गुजरात स्थानीय चुनाव: मोदी के बाद सूबे में बीजेपी की लोकप्रियता का पहला टेस्ट

By: | Last Updated: Tuesday, 1 December 2015 5:47 PM

अहमदाबाद: गुजरात में हुए स्थानीय निकाय चुनाव के नतीजे बुधवार को आएंगे. नगर निगम, नगर पालिका, जिला पंचायत और तालुका (तहसील) पंचायत के लिए दो चरणों में वोट डाले गए थे.

 

22 नवंबर को पहले चरण में 6 महानगरों अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, राजकोट, जामनगर, भावनगर म्युनिसिपल कॉर्पोरेशनों के चुनाव के लिए वोट डाले गए. 

 

दूसरे चरण में 230 तालुका (तहसील) पंचायत, 56 नगर पालिका और 31 जिला पंचायतों के लिए 29 नवंबर को मतदान हुआ. गुजरात के 6 नगर निगमों में कुल 572 सीटें हैं. अहमदाबाद में 192, सूरत में 116, वडोदरा में 76, राजकोट में 72, भावगनर में 52 और जामनगर में 64 सीटें हैं. 

 

सभी नगर निगमों पर सत्ताधारी बीजेपी का कब्जा है. मोदी के गुजरात छोड़ने के बाद ये चुनाव काफी अहम मामा जाता है. इसे गुजरात का सेमीफाइनल कहा जा रहा है. पाटीदार समाज के आंदोलन के कारण भी इस चुनाव के नतीजे काफी अहम माने जा रहे हैं.

 

चुनाव प्रचार के दौरान कई जगह भाजपा नेताओं को पटेलों के विरोध का सामना करना पड़ा. गुजरात में ये माना जा रहा है कि मौटे तौर पर पटेल समुदाय बीजेपी का समर्थक रहा है. आपको बता दें कि 2010 में सभी महानगरपालिकाओं और ग्रामीण इलाकों के चुनावों में बीजेपी ने दो तिहाई बहुमत प्राप्त किया था. 

 

फिलहाल बीजेपी का 230 में 150 तालुका पंचायतों, 56 में 42 नगर पालिकाओं और 31 में से 30 जिला पंचायतों पर नियंत्रण है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Gujarat civic polls
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017