गुजरात: 2002 दंगों का विरोध करने वाले IPS को रिटायरमेंट के बाद बनाया गया वकील

By: | Last Updated: Wednesday, 15 April 2015 1:37 AM
gujrat: ias officer, retired now, opposing 2002 riots given the atatus of lawyer by bar council

फ़ाइल फ़ोटो: गोधरा रेलवे स्टेशन के पास फरवरी 2002 को साबरमती एक्सप्रेस के एस-6 कोच की आग से ये हालत हो गई थी

अहमदाबाद: बार काउंसिल ऑफ गुजरात (बीसीजी) ने रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी राहुल शर्मा को एक वकील के रूप में पंजीकृत (रजिस्टर) कर लिया है. राहुल ने 2002 के साम्प्रदायिक दंगों को लेकर गुजरात सरकार का विरोध किया था.

 

बीसीजी सदस्य अनिल कल्ला ने यहां कहा, ‘‘हमने सेवानिवृत्त (रिटायर्ड) आईपीएस अधिकारी राहुल शर्मा बार काउंसिल ऑफ गुजरात में एक वकील के रूप में पंजीकरण कर लिया है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने उन्हें रविवार को बुलाया था और उनके खिलाफ लंबित विभागीय जांच के संबंध में कुछ दस्तावेजों की जांच की. इसकी जांच करने के बाद उन्हें पंजीकृत कर लिया गया.’’

 

1992 बैच के आईपीएस अधिकार राहुल शर्मा ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली तत्कालीन राज्य सरकार का 2002 दंगों को लेकर विरोध किया था और सेवानिवृत्त न्यायाधीश जी टी नानावती के नेतृत्व वाले जांच आयोग को महत्वपूर्ण जानकारियां मुहैया करायी थीं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: gujrat: ias officer, retired now, opposing 2002 riots given the atatus of lawyer by bar council
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017