...तो इस तस्वीर ने मिलाया गीता को उसके परिवार से

By: | Last Updated: Monday, 26 October 2015 4:45 AM
How Geeta found her family

नई दिल्ली : भारत में गीता के आने की खबर एक खुशी का संदेश लेकर आई है. सालों के गीता न सिर्फ अपने घर से दूर रही बल्कि वक्त ने उससे उसका वतन भी छीन लिया. लेकिन, अब हालात बदल गए हैं और गीता कुछ ही दिनों में अपने पुराने घर में होगी. आप ये सोच रहे होंगे इतने सालों तक पाकिस्तान में रह रही गीता को उसका परिवार कैसे मिला.

दरअसल, गीता पूजा करती थी इससे ये तो साफ हो गया है कि गीता भारत की है. कुछ दिनों पहले भारतीय दूतावास के अधिकारी गीता से मिलने कराची पहुंचे थे और फिर गीता के पास पहुंची ये तस्वीर. ये महज एक तस्वीर नहीं थी गीता के लिए तो ये खोई हुई जिंदगी का पता था. तस्वीर में दर्ज उसने अपने माता-पिता के तौर पर पहचान लिया.

 

गीता की जुबान पर शब्द नहीं आते लेकिन उसकी बात को समझने वाले और फिर उसकी आवाज बनने वाले नाम हैं पाकिस्तान में नई जिंदगी देने वाले इधी चैरिटी फाउंडेशन से जुड़े बिलकिस ईधी और फैजल ईधी.

 

गीता कल 11 साल बाद पाकिस्तान से भारत आ रही है. गीता सुबह 10 बज कर 20 मिनट पर भारत की धरती पर कदम रखेगी. आपके चैनल एबीपी न्यूज़ ने इस विशेष कवरेज़ को आप तक पहुंचाने के लिए खास इंतजाम किए हैं. आप इस कवरेज़ को पूरे दिन एबीपी न्यूज़ पर देख सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: How Geeta found her family
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017