बदलते बिहार की तस्वीर: 51% घरों में फोन और 23% में शौचालय

By: | Last Updated: Monday, 25 August 2014 6:57 AM
In Bihar 51% household has mobile phones and only 23% has toilets

नई दिल्ली: बिहार से जुड़ी ये ख़बर दिलचस्प और चौंकाने वाली है. दरअसल राज्य के 51% घरों में मोबाइल फोन है, मतलब इन 51% घरों में कम से कम एक फोन तो जरूर है. अब चौंकाने वाला हिस्सा, राज्य के महज 23% घरों में शौचालय है. यह आंकड़ा पिछले हफ्ते जारी किए गए 2011 के जनगणना में सामने आया है.

 

इन 23% शौचालयों में शहरी हिस्सों में 69% शौचायल हैं और ग्रामीण इलाकों में महज 17.6% हैं.

 

एए सिन्हा इंस्टिट्युट थिंक टैंक के डॉयरेक्टर डीएम दिवाकर का कहना है, “बिहार जैसे गीरब और ज़मीनदारी प्रथा से प्रभावित राज्य में मोबाइल फोन दबे-कुचलों को उठने में मदद करता है. यह लोगों को दूर तक दूसरों से जुड़ने में मदद करता है जिससे दबे-कुचले लोगों में एक साहस और मजबूती का एहसास पैदा होता है.”

 

लेकिन पब्लिक हेल्थ इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट (पीएचईडी) के मंत्री महाचंद्र प्रसाद सिंह ने स्विकार किया कि 2011 की जनगणना के बाद राज्य में शौचालयों की स्थिति ना के बराबर बदली है.

 

महाचंद्र प्रसाद कहते हैं कि अगर पूरे राज्य की बात की जाय तो यहां महज 25% शौचालय ही हैं.

 

केंद्र ने शौचालय निर्माण के लिए 1999 में जो टोटल सैनिटेशन कैंपेन (टीसीएस- पूर्ण स्वच्छता अभियान) शुरू किया था, राज्य को उसका थोड़ा ही फायदा पहुंचा है. इस योजना के तहत केंद्र शौचालय निर्माण के लिए आर्थिक सहयता देता है. पीने का पानी और स्वच्छता मंत्रालय ने अगस्त के महीने में जो आंकड़े जारी किए हैं उसमें 47,61,388 शौचालयों का ही निर्माण हुआ है जबकि लक्ष्य 11,171,314 शौचालय बनाने का था.

 

महाचंद्र प्रसाद का कहना है कि 2019 तक राज्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए 1.67 करोड़ शौचलयों के निर्माण की जरूरत है. उन्होंने कहा कि फिलहाल इसके लिए वो दिल्ली का चक्कर लगा रहे हैं ताकि योजना के लिए केंद्र सरकार की सहायता प्राप्त की जा सके.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: In Bihar 51% household has mobile phones and only 23% has toilets
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017