हरियाणा: पीएम मोदी ने मांगे वोट, कहा- जो 60 साल में कुछ नहीं कर पाए वे 6 महीने का हिसाव मांग रहे हैं

By: | Last Updated: Saturday, 4 October 2014 5:42 AM

करनाल (हरियाणा): कांग्रेस को अपदस्थ करने के अपने लोकसभा के आह्वान को दोहराते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज हरियाणा के लोगों से कहा कि वे राज्य को विकास के पथ पर ले जाने के लिए बीजेपी को विधानसभा चुनाव में स्पष्ट जनादेश दें. हरियाणा में अपनी पार्टी का प्रचार अभियान शुरू करते हुए मोदी ने राज्य के पिछड़ेपन के लिए कांग्रेस पर हमला बोला.

 

मोदी ने कहा कि समूचा विश्व आज भारत को बड़े सम्मान की दृष्टि से देख रहा है और यह उनकी वजह से नहीं, बल्कि भारत के 125 करोड़ लोगों की वजह से हुआ है जिन्होंने केंद्र में मजबूत और स्थिर सरकार बनाई .

 

प्रधानमंत्री ने पूछा, “भारत का गौरव आज क्यों बढ़ा है ? यह मोदी की वजह से नहीं है, यह भारत के 125 करोड़ लोगों की वजह से है जिन्होंने दिल्ली में एक स्थिर और मजबूत सरकार बनाई. यह आपका जादू है, न कि मोदी का जादू. क्या आप चाहते हैं कि हरियाणा का नाम भी सारी दुनिया में गूंजे.” उन्होंने कहा, “इसके लिए पहली शर्त है कि यहां ‘कांग्रेस मुक्त हरियाणा’ होना चाहिए. दूसरी यह कि पूर्ण बहुमत के साथ मजबूत सरकार होनी चाहिए. और तीसरी, यह कि यहां ऐसी सरकार होनी चाहिए जो हरियाणा में मोदी को काम करने (का मौका) दे.”

 

राज्य की सत्तारूढ़ कांग्रेस पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि जो विगत 60 वषरें में कुछ नहीं कर सके, वे अब उनके 60 दिन का रिकॉर्ड पूछ रहे हैं.

 

बीजेपी की यहां आयोजित रैली में अपने 30 मिनट के भाषण में मोदी ने सत्तारूढ़ कांग्रेस को ‘किसान विरोधी’ करार दिया और पार्टी के इस दावे को खारिज किया कि हरियाणा नंबर-1 राज्य है. उन्होंने कहा कि साक्षरता दर, प्रति व्यक्ति आय, गरीबी उन्मूलन, स्वास्थ्य शिक्षा सहित कई चीजों में राज्य काफी पीछे है.

 

मोदी ने मुख्य विपक्षी दल इनेलो पर भी करारा हमला किया और लोगों से पूछा कि क्या वे चाहते हैं कि राज्य का शासन जेल से चले. राज्य के किसानों से जुड़ने की बात करते हुए मोदी ने कांग्रेस के इस आरोप के लिए उस पर हमला बोला कि केंद्र ने बासमती चावल के निर्यात पर रोक लगा दी है .

 

उन्होंने कहा, “मैं हैरान हूं कि क्या चुनावों में झूठ बोलना जरूरी है . मुझे झूठ बोलने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन आप सब जानते हैं कि मेरे किसान भाइयों और बहनों को गुमराह किया जा रहा है, आपसे कहा जा रहा है कि केंद्र ने बासमती चावल के निर्यात पर रोक लगा दी है, जो 100 प्रतिशत झूठ और किसानों के प्रति अन्याय है.” प्रधानमंत्री ने कहा कि हरियाणा चार प्रतिशत कर वसूल रहा है जिससे बासमती उत्पादकों को कम मूल्य मिल रहा है.

 

कांग्रेस पर कथित घोटालों के लिए जबर्दस्त हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि हजारों एकड़ जमीन गायब हो गई है और किसान पर्याप्त मुआवजे से वंचित हैं .

 

उन्होंने कहा, “इस जमीन को किसने लिया है, मैं आपसे पूछना चाहता हूं क्या आपको अपनी जमीन के लिए मुआवजा मिला. हजारों एकड़ जमीन कहां चली गई, इसे किसने ले लिया.” मोदी ने कहा, “..किसान विरोधी कौन है, आपको फैसला करना है. हमें इसे बदलना होगा, इसके लिए मैं हरियाणा में स्पष्ट जनादेश चाहता हूं, हमारे उम्मीदवारों को विजयी बनाएं..” शुरू में मोदी ने लोगों के साथ भावुकता प्रदर्शित करते हुए कहा कि वह विजयादशमी समारोह मनाए जाने के एक दिन बाद हरियाणा में प्रचार के लिए आए हैं .

 

उन्होंने कहा कि हरियाणा दानवीर कर्ण की धरती है जहां महाभारत की लड़ाई लड़ी गई और जहां पवित्र गीता का संदेश प्रसारित हुआ .

 

मोदी ने कहा, “इस चुनाव से हरियाणा का भविष्य तय होगा. मैं आपके पड़ोस (दिल्ली) में बैठा हूं.” पार्टी जन के तौर पर हरियाणा में काम करने के अनुभवों को याद करते हुए मोदी ने कहा कि वह अपने कर्ज को उतारना चाहते हैं क्योंकि लोगों से उन्हें यहां काफी प्रेम और स्नेह मिला है.

 

उन्होंने लोगों से कहा कि यदि रोजगार, समग्र प्रगति, गांवों एवं शहरों में विकास चाहिए तो हरियाणा में बदलाव जरूरी है.

 

मोदी ने कहा, “क्या आप चाहते हैं मैं आपकी सेवा करूं. उसके लिए मुझे आपका आशीर्वाद और पूर्ण बहुमत वाली सरकार चाहिए. विकास के लिए मुझे एक अवसर दीजिये.” कैलाश मानसरोवर यात्रा के नये मार्ग की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के सत्ता में होने के समय में भी यह मार्ग था लेकिन वह कुछ भी करने में विफल रही.

 

प्रधानमंत्री ने कहा, “जब कांग्रेस सरकार थी तो कैलाश सरोवर भी वहीं था. लेकिन तब वहां जाना बड़ा कठिन था. जो काम कांग्रेस नहीं कर पायी, वह हमने बहुत कम समय में कर दिया..हमने चीन को समझाया और कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए दूसरी सड़क खुलवा दी. और अब सड़क से कोई भी कैलाश मानसरोवर जा सकता है.” उन्होंने जन धन योजना सहित केन्द्र द्वारा शुरू की गयी विभिन्न योजनाओं का उल्लेख किया.

 

हरियाणा में 90 सदस्यीय विधानसभा के लिए 15 अक्तूबर को चुनाव होंगे.

 

राज्य में बहुकोणीय मुकाबला होने के आसार बन रहे हैं तथा कांग्रेस, बीजेपी, इंडियन नेशनल लोकदल, हरियाणा लोकहित पार्टी, बसपा, हरियाणा जनहित कांग्रेस, हरियाणा जन चेतना मंच के उम्मीदवारों के बीच आपसी मुकाबला होगा.

 

पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने 40, इनेलो ने 31, बीजेपी ने 4, हरियाणा जनहित कांग्रेस ने 6, शिरोमणि अकाली दल एवं बसपा ने एक.एक और निर्दलियांे ने सात सीटें जीती थीं.