‘सरस्वती वंदना’ को लेकर गुजरात में विवाद

By: | Last Updated: Friday, 23 January 2015 12:51 PM
gujrat

अहमदाबाद: अहमदाबाद स्कूल बोर्ड ने सर्कुलर जारी कर सभी स्कूलों से कहा है कि कल वसंत पंचमी पर वे ‘सरस्वती वंदना’ करवाएं जिससे विवाद उत्पन्न हो गया है. कांग्रेस ने सत्तारूढ़ बीजेपी पर हिंदुत्व के एजेंडे को बढ़ाने का आरोप लगाया है और कानूनी कार्रवाई एवं प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है.

 

बोर्ड की तरफ से 19 जनवरी को जारी सर्कुलर में कहा गया है, ‘‘वसंत पंचमी पर विद्या की देवी मां सरस्वती को याद किया जाता है . छात्रों को शिक्षा का महत्व समझाने के लिए स्कूलों को सरस्वती पूजा आयोजित करने की आवश्यकता है और प्रार्थना के दौरान छात्रों से सरस्वती वंदना कराई जाए. साथ ही उन्हें बताया जाए कि अन्य राज्यों में वसंत पंचमी कैसे मनाई जाती है .’’ अहमदाबाद नगर निगम का स्कूल बोर्ड शहर में करीब 450 प्राथमिक विद्यालय चलाता है जिसमें 64 उर्दू माध्यम के स्कूल हैं जो मुख्यत: मुस्लिम बहुल इलाकों में हैं जहां अल्पसंख्यक समुदाय के करीब 16 हजार छात्र पढ़ते हैं .

 

सकरुलर से विपक्षी कांग्रेस की भौहें तन गई हैं जिसने इस पहल को मुस्लिमों के मूलभूत अधिकारों पर हमला करार दिया है. इस्लाम में किसी भी तरह से मूर्ति पूजा निषेध है.

 

सरखेज वार्ड के कांग्रेस पाषर्द हाजी मिर्जा बेग ने इसे भाजपा के हिंदुत्ववादी एजेंडे को बढ़ावा देने का प्रयास बताया .

 

बेग ने कहा, ‘‘लोकतंत्र में हर किसी को अपने धर्म एवं इससे जुड़े क्रियाकलापों को करने का अधिकार है . यह सकरुलर न केवल मुस्लिमों की स्वतंत्रता के अधिकार पर हमला है बल्कि दूसरे धर्मों की स्वतंत्रता का हनन भी है . वे क्यों चाहते हैं कि मुस्लिम छात्र पूजा करें ? उर्दू स्कूलों में इसे आवश्यक नहीं बनाया जाना चाहिए .’’ उन्होंने चेतावनी दी, ‘‘कांग्रेस के पाषर्द एएमसी के इस तरह के तानाशाही रवैये के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे . उर्दू स्कूलों को इस आदेश से परे रखा जाना चाहिए जहां अधिकतर छात्र मुस्लिम हैं . अन्यथा हम कानूनी कार्रवाई करेंगे और अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे .’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: gujrat
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017