पठानकोट हमला: भारत ने पाक को सौंपे सबूत, खटाई में पड़ सकती है 15 जनवरी की बातचीत

By: | Last Updated: Tuesday, 5 January 2016 7:27 AM
india gives proofs to pak

नई दिल्ली: सरकारी सूत्रों के मुताबिक भारत ने पाकिस्तान को पठानकोट हमले को लेकर सुबूत मुहैया करा दिये है. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने बयान जारी कर कहा है कि पठानकोट हमले में भारत द्वारा मुहैया कराए गए लीड्स पर काम कर रहे हैं. उधर पठानकोट वायुसैनिक अड्डे में छिपे दो और आतंकवादियों को सुरक्षा बलों ने सोमवार को तीन दिन बाद मार गिराया वहीं सरकार ने कहा कि अब तक छह आतंकवादी मारे जा चुके हैं लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि क्या सारे आतंकवादियों का सफाया हो गया है.

सरकार के सूत्रों ने एबीपी न्यूज को बताया है कि पाकिस्तान को पठानकोट हमले के सबूत सौंपे गए हैं. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में भी कहा गया है कि पाकिस्तान सरकार पठानकोट हमले को लेकर भारत सरकार के संपर्क में है. सरकार के सूत्रों ने ABP न्यूज से कहा है कि आतंकी हमले की वजह से 15 जनवरी को होने वाली भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बातचीत रद्द हो सकती है.

सबसे बड़ा सवाल यही है कि क्या पठानकोट के आतंकी हमले के बाद 15 जनवरी को प्रस्तावित भारत-पाकिस्तान की बातचीत हो पाएगी?

पीएम मोदी ने सोमवार को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद् की बैठक की अध्यक्षता की जिसके बाद वित्त मंत्री अरूण जेटली ने कहा कि चार आतंकवादियों के शव बरामद कर लिए गए हैं और शेष दो आतंकवादियों के शरीर पर एक्सपोजिव है जिन्हें प्रॉसेस किया जा रहा है. अधिकारियों ने पिछले दो दिनों में आतंकवादियों की संख्या छह बताई थी और जेटली की तरफ से दिए गए आंकड़े से पता चलता है कि सभी आतंकवादी मारे जा चुके हैं. बहरहाल सरकार का कोई भी नुमाइंदा यह बताने को तैयार नहीं है कि वायुसैनिक अड्डे के अंदर और आतंकवादी हैं या नहीं या ऑपरेशन खत्म हुआ है या नहीं.

pathankot1

एनएसजी के महानिरीक्षक मेजर जनरल दुशांत सिंह ने मीडिया से कहा कि ऑपरेशन अब भी जारी है और तब तक जारी रहेगा. जब तक हम अड्डे को पूरी तरह सुरक्षित नहीं कर लेते हैं. इस आतंकी हमले में 7 भारतीय जवान शहीद हुए है और 20 जवान घायल हुए हैं. इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठनों के गठबंधन यूनाईटेड जेहाद काउंसिल ने ली है. वहीं सूत्रों के मुताबिक आतंकी हमले की वजह से 15 जनवरी को होने वाली भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बातचीत रद्द हो सकती है.

पठानकोट हमले में पहली बार सरकार ने सीधे-सीधे पाकिस्तान का नाम लिया है. प्रधानमंत्री मोदी ने दो दिन पहले कहा था देश के दुश्मनों नें युद्ध जैसा हमला किया है लेकिन उन्होंने पाकिस्तान का नाम नहीं लिया था. गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने भी पाकिस्तान का नाम नहीं लिया था. अब सड़क परिवहन मंत्री गडकरी ने कहा है  पाकिस्तान हमसे कभी सीधे युद्ध नहीं जीत सकता- इसलिए आतंकी साजिश रचता है. पठानकोट जैसे हमले पर उन्होंने कहा ऐसी घटनाओं पर ईंट का जवाब पत्थर से देंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: india gives proofs to pak
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017