छोटा राजन : डी-कंपनी का खास जो बना दाऊद का सबसे बड़ा दुश्मन

By: | Last Updated: Monday, 26 October 2015 9:56 AM
History of Chota Rajan

नई दिल्ली : अपराध की दुनिया में दाऊद इब्राहिम का नाम सबसे ऊपर हो सकता है लेकिन इसका जिक्र होते ही छोटा राजन का नाम भी सामने आ जाता है. मुंबई के अंडरवर्ल्ड का एक सरगना जो कभी डी-कंपनी का खास हुआ करता था, दाऊद के खून का प्यासा हो गया. छोटा राजन की दहशत भी डी-कंपनी से कम नहीं थी. लेकिन, समय के साथ उसका शरीर कमजोर पड़ता गया और भारत में उसकी जड़ें कमजोर हुईं. इसके बावजूद भारत में होने वाले कई संगीन अपराधों के पीछे छोटा राजन का नाम बताया जाता है.

 

पढ़ें : अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन इंडोनेशिया में गिरफ्तार

 

छोरा राजन की कहानी उस फिल्मी डॉन की तरह ही है जो छोटी बस्तियों से निकल कर टिकट ब्लैक करने के रास्ते जुर्म के महल में घुसता है. छोटा राजन का वास्तविक नाम राजेन्द्र सदाशिव निखलजे है. मुंबई के उपनगर चेंबूर में उसका जन्म दलित परिवार में हुआ था. पढ़ने के बजाए अपराध ने उसे ज्यादा आकर्षित किया और फिर वह उसी रास्ते पर चलता गया. उसके पिता नगर निगम में चपरासी थे पर उसके सपनों की उड़ान काफी ऊंची थी.

पढ़ें : याकूब की फांसी से भड़की डी-कंपनी की धमकी,’भारत को गंभीर नतीजे भुगतने होंगे’

 

राजेन्द्र (छोटा राजन) ने हाजी मस्तान, करीम लाला और वरदा भाई की बढ़ते असर को ध्यान में रखा और उसी राह पर चल पड़ा. चेंबूर और घाटकोपर राजन नायर का बड़ा नाम था और इसी के लिए राजेंद्र सिनेमा में टिकट ब्लैक करने लगा. उसका कद बढ़ता गया और फिर राजेन्द्र, राजन नायर उर्फ बड़ा राजन के साथ छोटा राजन हो गया. 80 का दशक शुरू होते-होते राजन सुपारी लेकर हत्या करने के धंधे में आ गया.

 

पढ़ें : छोटा शकील ने एबीपी न्यूज़ से कहा, ‘1000 करोड़ लेना था इसलिए ललित मोदी को मारने बैंकॉक गए थे’

 

इसी दौरान मुंबई के कई गिरोहों में आपस में गैंगवार छिड़ी हुई थी. इसमें छोटा राजन ने दाऊद के साथ मिलकर उसका हाथ मजबूत किया. छोटा राजन और दाऊद के बीच काफी गहरे संबंध हो गए. एक समय वह भी था जब दाऊद ने दुबई भागने से पहले मुंबई का अपना पूरा कारोबार उसके हाथों में सौंप दिया था. इसके साथ ही अरुण गवली से लड़ने में भी दाऊद ने उसकी मदद की.

 

पढ़ें : एक बार फिर फेल हुई डी कंपनी, छोटा राजन को मार गिराने की थी प्लानिंग

 

लेकिन, 90 के दशक के शुरू होते-होते दोनों के बीच मतभेद गहराने लगे. इसका कारण यही था कि दाऊद किसी को पनपने नहीं देता था आर छोटा राजन का नाम तेजी से बढ़ रहा था. यहां तक की छोटा राजन के कई मददगारों की दाऊद ने हत्या भी करवा दी. इसकी भनक लगते ही छोटा राजन बदले की आग में जलने लगा. इसके बाद उसने भी दाऊद के कई करीबियों को मौत के घाट उतार दिया.

 

पढ़ें : अंडरवर्ल्ड डॉन की बेटी की शादी के रिसेप्शन में शामिल हो सकती हैं नामी हस्तियां ! 

 

इसके साथ ही कहा जाता है कि मुंबई बम ब्लास्ट की साजिश के दौरान दाऊद आईएसआई के करीब आया और राजन से उसकी दुश्मनी बढ़ती गई. दोनों ने एक दूसरे के आदमियों को मरवाया और एक दूसरे के जान के दुश्मन बन गए. 1993 के ब्लास्ट के बाद मुंबई में भी अंडरवर्ल्ड सांप्रदायिक आधार पर बंट गया. हिंदूवादी और मुस्लिम डॉन जैसे हालात बनने लगे.

 

पढ़ें : महाराष्ट्र: चेंबूर ईस्ट से अंडरवर्ल्ड डॉन का भाई होगा एनडीए का उम्मीदवार!

 

बताया जाता है कि छोटा राजन ने दाऊद के खिलाफ भारतीय एजेंसियों को कई अहम जानकारियां भी दीं. इसके बाद दाऊद ने मुंबई में छोटा शकील को खड़ा किया. हालांकि तब तक छोटा राजन का कद बड़ा हो चुका था. लेकिन, कानून से बचने के लिए वह बाहर भाग गया. बाहर के देशों से ही वह अपना धंधा चला रहा था. दाऊद और उसकी दुश्मनी अब तक जारी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: History of Chota Rajan
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी जाएंगे
गोरखपुर ट्रेजडी: राहुल ने की मृतक बच्चों के परिजनों से मुलाकात, BRD अस्पताल भी...

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पिछले दिनों बीआरडी अस्पताल में हुई बच्चों की मौत से मचे...

बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण राणे
बड़ी खबर: जल्द बीजेपी में शामिल हो सकते हैं कांग्रेस के बड़े नेता नारायण...

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में एक बड़ा भूकंप आने की तैयारी में है. महाराष्ट्र में कांग्रेस...

JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी
JDU की बैठक में बड़ा फैसला, चार साल बाद फिर NDA में शामिल हुई नीतीश की पार्टी

पटना: बिहार की राजनीति में आज का दिन बेहद अहम माना जा रहा है. पटना में नीतीश की पार्टी की जेडीयू...

यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा रजिस्ट्रेशन
यूपी: मदरसों को लेकर योगी सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, अब जरुरी होगा...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एक अहम फैसले के तहत शुक्रवार से प्रदेश के सभी...

बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153  तो असम में 140 से ज्यादा की मौत
बाढ़ का कहर जारी: बिहार में अबतक 153 तो असम में 140 से ज्यादा की मौत

पटना/गुवाहाटी: बाढ़ ने देश के कई राज्यों में अपना कहर बरपा रखा है. बाढ़ से सबसे ज्यादा बर्बादी...

CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'
CM योगी का राहुल गांधी पर निशाना, बोले- 'गोरखपुर को पिकनिक स्पॉट न बनाएं'

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज स्वच्छ यूपी-स्वस्थ...

नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड क्रॉस
नेपाल, भारत और बांग्लादेश में बाढ़ से ‘डेढ़ करोड़’ से अधिक लोग प्रभावित: रेड...

जिनेवा: आईएफआरसी यानी   ‘इंटरनेशनल फेडरेशन आफ रेड क्रॉस एंड रेड क्रीसेंट सोसाइटीज’ ने...

‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार
‘डोकलाम’ पर जापान ने किया था भारत का समर्थन, चीन ने लगाई फटकार

बीजिंग:  चीन ने शुक्रवार को जापान को फटकार लगाते हुए कहा कि वह चीन, भारत सीमा विवाद पर ‘बिना...

यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड
यूपी: मथुरा में कर्जमाफी के लिए घूस लेता लेखपाल कैमरे में कैद, सस्पेंड

मथुरा: योगी सरकार ने साढ़े 7 हजार किसानों को बड़ी राहत देते हुए उनका कर्जमाफ किया है. सीएम योगी...

बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब पता था’
बिहार: सृजन घोटाले में बड़ा खुलासा, सामाजिक कार्यकर्ता का दावा- ‘नीतीश को सब...

पटना:  बिहार में सबसे बड़ा घोटाला करने वाले सृजन एनजीओ में मोटा पैसा गैरकानूनी तरीके से सरकारी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017