गलती हुई, गजेंद्र की खुदकुशी के बाद मुझे भाषण नहीं देना चाहिए था: केजरीवाल

By: | Last Updated: Friday, 24 April 2015 3:48 AM
I made a mistake. Should have called off the rally (on Gajendra Singh’s suicide: Delhi CM Arvind Kejriwal

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी की रैली में खुदकुशी करने वाले किसान गजेंद्र सिंह पर पहली बार दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना मुंह खोला है. केजरीवाल ने कहा है कि उस दिन उन्हें रैली बंद कर देना चाहिए था, इस गलती का एहसास उन्हें बाद में हुआ. केजरीवाल ने अपनी इस गलती के लिए माफी मांगी है.

 

केजरीवाल ने कहा, “दो दिन पहले किसान रैली में किसाने आत्महत्या की. बहुत ही दर्दनाक घटना थी. मेरी जिंदगी में कभी ऐसा नहीं हआ. जो प्रश्न  उठ रहे हैं उस पर जवाब देना चाहता हूं. वहां स्टेज के ऊपर बैनर लगे थे.  झाड़ियों की वजह से पेड़ के अंदर क्या चल रहा है दिखाई नहीं दे रहा था. उस वक्त हम अनाउंस नहीं कर सकते थे. अगर ऐसा होता तो भगदड़ मच जाती. धीरे-धीरे पता चला कि कोई आत्महत्या की कोशिश कर रहा है. पेड़ के नीचे पुलिस थी वॉलंटियर्स थे. वहां किसी ने नहीं सोचा होगा कि वहां कोई आकर आत्महत्या कर लेगा. वहां जितने पुलिस वाले थे अगर उन्हें आभास होता कि ऐसा होगा तो वे जरूर बचा लेते. जब बॉडी नीचे उतरी तो अस्पताल लेकर गए.”

 

इंटरव्यू देते हुए केजरीवाल ने मीडिया को निशाने पर लिया. केजरीवाल का कहना था कि मीडिया ये सब टीआरपी के लिए कर रही है. केजरीवाल ने कहा कि अब इस मुद्दे पर चीथड़े उडाने बंद कर देना चाहिए और जांच करने देनी चाहिए.

 

खुदकुशी के बाद भी रैली को संबोधित करने पर केजरीवाल ने कहा, “मेरा भाषण एक घंटे का था लेकिन मैंने 10-15 मिनट बोलकर ही खत्म कर दिया. मुझे उस समय नहीं बोलना चाहिए था, यह मेरी गलती है. अगर मेरी वजह से किसी को ठेस पहुंची है तो मैं माफी मांगता हूं.”

 

केजरीवाल ने आज सुबह एएनआई को दिए इंटरव्यू में कहा, “जो दोषी है उसे सजा दे दीजिए. मुझे जब भी पूछताछ के लिए बुलाया जाएगा मैं जाऊंगा.” केजरीवाल ने साफगोई पेश करते हुए कहा, “मेरे सामने किसी ने खुदकुशी कर ली, पूरी रात मुझे नींद नहीं आई.”

 

केजरीवाल ने कहा अब चर्चा इस  पर हो कि किसान क्यों आत्महत्या कर रहे हैं. केजरीवाल के मुताबिक किसानों के लिए तीन मुद्दे हैं-

  • किसानों की मर्जी के बिना जमीन नहीं छीनी जाएगी
  • किसानों को उनकी फसलों का उचित दाम दिया जाएगा
  • किसान की खेती बर्बाद हो जाती है, तो मुआवजा मिलना उसका हक होना चाहिए

गजेंद्र खुदकुशी केस: केजरीवाल ने गलती मानी

 

गजेंद्र के परिवार ने माफी ठुकराई

गजेंद्र सिंह के परिवार वालों ने दिल्ली मुख्यमंत्री की माफी ठुकरा दी है. गजेंद्र सिंह की बहन ने कहा है कि उसके भाई की जान तो चली गई. गजेंद्र की बहन ने कहा, “मेरे भाई की तो जान गई, माफी मांगने से क्या होगा. केजरीवाल ने दो मिनट के रैली और भाषण नहीं रोका.”

 

गजेंद्र की बहन ने इस खुदकुशी को साजिश बताया. उन्होंने कहा, “मैंने अपने भाई को टीवी पर फांसी से लटकते देखा है. हमारे भैया को क्या दुख था तो वो आत्महत्या करता. हमारे भैया को किसी ने उकसाया है. वह ऐसा कभी नहीं कर सकता.”

 

गजेंद्र सिंह के भाई बिजेंद्र ने इस पर कहा है कि उस रैली में कब क्या और कैसे हुआ था सब कुछ विस्तार में बताना चाहिए. जांच एजेंसियों को सच्चाई बाहर लानी चाहिए और केजरीवाल को जांच में सहयोग देना चाहिए.”

 

माफी पर क्या बोली बीजपी

केजरीवाल की इस माफी पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी नेता नलिन कोहली ने कहा कि अब माफी मांगने से क्या होता  है एक इंसान की जान तो चली गई. नलिन ने कहा कि अगर ऐसा होता तो फिर कोई भी किसी को जान से मार दे और सॉरी बोल दे.

 

क्या है पूरा मामला

आपको बता दें कि बुधवार को राजधानी में जंतर-मंतर पर आयोजित आम आदमी पार्टी की किसान रैली में गजेन्द्र सिंह ने पेड़ पर फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली थी. यहां पर करीब पांच हजार लोग मौजूद थे और पांच सौ पुलिसवाले ड्यूटी पर थे. खुदकुशी के बाद भी पार्टी ने अपनी रैली जारी रखी और केजरीवाल ने भाषण दिया.

 

खुदकुशी के बावजूद रैली करने को लेकर अरविंद केजरीवाल  घिर गए हैं. बीजेपी और कांग्रेस ने केजरीवाल के खिलाफ में राजधानी में रैली निकाली और पूतले फूंके.

आम आदमी पार्टी का पक्ष है कि बार-बार कहने के बावजूद दिल्ली पुलिस ने पेड़ पर चढ़कर उस शख्स को नहीं बचाया.

 

गुरूवार को संसद में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने दिए अपने बयान में दिल्ली पुलिस को क्लीन चिट दे दी है. राजनाथ सिंह ने गजेंद्र सिंह जब पेड़ पर था तो नीचे पार्टी के कार्यकर्ता तालियां बजाकर उसे उकसा रहे थे. उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसे मामलों में सामान्य तौर पर ऐसे लोगों को बातों में लगाकर रखा जाता है ताकि उनकी सोच को बदला जा सके लेकिन भीड़ तालियां बजा रही थी और नारे लगा रही थी.’’

 

दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं पर एफआईआर दर्ज कर लिया है. इस एफआईआर में इन पर गजेंद्र सिंह के लिए खुदकुशी करने के लिए उकसाने का आरोप है. आप के कुछ बड़े नेताओं से दिल्ली पुलिस पूछताछ कर सकती है.

 

यह भी पढ़ें-

गजेंद्र खुदकुशी केस: गांव में हुआ अंतिम संस्कार, परिवार ने की CBI जांच की मांग

गजेंद्र खुदकुशी केस: FIR में ‘आप’ कार्यकर्ताओं और नेताओं पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप 

33 तरीके से साफा बांधना जानते थे गजेंद्र 

गजेंद्र खुदकुशी केस: जांच पर दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस में टकराव बढ़ा

गजेंद्र खुदकुशी कर रहा था और AAP के लोग ताली बजा रहे थे: राजनाथ 

गजेंद्र सिंह को किसने मारा? 

गजेंद्र की मौत पर शाहरुख बोले, ‘दर्द को समझिए, फायदा मत देखिए’  

 

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: I made a mistake. Should have called off the rally (on Gajendra Singh’s suicide: Delhi CM Arvind Kejriwal
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017