हार्ट-अटैक से बचना है तो बीवी की सुनें 

By: | Last Updated: Saturday, 5 July 2014 1:48 PM

न्यूयार्क: यदि आप हार्ट-अटैक से बचना चाहते हैं तो आपको अपनी पत्नी की सुननी होगी. एक शोध में यह बात सामने आई है कि जीवनसाथी के साथ सकारात्मक बातचीत करने से हृदयाघात का खतरा कम होता है.

 

कैलिफोर्निया के वीए ग्रेटर लॉस एंजेलिस हेल्थकेयर सिस्टम के नटारिया जोसेफ ने कहा, “साथी के साथ नकारात्मक बातचीत गले की धमनियों में गले से मस्तिष्क तक रक्त प्रवाह करने वाली वाहिकाओं को अतिरिक्त मोटा कर देता है.”

 

मोटी ग्रीवा धमनी हृदय से जुड़ी समस्याओं के लिए उत्तरदायी है.

 

अध्ययन से पता चला कि जो लोग अपने साथी के साथ बहुत कम बातचीत करते हैं, उनमें हार्ट-अटैक का खतरा 8.5 प्रतिशत बढ़ जाता है.

 

शोधकर्ताओं ने अध्ययन के लिए 281 वयस्कों को चुना, जो अपने साथी के साथ रहते हैं.

 

शोधकर्ताओं ने पाया कि साथी के साथ बातचीत का भावनाओं, स्वास्थ्य और शरीर विज्ञान से गहरा संबध है. इसका प्रभाव मुख्य रूप से व्यक्ति के स्वास्थ्य पर पड़ता है.

 

लाइव साइंस की रिपोर्ट के अनुसार जोसेफ ने कहा, “अध्ययन में साथी के साथ बातचीत का स्वास्थ्य पर प्रभाव तो देखा गया, लेकिन बातचीत औैर ग्रीवा धमनी पर संबंध के कारण और प्रभाव का पता नहीं चल पाया है.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: heart_attack_talk_to_wife
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017