुधवार को सेना बुला ली गयी. हिंसा में आठ लोग मारे जा चुके हैं और राज्य के कई बड़े शहरों और कस्बों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. राज्य के कुछ हिस्सों में छिटपुट हिंसा की खबरों के बीच सेना ने बुधवार शाम फ्लैग मार्च किए.

 

पुलिस ने कहा कि पटेल समुदाय की कल हुई बड़ी रैली के बाद भड़की हिंसा में राज्य में आठ लोग मारे जा चुके हैं.

 

पुलिस के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनता से शांति बनाये रखने की अपील के बावजूद पटेल समुदाय के सदस्यों ने आगजनी, पथराव किया और सरकारी तथा निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया.

 

इस बीच राज्य की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल ने इस बात से इनकार किया कि उनकी सरकार ने अहमदाबाद में एक रैली में प्रदर्शनकारियों पर लाठी भांजने का आदेश दिया था जिसके बाद हिंसक प्रदर्शन हुए.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने जीएमडीसी मैदान में लाठीचार्ज की घटना के मामले में जांच के आदेश दे दिये हैं. गुजरात के डीसीपी जांच कर रहे हैं. सरकार को रिपोर्ट का इंतजार है. सरकार ने कल लाठीचार्ज के लिए या अत्यधिक बल प्रयोग के लिए कोई आदेश नहीं दिया था.’’ अहमदाबाद, सूरत, मेहसाणा, राजकोट, जामनगर, पालनपुर, उंझा, विसनगर और पाटन शहरों में कफ्र्यू लगा दिया गया है.

 

अहमदाबाद के जिला कलेक्टर राजकुमार बेनीवाल ने कहा, ‘‘पटेल समुदाय के आंदोलन की वजह से हिंसा भड़कने के बाद कानून व्यवस्था को नियंत्रण में करने के लिए अहमदाबाद शहर में सेना की पांच कंपनियां बुलाई गयी हैं.’’ बेनीवाल ने कहा कि शहर के पांच मागोर् पर सेना फ्लैग-मार्च करेगी, जहां बड़ी संख्या में हिंसा की घटनाएं सामने आई हैं. अहमदाबाद के अलावा सूरत और मेहसाणा में सेना की दो-दो कंपनियां तैनात की गयी हैं.अर्धसैनिक बलों के भी करीब 5000 जवान गुजरात पहुंच गये हैं.

 

पुलिस ने बताया कि छह लोग पुलिस गोलीबारी में मारे गये, वहीं दो लोग मंगलवार रात से शुरू हुई हिंसा मारे गए हैं. चार मामले अहमदाबाद से, तीन मामले बनासकांठा जिले के गढ़ गांव से और एक मामला महेसाणा कस्बे से आया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजराती भाषा में दिए टेलीविजन संदेश में लोगों से शांति की अपील की और इस बात पर जोर दिया कि बातचीत से सभी मुद्दों को सुलझाया जा सकता है.

 

प्रधानमंत्री बनने से पहले 12 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे मोदी ने कहा, ‘‘महात्मा गांधी और सरदार पटेल की धरती पर किस तरह हिंसा का सहारा लिया जा रहा है…. मैं गुजरात के सभी भाइयों और बहनों से अपील करता हूं कि उन्हें हिंसा का रास्ता नहीं अपनाना चाहिए. केवल एक मंत्र होना चाहिए ‘शांति’.’’ केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज सुबह मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल से बात की और उन्हें हालात से निपटने में केंद्र की ओर से पूरी तरह सहायता का आश्वासन दिया.

 

इस बीच पटेल अनामत आंदोलन समिति के नेता 22 वर्षीय हार्दिक ने हिंसा के लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि आने वाले दिनों में आंदोलन और तेज होगा.

 

कल रात प्रदर्शनकारियों द्वारा हिंसा भड़काने के आरोपों को खारिज करते हुए हार्दिक ने पुलिस पर आरोप लगाया कि राजनीतिक तंत्र के इशारे पर आंदोलन को बाधित करने का प्रयास किया जा रहा है.

 

पटेल समुदाय को ओबीसी कोटे के तहत आरक्षण देने की मांग को लेकर आंदोलन तेज करने की चेतावनी देने वाले हार्दिक पटेल को कल रात हिरासत में लिये जाने के बाद भड़की हिंसा की आग गुजरात के कई हिस्सों में सुलगती रही.

 

हार्दिक द्वारा बंद के आह्वान के बाद आज कई जगहों पर सामान्य जनजीवन अस्तव्यस्त रहा और स्कूल, कॉलेज, व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे. बैंक और सार्वजनिक परिवहन के साधन भी बंद रहे. पुलिस ने कहा कि आंदोलनकारियों ने राज्य में कम से कम आठ स्थानों पर रेल पटरियों को उखाड़ दिया.

 

एक व्यक्ति अपराह्न में उत्तरी गुजरात के महेसाणा कस्बे के बाहरी क्षेत्र में मोधेरा चौराहे पर पथराव कर रही भीड़ पर गोलीबारी में मारा गया.

राजनाथ सिंह ने दिया CM आनंदीबेन पटेल को मदद का भरोसा 

पुलिस अधिकारी रतन सिंह ने कहा, ‘‘23 राउंड गोली चलाई गयीं. नीलेश पटेल नामक शख्स मारा गया.’’ पुलिस ने कहा कि पालनपुर कस्बे के पास गढ़ गांव में एक थाने में आग लगाने की कोशिश कर रही भीड़ पर पुलिस की गोलीबारी में तीन लोग मारे गये. बनासकांठा के जिला कलेक्टर दिलीप राणा ने कहा, ‘‘दोपहर करीब एक बजे उग्र भीड़ गढ़ थाने में घुस आई और उसे जलाने का प्रयास किया. स्थानीय पुलिसकर्मियों ने अपने बचाव के लिए कुछ राउंड गोलियां चलाईं जिसमें दो लोगों की मौत हो गयी. पालनपुर में किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए कफ्र्यू लगा दिया गया है.’’ एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार वस्त्रल इलाके में पुलिस गोलीबारी में दो लोगों की मौत हो गयी, वहीं शहर के घाटलोदिया इलाके में एक व्यक्ति का शव मिला.

 

उन्होंने कहा, ‘‘कल देर रात पुलिस गोलीबारी में 47 वर्षीय गिरीश पटेल और उनके बेटे सिद्धार्थ पटेल (20) की मौत हो गयी.’’ अधिकारी ने दावा किया, ‘‘घटना उस समय घटी जब भीड़ ने पुलिस से हथियार झपटने की कोशिश की. इन दोनों ने एक पुलिसकर्मी से राइफल छीनने की कोशिश की थी और इस दौरान झड़प में वे मारे गये.’’ पुलिस को घाटलोदिया में एक व्यक्ति का शव मिला जिसकी मृत्यु सिर में गंभीर चोट लगने से हुई थी. पुलिस के अनुसार समझा जाता है कि कल रात संघर्ष में उसकी बुरी तरह पिटाई की गयी.

पटेल आंदोलन से गुजरात में हिंसा, 13 साल बाद अहमदाबाद में कर्फ्यू  

सूरत में आज कई हिस्सों में आगजनी और पथराव की घटनाएं सामने आईं, जहां बड़ी संख्या में पटेल समुदाय के लोगों ने बंद कराया.

 

मुख्यमंत्री आनंदीबेन ने गुजरात की जनता के लिए जारी एक वीडियो संदेश में कहा, ‘‘गुजरात में अर्धसैनिक बलों की कम से कम 53 कंपनियों को बुलाया गया है और कुछ समय बाद हम राज्य के कई हिस्सों में सेना को भी तैनात करेंगे.’’

 

मुख्यमंत्री आनंदीबेन ने कहा, ‘‘लेकिन हमें सोचना चाहिए कि सेना बुलाने की जरूरत क्यों आन पड़ी. गुजरात जैसे आदर्श राज्य में, जो कि शांति प्रिय राज्य है, वहां हमें बाहर से ऐसे बंदोबस्त करने पड़ रहे हैं. इससे क्या धारणा बनेगी. इसलिए मैं आपसे हाथ जोड़कर शांति बनाये रखने की अपील करती हूं.’’ अहमदाबाद-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस समेत कम से कम 12 ट्रेनें रद्द कर दी गयी हैं और 19 ट्रेनों के मार्ग बदल दिये गये हैं. पश्चिम रेलवे के पीआरओ प्रदीप शर्मा ने बताया कि पांच और ट्रेनों को राज्य के बाहर से रास्ता बदलकर चलाया जा रहा है.

 

नगर पुलिस आयुक्त शिवानंद झा ने हिंसा की घटनाओं के बाद शहर के निकोल, बापूनगर, रामोल, ओधव, नरोदा, नारायणपुरा, कृष्णनगर, घाटलोदिया और वदाज समेत नौ इलाकों में कफ्र्यू लगा दिया.

 

सूरत पुलिस नियंत्रण कक्ष के अधिकारियों ने बताया कि करीब 1000 लोगों की भीड़ ने शहर के उढणा इलाके में सूरत नगर निगम के दो वेयरहाउसों में आग लगा दी. सूरत का हीरा और कपड़ा कारोबार ठप रहा. मितेश सालुंके नाम के एक पुलिस अधिकारी उस समय गंभीर रूप से चोटिल हो गये जब कल रात शहर के लालगेट इलाके में हिंसा के दौरान भीड़ पथराव कर रही थी.

 

सौराष्ट्र क्षेत्र में राजकोट, जामनगर, भावनगर और पोरबंदर में बंद रहा. पुलिस के अनुसार आज बंद के दौरान सभी चार जिलों में छिटपुट हिंसा की घटनाओं की खबर हैं.

 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि राजकोट के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) गगनदीप गंभीर उपलेटा मार्ग इलाके के पास हुए पथराव में घायल हो गए.

 

उत्तरी गुजरात के अधिकतर शहरों में बंद रहा, वहीं वड़ोदरा समेत मध्य गुजरात में बंद के आह्वान पर मिलीजुली प्रतिक्रिया देखने को मिली. आणंद में भी बंद का मिलाजुला असर रहा.

 

विहिप नेता प्रवीण तोगड़िया ने आंदोलनकारियों से शांति की अपील की और पुलिस से भी धर्य के साथ कार्रवाई करने का अनुरोध किया.

 

अहमदाबाद शहर से हिंसा की 50 से अधिक घटनाएं प्रकाश में आईं, जिनमें बसों, पुलिस चौकियों और निजी वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया, वहीं कुछ जगहों पर पुलिस वालों पर भी हमले किये गये.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: gujarat
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017