JNU Row: वकील विक्रम चौहान ने फेसबुक से रची थी कोर्ट में मारपीट की साजिश!

By: | Last Updated: Thursday, 18 February 2016 11:25 AM
How lawyer Vikram Singh Chauhan who led both assaults at Patiala court sought support on Facebook to ‘teach traitors a lesson’

नई दिल्ली:  बुधवार को दूसरी बार पटियाला हाउस कोर्ट में हिंसा और मारपीट हुई. इससे पहले 15 फरवरी दिन सोमवार को कन्हैया की पेशी के दौरान पटियाला हाउस कोर्ट में पत्रकारों और छात्रों के साथ मारपीट हुई थी. कल भी कोर्ट परिसर में कन्हैया कुमार पर हमला हआ. मारपीट की इन घटनाओं के आरोपी वकील विक्रम चौहान ने हमला करने से पहले अपने फेसबुक पेज से लोगों से समर्थन मांगा था.

चौहान के फेसबुक टाइमलाइन पर 11 से 16 फरवरी के बीच कुल 9 पोस्ट किए गए हैं जिनमें अपने साथियों से कोर्ट में समय से पहुंचकर ‘देशभक्ति दिखाने’ और ‘देशद्रोहियों को सबक सिखाने’ का अनुरोध किया है. अपने कुछ पोस्ट में तो इन्होंने ‘डायरेक्ट एक्शन’ लेने और ‘फेस-टु-फेस लड़ाई’ करने की भी बात कही है.

इतना ही नहीं ये वकील बीजेपी और आरएसएस के कितने करीबी है इसका प्रमाण देते हुए फेसबुक पर बड़े-बड़े नेताओं जैसे राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा, कैलाश विजयवर्गीय के साथ तस्वीरें भी पोस्ट की हैं. अपने पोस्ट में ये वकील खुद को बीजेपी का कार्यकर्ता भी बताते हैं.

आप इस वकील के कुछ फेसबुक पोस्ट पर नजर डालिए-

  • 11 फरवरी को विक्रम चौहान ने जेएनयू के मुद्दे पर अपना पहला पोस्ट लिखा. चौहान ने लिखा, ‘JNU के कथित अपराधी अब पटियाला हाउस कोर्ट में पेश हो सकते हैं. सभी वक़ील भाइयों से अपील है की इन लोगों को मुँह तोड़ जवाब दिया जाएगा. दिल्ली के अधिवक्ताओं ने समय समय पर पूरी दुनिया को अपनी ताक़त को दिखाया है. एक बार समय ने फिर कुछ विघटनकारी ताक़तों को साकेत कोर्ट भेजने का प्रबंध कर दिया है. आशा के अनुरूप उनका उचित ख्याल रखा जाएगा. राष्ट्र विरोधी प्रदर्शन की सोचने वालों को उचित संदेश दिया जाएगा.’ साथ में एक कविता भी चौहान ने पोस्ट की, ‘समर शेष है नहीं पाप का भागी केवल व्याध, जो तटस्थ हैं समय लिखेगा उनका भी अपराध….सुनो देश के गद्दारो, हम हिम्मत न हारेंगे, तुम लाखों अफजल गुरु पैदा करो, हम चुन चुन कर मारेंगे.’
  • 12 फरवरी को विक्रम चौहान ने एक पोस्ट किया जिसमें वो एक रैली में शामिल है. इस रैली की कुछ तस्वीरें भी शेयर की थीं. इसके साथ लिखा था, ‘इंडिया गेट पर आज राष्ट्रवादी छात्रों ने JNU प्रकरण पर आक्रोश व्यक्त करते हुए शांति मार्च निकाला. भारी जनसमूह एवं ग़ुस्से के बावजूद छात्रों ने अनुसाशन में रहकर नियंत्रित रहकर अपना विरोध प्रकट किया एवं संकेतात्मक गिरफ़्तारियाँ दी. देशविरोधी ताक़तों को बता दिया की इस देश का नवयुवक देश के लिए कोई भी बलिदान देने को तत्पर है.’
  • 13 फरवरी को विक्रम चौहान ने फेसबुक पर 94 लोगों को टैग करते हुए ये पोस्ट लिखा, ‘JNU में पाकिस्तान समर्थक अराजकतावादियों की गिरफ्तरियां शुरू हो गई हैं. करोड़ों हिंदुस्तानियों ने राहत की सास ली है. इन लोगों ने जो किया वो सुनियोजित तरीक़े से देश की राजधानी में एक षड्यंत्र के तहत अराजकता फैलाना था. दिल्ली विश्वविद्यालय एवं JNU के देशभक्त छात्रों ने एक जूट होकर इन लोगों के मंसूबो पर पानी फेर दिया है. आप सब भी देश प्रेमी हैं. आप लोगों से निवेदन है कि मंगलवार को सुबह पटियाला हाउस कोर्ट में पहुँच कर इन देशद्रोहियों को अपनी ताक़त का परिचय दे. कल भी कुछ वक़ील भाई इन लोगों का वकालतनामा ले कर खड़े थे हम लोगों को किसी भी क़ीमत पर इनकी ज़मानत या कोई रिलीफ नहीं मिलने देना हैं. आप सब वक़ील भाइयों से आग्रह है कि आप सब लोग ज़्यादा से ज़्यादा संख्या में पटियाला हाउस कोर्ट में पहुँचे इन लोगों को क़ानूनी तरीक़े से देश विरोधी गतिविधि में संलिप्तता दिखाने का सबक़ दें. हमारा देश हम्ही क़ानूनी रूप से सुधारें. भारत माता कि जय वक़ील एकता ज़िंदाबाद. दूध माँगोगे खीर देंगे आगे सबको पता है.’
  • 13 फरवरी को ही दूसरे पोस्ट में 85 लोगों को टैग करते हुए विक्रम चौहान ने लिखा, ‘आज आप लोगों की ज़रूरत आन पड़ी है तो परिवार के बुज़ुर्गों के मार्गदर्शन की आवश्यकता आन पड़ी है. JNU में जो दुखद घटना हुई है वो केस अब दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में आ गया है. सोमवार को उन तथाकथित आरोपियों की पेशी है आप सब लोग हम अधिवक्ता बिरादरी के मुखिया हो और हमारा प्रतिनिधित्व करते हो या कभी किया है. मैं आपका ध्यान इस मुद्दे पर आकर्षित कर रहा हुं कि हम सब धर्म से हिंदुस्तानी और जाति से वक़ील हैं. हम लोग कोई अराजतकवादी नहीं हैं. हम इस लड़ाई में अपना योगदान क़ानूनी रूप से दे सकते हैं. मेरी कुछ माँगे हैं जो आप लोगों से अनुरोध कर रहा हुं कि आप हम सब की तरफ़ से अदालत के सामने रखें.’ साथ ही लिखा, ‘सारा देश ही नहीं अपितु सारी दुनिया पटियाला हाउस कोर्ट और दिल्ली बार काउन्सिल की तरफ़ देख रही है. हम लोग यहाँ एक मिसाल रख सकते हैं कि आगे से इस देश में देश के ख़िलाफ़ बोलने वाले लाख बार सोच कर भी कुछ ना बोल पाएं. अतः आप लोगों से निवेदन है की आप सोमवार को न्यायालय में आकर हमारा पक्ष और हौसला बढ़ाएं और पूरी दुनिया को बता दें कि दिल्ली का वक़ील देश भक्त और न्यायप्रिय है एवं क़ानूनी रूप से इतना सक्षम है कि देश के ग़द्दारों को उनकी सही जगह पहुँचा सके.’
  • 15 फरवरी को पटियाला हाउस कोर्ट में पत्रकारों पर हमला हुआ औऱ मारपीट हुई. इसके एक दिन बाद 16 फऱवरी को विक्रम चौहान ने फेसबुक पर लिखा, ‘आज जिस तरह से सभी अधिवक्तागण देशद्रोहियों के ख़िलाफ़ एकजुट हो गए उसके लिए मैं सब भाइयों का तहे दिल से शुक्रगुज़ार हुं. आज दिल्ली बार काउन्सिल का सदस्य होने पर गर्व है. आज के बाद हिंदुस्तान में वो ही रहेगा जो जय हिंद कहेगा. ‘वक़ील एकता ज़िंदाबाद’, ‘भारत माता की जय’.
  • 16 फरवरी को दूसरा पोस्ट लिखा, ‘आज पूरे दिन का आकलन करके बड़ी उलझन में हुं, मुझे देश का सबसे बड़ा गुंडा बना दिया गया है, भारत माता के द्रोहियों को हीरो का दर्जा दे दिया गया है. कोर्ट में वामपंथियों के गुंडों का उत्पात का जवाब देना अगर गुंडई है, अगर ‘भारत माता की जय’ बोलना गुंडई है, अगर देश विरोधियों को जवाब देना गुंडई है, तो में भी अपने आपको गुंडा मानता हूं. मुझे इन सब के भौंकने की परवाह नहीं हैं, उनके उपद्रव को रोकने में अगर ये तमग़े भी मिले तो कोई परवाह नहीं. साथ ही अगले दिन पटियाला हाउस कोर्ट में बड़ी संख्या में पहुंचने की अपील की.
  • इसके बाद कल 17 फऱवरी को कल पटियाला हाउस कोर्ट में चौहान वकीलों के उस बड़े समूह का नेतृत्व कर रहे थे जो झंडे और ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ जैसे नारों के साथ कोर्ट परिसर पहुंचे थे. यहां पर वकीलों के बीच मारपीट हुई और उसके बाद कन्हैया कुमार पर हमला हुआ.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: How lawyer Vikram Singh Chauhan who led both assaults at Patiala court sought support on Facebook to ‘teach traitors a lesson’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017