भारत, इटली ने रेल सुरक्षा और ऊर्जा क्षेत्र सहित छह समझौतों पर किया हस्ताक्षर | India and Italy sign six pacts including railways security

भारत, इटली ने रेल सुरक्षा और ऊर्जा क्षेत्र सहित छह समझौतों पर किया हस्ताक्षर

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "स्मार्ट सिटी, फूड प्रोसेसिंग, फार्मास्यूटिकल्स और इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे क्षेत्रों में हमारी जरूरत को इटली की विशेषज्ञता और क्षमताओं से पूरा किया जा सकता है."

By: | Updated: 30 Oct 2017 10:54 PM
India and Italy sign six pacts including railways security

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके इटली के समकक्ष पाओलो जेंटिलोनी की नेतृत्व में सोमवार को हुई प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक के बाद दोनों देशों ने छह समझौतों पर हस्ताक्षर किए, जिसमें रेल सुरक्षा और ऊर्जा क्षेत्र भी शामिल हैं. पीएम मोदी ने पिछले 10 सालों में भारत की यात्रा करने वाले पहले इतालवी प्रधानमंत्री जेंटिलोनी के साथ बैठक के बाद मीडिया को दिए गए एक सयुक्त संबोधन में कहा, "भारत और इटली दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाएं हैं और हमारे वाणिज्यिक सहयोग को बढ़ावा देने की काफी संभावनाएं हैं." नौसैनिक मामले को लेकर पिछले पांच सालों से भारत और इटली के रिश्तों में आई तल्खी के बाद सोमवार को दोनों देशों ने इन समझौतों पर हस्ताक्षर किए.


पीएम मोदी ने कहा, "हमारा द्विपक्षीय व्यापार जो वर्तमान में 8.8 अरब डॉलर है, इसमें बढ़ोतरी की काफी संभावना है." उन्होंने कहा कि जेंटिलोनी के साथ इटली के व्यापारियों के उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ चर्चा उन्हें काफी सकारात्मक नजर आई है. उन्होंने भारतीय कंपनियों के साथ भागीदारी में भारत के प्रमुख कार्यक्रमों में इटली की कंपनियों की भागीदारी का आह्वान किया.


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "स्मार्ट सिटी, फूड प्रोसेसिंग, फार्मास्यूटिकल्स और इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे क्षेत्रों में हमारी जरूरत को इटली की विशेषज्ञता और क्षमताओं से पूरा किया जा सकता है." भारत और इटली के बीच कूटनीतिक संबंध साल 2012 के फरवरी में बिगड़ गए थे, जब इटली के व्यापारिक पोत एनरिका लेक्सी से दो नौसैनिकों मैसिमिलियानो लातोरे और साल्वातोरे गिरोने की तरफ से की गई गोलीबारी ने केरल के दो भारतीय मछुआरों की जान ले ली थी. इस मामले की सुनवाई अब हेग स्थित अंतर्राष्ट्रीय अदालत कर रही है और भारत ने दोनों नौसैनिकों को इटली लौटने की अनुमति दे दी है.


भारत और इटली के बीच तनातनी से यूरोपीय संघ और भारत के बीच मुक्त व्यापार वार्ता को लेकर हो रही बातचीत भी प्रभावित हुई है. दोनों देशों द्वारा बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि 'मोदी और जेंटिलोनी ने भारत-इटली के मजबूत आर्थिक संबंधों की सराहना की और व्यापक आर्थिक सहयोग बढ़ाने को लेकर प्रतिबद्धता जताई.'


दोनों पक्षों ने रेलवे की सुरक्षा के लिए सहयोग के एक संयुक्त घोषणा-पत्र पर हस्ताक्षर किए. भारत और इटली के बीच ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए. वहीं, इटली की ट्रेड एजेंसी और इन्वेस्ट इंडिया के बीच आपसी सहयोग को लेकर एक अन्य एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए.


भारत-इटली कूटनीतिक रिश्तों के 70 साल पूरा होने के मौके पर भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद और इटली के विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए.


इटली के विदेशी मामलों और अंतर्राष्ट्रीय सहयोग मंत्रालय की प्रशिक्षण इकाई और भारत के विदेश मंत्रालय के विदेश सेवा संस्थान के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए. भारत और इटली के बीच सांस्कृतिक सहयोग पर एक कार्यकारी प्रोटोकॉल पर भी हस्ताक्षर किए गए. जेंटिलोनी यहां रविवार को पहुंचे. 2007 में तत्कालीन प्रधानमंत्री रोमानो प्रोडी की यात्रा के बाद इटली के किसी प्रधानमंत्री की यह पहली भारत यात्रा है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: India and Italy sign six pacts including railways security
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गुजरात चुनाव: पीएम के अभिवादन पर कांग्रेस को आपत्ति, मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने दिए जांच के आदेश