मंत्री की दरियादिली, 'दुश्मन' को मुफ्त में दी करोड़ों की जमीन

By: | Last Updated: Thursday, 2 July 2015 4:07 AM
Haji Fareed Mahfooz Kidwai and land use

बाराबंकी: ज़र, ज़मीन और जायदाद के खातिर भाई –भाई, भाई-बहन, पिता–पुत्र, खानदानों और रिश्तेदारों के बीच खूनी जंग की दास्तानें भरी पड़ी हैं, लेकिन इस कड़ी में यूपी सरकार के मंत्री की दरियादिली काबिले तारीफ है.

 

यूपी के वन राज्यमंत्री हाजी फरीद महफूज किदवई ने इंसानी हमर्ददी और भाईचारे की मिसाल पेश करते हुए मुकदमे में जीती ज़मीन उसी शख्स को दे दी जो इस पर हक जता रहा था.

 

दरअसल बाराबंकी जिले में एक जमीन को लेकर बाबूलाल नाम के शख्स और फरीद के बीच कानूनी लड़ाई चल रही थी. कोर्ट से लड़ाई जीतने के बाद भी हाजी फरीद ने ज़मीन बाबूलाल को दे दी, क्योंकि उन्हें पता चला था कि बाबू लाल बहुत गरीब है.

 

मंत्री की इस दरियादिली के किस्से इलाके में खूब सुने जा रहे हैं तो उनके खिलाफ़ कानूनी लड़ाई लड़ने वाला शख्स भी खुद को शर्म महसूस कर रहा है.

 

बताया जा रहा है मंत्री ने जीती हुई जो जमीन लौटा दी है वह करोड़ो की है.

 

मामला

 

विवादित जमीन हाजी फरीद महफूज किदवई के नाम पर है. कुछ समय पहले इस ज़मीन पर बाबूलाल नाम के एक शख्स ने अपना हक़ जताते हुए कब्ज़ा जमाया. इस वजह से मंत्री और बाबूलाल के बीच कानूनी लड़ाई शुरू हो गई. अदालत में मंत्री की जीत हुई.

 

दरअसल, बुजुर्ग बाबूलाल एक ठगी का शिकार हुए थे और कई साल पहले मंत्री की ज़मीन को किसी ने जालसाज़ी करके बाबूलाल के हाथो बेंच दी थी. बाबूलाल के मुताबिक यह सब सन 1961 में हुआ था.

 

लेकिन कानूनी लड़ाई हार चुके बाबूलाल की आर्थिक स्थिति जब मंत्री को उनके एक सहयोगी सरताज चौधरी ने बताई तो मंत्री ने करोड़ों की अपनी ये खानदानी ज़मीन बाबूलाल को सुपुर्द कर उसका मालिक बना दिया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Haji Fareed Mahfooz Kidwai and land use
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017