सतीश उपाध्याय पर लगाए आरोपों पर अड़े केजरीवाल

By: | Last Updated: Friday, 23 January 2015 6:11 AM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय द्वारा किए गए मानहानि मामले में चुनाव आयोग को जवाब दे दिया है. आज चुनाव आयोग को दिए जवाब में अरविंद केजरीवाल ने सतीश उपाध्याय पर लगाए उन आरोपों को फिर से दोहराया है. केजरीवाल ने कहा है कि वे अपने आरोपों पर अड़े हुए हैं.

 

आपको बता दें कि  अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष सतीश उपाध्याय और उपाध्यक्ष आशीष सूद पर बिजली कंपनियों से सांठगांठ के आरोप लगाए थे. केजरीवाल ने यह भी दावा किया था कि उनके पास इन आरोपों को सिद्ध करने के लिए पुख्ता सबूत भी हैं.

 

हालांकि सतीश उपाध्याय और आशीष सूद ने केजरीवाल के इन आरोपों को सिरे से नकार दिया था और केजरीवाल की चुनाव आयोग से शिकायत की थी. सतीश उपाध्याय ने इन आरोपों पर कहा था कि अगर उनपर लगे आरोप सिद्ध हो जाते हैं तो वे सक्रीय राजनीति छोड़ देंगे.

 

क्या हैं केजरीवाल के आरोप-

केजरीवाल ने आरोप लगाते हुए कहा था, ‘आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली की बिजली कंपनियों का ऑडिट शुरू करवाया था. अभी बीजेपी की सरकार के दौरान ये बिजली कंपनियां ऑडिट करने के लिए अपने बही-खाते ही नहीं दे रहीं. कई बार बीजेपी सरकार से अपील कर चुका है कि बिजली कंपनियों पर दबाव डालकर उनके बही-खाते दिलवाए जाएं. लेकिन बीजेपी सरकार ने बिजली कंपनियों के ऑडिट के पूरे मुद्दे को ठंडे बस्ते में डाल दिया है. आखिर बीजेपी बिजली कंपनियों को इतनी मदद क्यों कर रही है?’

 

केजरीवाल ने बीजेपी अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘कुछ दस्तावेज सामने आए हैं उनके मुताबिक दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय जी की 6 कंपनियां हैं. इनमें से एक कंपनी दिल्ली में बिजली की कंपनी के लिए मीटर लगाने और बदलने का काम करती रही है. बीजेपी के उपाध्यक्ष आशीष सूद इस कंपनी में निदेशक रह चुके हैं. दिल्ली में लगभग सभी लोग लगातार इन मीटरों की शिकायत करते रहे हैं. लोगों की शिकायत है कि मीटर तेज चलते हैं और अनाप-शनाप बिल आ रहे हैं. यह वाकई चौकाने वाली बात है कि ये मीटर दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष की कंपनियां ने लगाए हैं.’

 

सात फरवरी को दिल्ली में मतदान

आपको बता दें कि दिल्ली में 7 फरवरी को वोटिंग होगी तो 10 फरवरी को वोटों की गिनती होगी. साल 2013 में दिल्ली में हुए विधानसभा  चुनाव में बीजेपी को 32,आप को 28, कांग्रेस को आठ और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. उस समय कांग्रेस के समर्थन से आप ने सरकार ने बनाई थी जो 49 दिनों तक चली और फिर दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: In his reply to Election Commission, Arvind Kejriwal repeated the same allegations put on BJP Delhi unit chief Satish Upadhyay
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017