राम रहीम की राजदार हनीप्रीत को लेकर मिला अब तक का सबसे बड़ा सुराग!

राम रहीम की राजदार हनीप्रीत को लेकर मिला अब तक का सबसे बड़ा सुराग!

राम रहीम का साया कही जाने वाली हनीप्रीत को लेकर लखीमपुर के एक रिक्सा चालक ने अहम जानकारी दी है. रिक्शा चालक राम बहादुर का दावा है कि पंजाब के लुधियाना से लखीमपुर खीरी आयी कार में एक महिला भी सवार थी.

By: | Updated: 07 Sep 2017 06:22 PM

नई दिल्ली: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम बलात्कार के आरोप में रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है. उसकी सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत अभी भी फरार है. हरियाणा पुलिस उसकी तलाश में कई जगह छापे मार रही है लेकिन हाथ खाली हैं. इस बीच एबीपी न्यूज को एक ऐसी जानकारी मिली है जिससे पुलिस को हनीप्रीत की तलाश का अहम सुराग मिल सकता है.


राम रहीम का साया कही जाने वाली हनीप्रीत को लेकर लखीमपुर के एक रिक्सा चालक ने अहम जानकारी दी है. रिक्शा चालक राम बहादुर का दावा है कि पंजाब के लुधियाना से लखीमपुर खीरी आयी कार में एक महिला भी सवार थी. राम बहादुर के मुताबिक एक कार जब उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी पहुंची तो उसमें तीन पुरुष और एक महिला सवार थी. कार से उतरकर वो चारों नेपाल चले गये. 6 दिन बाद उनकी नेपाल से वापसी हुई तो बस दो पुरुष दिखे.


आपको बता दें कि रिक्शा चालक रामबहादुर बहादुर हनीप्रीत के तमाम रुप-रंगों से ज्यादा रू-ब-रु नहीं हुआ है, इसलिए वो दावे के साथ नहीं कह पा रहा है कि कार में सवार वो महिला हनीप्रीत ही थी. लेकिन इससे पहले भी हनीप्रीत के लखीमपुर में होने की खबरें सामने आ चुकी हैं.


लखीमपुर खीरी में पायी गई संदेहास्पद कार लुधियाना के जिस जसविंदर सिंह की है उनका कहना है कि वो काठमांडू के पशुपतिनाथ मंदिर दर्शन करने गये थे. वो अपनी कार लखीमपुर में ही छोड़ गए थे.


कहां फंस रहा है पेंच?
लखीपुर खीरी के रास्ते हर साल लोग पशुपति नाथ मंदिर दर्शन करने जाते हैं लेकिन आमतौर पर लोग तीन दिन में वहां से दर्शन करके लौट आते हैं. अब इसी को लेकर सवाल उठ रहा है कि आखिर जसविंदर को नेपाल में छह दिन क्यों लगे?


गाड़ी लखीमपुर में क्यों छोड़ गए जविंदर?
सफेद रंग की जिस स्कोडा कार से हनीप्रीत के नेपाल भाग जाने की थ्योरी सामने आ रही है. उस कार के आगेवाले शीशे पर वीआईपी लिखा हुआ है जबकि कार के मालिक जसविंदर सिंह कानून के किसी नजरिए इस हैसियत में नहीं हैं कि वो अपनी कार में वीआईपी लिखवा सकें.


पुलिस सूत्रों के मुताबिक जसविंदर सिंह के पास कार के सही दस्तावेज भी नहीं थे और इसी वजह से वो अपनी कार लेकर नेपाल नहीं गये क्योंकि भारत-नेपाल बॉर्डर पर गाड़ी के तमाम दस्तावेजों की सही से जांच पड़ताल होती है. आपको बता दें कि लखीपुरखीरी में भारत और नेपाल के बीच घना जंगल फैला हुआ है और उस जंगल के रास्ते दूसरी तरफ आना-जाना काफी आसान है.


पुलिस को लखीमपुर खीरी में मिली लावारिस कार के बारे में पूरी जानकारी मिल चुकी है. उसके मालिक का भी पता चल चुका है लेकिन पुलिस सूत्रों से जो खबर मिल रही है उसके मुताबिक अभी भी हरियाणा पुलिस की राम रहीम की हनीप्रीत की गुपचुप तरीके से तलाश कर रही है.

यहां देखिए वीडियो?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story बीयर के शौकीनों के लिए खुशखबरी,अब मिलेगी ताजी बीयर