High Court ask if any compensation to those prisoners who are acuitted । क्या उन कैदियों को मुआवजा देने की कोई नीति है जो बरी हो जाते हैं: हाई कोर्ट

हाई कोर्ट ने पूछा- क्या उन कैदियों को मुआवजा देने की कोई नीति है जो बरी हो जाते हैं?

दिल्ली हाई कोर्ट ने आप सरकार से जानना चाहा कि क्या उन लोगों को मुआवजा देने के लिए कोई नीति है जो बरी हो जाते हैं

By: | Updated: 28 Nov 2017 10:59 AM
High Court ask if any compensation to those prisoners who are acuitted

नई दिल्ली: दिल्ली हाई कोर्ट ने आप सरकार से जानना चाहा कि क्या उन लोगों को मुआवजा देने के लिए कोई नीति है जो बरी हो जाते हैं या जो जमानत पर जेल से बाहर आ जाते हैं.


कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर की पीठ ने एक बस कंडक्टर के मामले का जिक्र किया, जिसे शुरु में रयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या का आरोपित किया गया लेकिन हाल ही उसे जमानत मिल गयी.


न्यायालय ने पूछा कि अब वह जमानत पर है और उसी की भांति बहुत सारे लोग हैं, ऐसे में क्या उन्हें कोई मुआवजा देने की कोई नीति है.


पीठ ने कहा, "यदि नहीं, तो सरकार को इसके बारे में सोचना चाहिए क्योंकि क्या आप (दिल्ली सरकार) हमें यह बता सकते हैं कि इस बस कंडक्टर को अब कौन नौकरी देगा. यह बस उसकी बात नहीं है, ढेरों ऐसे लोग हैं जो हिरासत में रहने के बाद जब वे जेल से बाहर आते हैं तो वे अपना परिवार नहीं चला पाते हैं."

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: High Court ask if any compensation to those prisoners who are acuitted
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story कर्नाटक: RSS नेता की हत्या के बाद बवाल, धार्मिक स्थल में तोड़फोड़ और आगजनी