'सेक्स वीडियो' को लेकर IPS अधिकारी संजीव भट्ट को नोटिस

By: | Last Updated: Monday, 17 August 2015 7:41 AM

अहमदाबाद : गुजरात के 2002 दंगों को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर गंभीर आरोप लगाने वाले निलंबित आइपीएस संजीव भट्ट का एक ‘सेक्स वीडियो’ सामने आया है, जिसमें वह एक महिला के साथ अंतरंग नजर आ रहे हैं.

 

गुजरात के गृह मंत्रालय ने संजीव भट्ट को नोटिस जारी करते हुए कहा है उनका यह व्यवहार एक आईपीएस ऑफिसर के लायक नहीं है और ये ‘ऑल इंडिया सर्विस रूल्स’ का भी उल्लंघन है.

 

दूसरी तरफ संजीव भट्ट ने आरोपों से इनकार किया है. भट्ट का कहना है कि वीडियो में दिखने वाला शख्स वह नहीं हैं बल्कि उनकी तरह दिखने वाला कोई और शख्स है.

 

गुजरात के गृह मंत्रालय का कहना है कि वीडियो की गांधीनगर फॉरेंसिक लैब से जांच करा ली गई है और यह वीडियो असली है. हालांकि, गृह मंत्रालय ने यह साफ नहीं किया है कि वीडियो में दिखने वाला शख्स संजीव भट्ट ही है. संजीव भट्ट का कहना है कि वह अपनी बात सही साबित करने के लिए किसी भी तरह की जाँच के लिए तैयार हैं.

 

आपको बता दें कि 1988 बैच के गुजरात के आइपीएस संजीव भट्ट के खिलाफ कई आपराधिक मामलों में जाँच चल रही है और उन्हें 2011 में निलंबित कर दिया गया था.

 

भट्ट ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल करके कहा है कि साल 2002 में 27 फरवरी को तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की घर पर हुई बैठक में वे शरीक थे. भट्टा का दावा है कि उस बैठक में तत्कालीन सीएम नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों से कहा था कि हिंदुओं को अपना बदला लेने का मौका दें. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट के जरिए गठित एसआईटी ने उनके दावों को खारिज कर दिया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Gujarat govt asked Sanjeev Bhatt to explain ‘video’ with woman
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017