नेपाल से भी भाग सकती है हनीप्रीत, पुलिस ने सर्च के लिए बनाई टीम

नेपाल से भी भाग सकती है हनीप्रीत, पुलिस ने सर्च के लिए बनाई टीम

ये पुलिस टीम भारत से भी कोऑर्डिनेट करेगी. सतर्कता के लिए काठमांडू के एयरपोर्ट पर भी अलर्ट जारी किया गया है ताकि हनीप्रीत नेपाल से कहीं और न भाग जाए.

By: | Updated: 19 Sep 2017 08:23 PM

नई दिल्ली: बलात्कारी राम रहीम जेल में है और उसकी सबसे बड़ी राजदार हनीप्रीत फरार है. अब खबर है कि हनीप्रीत की तलाश के लिए नेपाल पुलिस ने डीआईजी हेमंत पाल के नेतृत्व में एक टीम बनाई है. ये पुलिस टीम भारत से भी कोऑर्डिनेट करेगी. सतर्कता के लिए काठमांडू के एयरपोर्ट पर भी अलर्ट जारी किया गया है ताकि हनीप्रीत नेपाल से कहीं और न भाग जाए.


आपको बता दें कि नेपाल से रामरहीम का पुराना नाता रहा है. 2015 में नेपाल में आए भूकंप के दौरान नूआकोट इलाके में राम रहीम करीब एक हजार समर्थकों के साथ यहां मदद के लिए पहुंचा था. यहां राम रहीम ने लोगों को दवाइयां, कपड़े और जरूरत के सामान बांटे थे.


डेरा प्रवक्ता का बड़ा बयान, कहा- हनीप्रीत की जान को खतरा
राम रहीम के जेल जाने के बाद उसकी टीम टूट गई है. हनीप्रीत फरार है. डेरा का प्रवक्ता आदित्य इंसा भी भागता फिर रहा है. डेरा ने संदीप मिश्रा को नया प्रवक्ता नियुक्त किया है. डेरा के प्रवक्ता संदीप मिश्रा ने पहली बार एबीपी न्यूज को इंटरव्यू दिया है. इंटरव्यू में डेरा की ओर से कहा गया है कि हनीप्रीत की जान को खतरा है.


नेपाल के बिराटनगर में एक पेट्रोल पंप पर बुर्के में दिखी हनीप्रीत
राम रहीम की राजदार हनीप्रीत नेपाल में बिराटनगर के पेट्रोल पंप पर देखी गई है. खबर है की हनीप्रीत को बुर्के मे बिराटनगर के पंजाबी पेट्रोल के नाम से मशहूर बिजया ऑटो सर्विस सेंटर से निकलते हुए देखा गया.


डेरा चेयरपर्सन का बड़ा खुलासा
कल सिरसा पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपासना इंसा को पूछताछ के लिए बुलाया था. करीब साढ़े तीन घंटे चली पूछताछ में विपासना इंसा ने बड़ा खुलासा किया. विपासना इंसा के मुताबिक हनी प्रीत राम रहीम के जेल जाने के बाद रोहतक से सिरसा में डेरा के मुख्यालय आयी थी.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story संसद शीतकालीन सत्र: केंद्र सरकार ने 14 दिसंबर को बुलाई सर्वदलीय बैठक