पाक का दोहरा रवैया सामने आया, अलगाववादियों से मुलाकात के बाद शांति का पाठ

By: | Last Updated: Wednesday, 20 August 2014 7:47 AM

नई दिल्ली: कश्मीरी अलगाववादी नेताओं के मुलाकात के दूसरे दिन आज दिल्ली में पाकिस्तान के हाई कमिशनर अब्दुल बासित ने शांति का पाठ पढ़ाया है, जिससे पाकिस्तान का दोहरा रवैया सामने आ गया है.

 

अब्दुल बासित ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि दोनों देशों के बीच बातचीत रुकनी नहीं चाहिए और पाकिस्तान शांति और सुरक्षा का पक्षधर है.

 

पाक की तरफ से जारी है सीज़फायर का उल्लंघन, एक महीने में 40 आतंकी भारत में घुसे 

 

कश्मीरी अलगाववादी नेताओं से मुलाकात पर पाकिस्तान के उच्चायुक्त ने सफाई दी कि पाकिस्तान उनसे पहले भी बातचीत करता रहा है और कश्मीर की समस्या के हल के लिए सभी पक्षों से बातचीत जरूरी है.

 

भारत पर सीज़फायर के उल्लंघन का आरोप

 

सीजफायर को लेकर पाकिस्तान ने उल्टे भारत पर आरोप लगा दिए. पाकिस्तान के उच्चायुक्त ने कहा भारत की ओर से 57 बार सीजफायर का उल्लंघन किया गया है.

 

भारत और पाकिस्तान को मिलकर काम करने की वकालत करते हुए अब्दुल बासित ने कहा, “अगर भारत और पाकिस्तान मिलकर काम करें तो आसमां हमारी हदें होंगीं.”

 

पाकिस्तान से आतंकवादियों को खदेड़ने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि सात से आठ हफ्ते में पाकिस्तान अपनी ज़मीन को आतंकवादियों से खाली करालेगा. बासित के मुताबिक पाकिस्तान भी आतंकवाद से पीड़ित है और उसे 15000 लोगों की जान गंवानी पड़ी है.

 

बासित ने साफ किया कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते तभी पटरी पर आएंगे जब दोनों देश नजीता देने वाले और सार्थक बातचीत करें.

 

बासित ने कहा, “हमें व्यापक और सार्थक बातचीत की ओर बढ़ना चाहिए. वक़्त आ गया है कि हम आगे बढ़ें और दोनों देश टकराने की बजाए परस्पर सहयोग की ओर बढ़ें.”

 

आपको बता दें अब्दुल बासित की ये पीसी इसलिए अहम थी क्योंकि तीन दिन पहले ही भारत ने 25 अगस्त को पाकिस्तान से प्रस्तावित सचिव स्तर की बातचीत रद्द कर दी थी. भारत ने ये कदम पाकिस्तानी हाई कमिशनर की दिल्ली में कश्मीरी अलगाववादी नेताओं से मुलाकात के विरोध में उठाया था.