'गोली' खाकर 'गोला' दागेंगे एयरफोर्स के फाइटर पायलेट

By: | Last Updated: Monday, 8 February 2016 11:17 AM
IAF fighter pilots are using pills to boost alertness

नई दिल्ली : भारतीय वायु सेना के ‘बेड़े’ में जो नया ‘हथियार’ शामिल हुआ है उसके बारे में जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. असल में यह हथियार एक ‘गो/नो गो’ टेबलेट है जिसका इस्तेमाल वायुसेना के लड़ाके कर रहे हैं. 24 घंटे चलने वाले युद्धाभ्यास में इस दवा का सफल इस्तेमाल किया गया है.

टाइम्म ऑफ इंडिया के अनुसार इस दवा की मदद से न सोने के बाद होने वाली दिक्कतें गायब हो जाती हैं. इसके साथ ही लगातार काम करने के बावजूद जोश बना रहता है और आलस्य नहीं आता. पायलेट्स के अलावा इसे एयर ट्रैफिक कंट्रोल में बैठे लोगों को भी दिया जाता है.

‘गो’ टेबलेट में मोडाफिनिल दिया होता है जो अलर्टनेस को बढ़ाता है. इसके साथ ही ‘नो गो’ टेबलेट में जोलपीडेम होता है जो सोने में मदद करता है. जब काम हो तो ‘गो’ टेबलेट दी जाती है और आराम से पहले ‘नो गो’ दवा का सेवन कराया जाता है. टाइम्म ऑफ इंडिया के अनुसार एयरफोर्स के डाक्टरों ने कई सालों तक इन टेबलेट्स पर अध्ययन किया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: IAF fighter pilots are using pills to boost alertness
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017