महेंद्रनगर के रास्ते नेपाल पहुंची हनीप्रीत! बिहार के 7 जिलों में तलाश जारी

महेंद्रनगर के रास्ते नेपाल पहुंची हनीप्रीत! बिहार के 7 जिलों में तलाश जारी

नेपाल और भारत के बीच प्रत्यर्पण की कोई संधि नहीं है. ऐसे में अगर हनीप्रीत नेपाल भागने में कामयाब हो गई है तो जांच एंजेसियों को बाबा की मुंहबोली बेटी को वापस लाना आसान नहीं होगा.

By: | Updated: 18 Sep 2017 09:04 AM
नई दिल्ली: जेल में बंद बलात्कारी बाबा राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत पर बड़ा खुलासा हुआ है. खबर मिली है कि हनीप्रीत नेपाल में और बचने के लिए बार-बार अपनी लोकेशन बदल रही है. सूत्रों के मुताबिक, नेपाल पुलिस की मदद से हनीप्रीत की तलाश में छापेमारी की जा रही है.

कहां भाग कर गई है हनीप्रीत? जानिए- राम रहीम के करीबी का खुलासा

राम रहीम के किसी सीक्रेट अड्डे पर छुपी है हनीप्रीत!

हनीप्रीत नेपाल भाग चुकी है. सूत्रों के मुताबिक हनीप्रीत को नेपाल के धरान-इटहरी इलाके में देखा गया है. बताया जा रहा है कि हनीप्रीत महेंद्रनगर के रास्ते नेपाल पहुंची और कंचनपुर, घोराही से होते हुए राम रहीम के किसी सीक्रेट अड्डे पर जा छुपी है.

बाबा गुरमीत राम रहीम की सबसे करीबी हनीप्रीत इंसा नेपाल में देखी गई!

बिहार के कई जिलों की पुलिस अलर्ट

हनीप्रीत को नेपाल में देखे जाने का दावा सही भी हो सकता है, क्योंकि उदयपुर से पुलिस की गिरफ़्त में आए राम रहीम के भक्त प्रदीप गोयल ने भी उसके नेपाल भागने का सुराग दिया है. उधर, हनीप्रीत पर इन सुरागों के मिलने के बाद नेपाल से सटे बिहार के कई जिलों की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है, यही नहीं भारत-नेपाल बॉर्डर पर तैनात जवान अलर्ट हैं और हनीप्रीत की तलाश कर रहे हैं.

भारतीय पुलिस की मदद कर रही है नेपाल पुलिस

नेपाल से सटे बिहार के सात जिलों में हनीप्रीत की तलाश में सर्च ऑपरेशन चल रहा है. पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया और किशनगंज की पुलिस को अलर्ट कर दिया गया है और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. वहीं हनीप्रीत के सर्च ऑपरेशन में नेपाल पुलिस भारतीय पुलिस की मदद कर रही है और इस कड़ी में कुछ जगहों पर छापे भी मारे गए हैं.

नेपाल और भारत के बीच प्रत्यर्पण की कोई संधि नहीं

पुलिस की जांच में हनीप्रीत की आखिरी लोकेशन राजस्थान के बाड़मेर में पता चला थी, लेकिन उसके बाद से हनीप्रीत पर हरियाणा पुलिस का हाथ खाली है. नेपाल और भारत के बीच प्रत्यर्पण की कोई संधि नहीं है. ऐसे में अगर हनीप्रीत नेपाल भागने में कामयाब हो गई है तो जांच एंजेसियों को बाबा की मुंहबोली बेटी को वापस लाना आसान नहीं होगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story शंकर सिंह वाघेला की गैरमौजूदगी से मध्य गुजरात में बीजेपी को फायदा