गुजरात में बढ़ा मांसाहार, दस साल में तीन सौ फीसदी की हुई बढ़ोत्तरी

By: | Last Updated: Saturday, 10 October 2015 12:17 PM
Gujarat non veg production tripled in last 10 years

नई दिल्लीः गांधी और मोदी के गुजरात में दस वर्ष में मांसाहार में तीन सौ फीसदी की बढोतरी हुई है. सुनने में ये आंकड़ा अजीब लग सकता है, लेकिन ये सच्चाई है. सामान्य तौर पर गुजरात की छवि एक शाकाहारी बहुल राज्य की रही है, लेकिन अब यहां मांसाहार का इस्तेमाल बढ़ रहा है, सरकारी आंकड़े इसके गवाह हैं.

 

गुजरात में बाहर से आकर बसने वाले लोग तो हैं ही, मूल गुजरातियों की संख्या भी मांसाहार की ओर बढ़ी है. फर्क साफ है. जिस राज्य में दशक भर पहले तक मांस खाने वाले लोगों की तादाद कम हुआ करती थी, वो अब तेजी से बढ़ रही है. इसी के संकेत के तौर पर राज्य के सबसे बड़े शहर अहमदाबाद में भी नॉन वेज रेस्टोरेंट्स की तादाद बढ़ रही है. लोगों के खान-पान में आये इस बदलाव को गुजरात के बाहर से आये लोगों के अलावा स्थानीय लोग भी महसूस कर रहे हैं.

 

गुजरात सरकार के आंकड़े भी मांसाहार सेवन में हुई बढ़ोतरी की तरफ इशारा करते हैं. दरअसल वर्ष 2002-2003 में राज्य में एक करोड़ सात लाख किलोग्राम मांस का उत्पादन हुआ था, जबकि 2013-14 में ये आंकड़ा बढ़कर तीन करोड़ 45 लाख किलोग्राम तक जा पहुंचा है. ये आंकड़े इस बात का सबूत हैं कि किस तरह से एक शाकाहारी बहुल राज्य में पिछले दस वर्षों में मांसाहार का प्रचलन बढ़ा है. राज्य के गो सेवा आयोग के उपाध्यक्ष चैतन्य शंभू महाराज भी इस बात को स्वीकार करते हैं कि गुजरात में मांसाहार का चलन बढ़ा है, जिसके लिए ढेर सारे कारण जिम्मेदार हैं.

 

 

गौरतलब है कि गुजरात में गो हत्या पर पूर्ण प्रतिबंध है और राज्य सरकार के कानून इस मामले में काफी कड़े हैं. ऐसे में राज्य में मोटे तौर पर मांस के तौर पर मुर्गे, बकरे और भेड़ के मांस का सेवन होता है. राज्य के सोलह सौ किलोमीटर लंबे समुद्र तटीय इलाके में लोग मछली भी खाते हैं. जाहिर है, मांसाहार के सेवन के मामले में गुजरात जिस तरह रफ्तार पकड़ रहा है, ऐसे में वो दिन दूर नहीं, जब आबादी का एक बड़ा हिस्सा मांसाहारी हो जाएगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Gujarat non veg production tripled in last 10 years
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Gujrat non veg food production tripled
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017