अमेरिकी रिपोर्ट पर बीजेपी: संस्कृति से अनजान धार्मिक स्वतंत्रता का सर्टिफिकेट ना दें

By: | Last Updated: Saturday, 2 May 2015 2:44 AM

नई दिल्ली: अमेरिकी कांग्रेस के एक पैनल की भारत में धार्मिक स्वतंत्रता पर रिपोर्ट पर तीखी प्रतिक्रिया जताते हुए बीजेपी ने कहा कि देश को एनजीओ लाइसेंस के मुद्दे को लेकर नहीं आंका जाना चाहिए और ‘‘इक्का दुक्का’’ मामलों को लेकर उसकी छवि नहीं बनायी जानी चाहिए.

 

वहीं कांग्रेस ने कहा कि यह ‘‘जमीनी वास्तविकता’’ है कि बीजेपी नेता ‘‘बांटने वाले और साम्प्रदायिक’’ बयान दे रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं.

 

संसदीय मामलों के राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘‘भारतीय संस्कृति, समाज, परंपराओं और संविधान से अनजान लोगों द्वारा देश के सामाजिक सौहार्द और धार्मिक स्वतंत्रता के बारे में प्रमाणपत्र देना उचित नहीं है.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘हमारा संविधान, संस्कृति और सरकार भारत में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और स्वतंत्रता सुनिश्चित करने को प्रतिबद्ध हैं. कृपया एनजीओ लाइसेंस के मुद्दे के जरिये हमारी धार्मिक स्वतंत्रता का आकलन नहीं कीजिये.’’

 

धर्मांतरण और घर वापसी को लेकर अमेरिकी रिपोर्ट में मोदी सरकार की जमकर खिंचाई 

 

नकवी ने कहा कि कुछ इक्का दुक्के मामलों का इस्तेमाल देश की छवि बनाने में नहीं किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि नस्ली भेदभाव जैसी इक्का दुक्का घटनाएं विश्व के सभी क्षेत्रों में होती हैं लेकिन किसी को ऐसी घटनाओं के आधार पर पूरे देश का आकलन नहीं करना चाहिए.

 

उधर कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम यहां पर (किसी ऐसी रिपोर्ट का) समर्थन करने के लिए नहीं हैं. भारत को किसी अन्य देश से सबक सीखने की जरूरत नहीं है.’’

 

उन्होंने रिपोर्ट के बारे में उल्लेख करने पर कहा, ‘‘हम और आप जिसे जमीनी वास्तविकता के रूप में देख रहे हैं, यह उसे दोहराता है.’’

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार की ‘‘दुखद सच्चाई’’ यह है कि बीजेपी नेता, सांसद, विधायक बांटने वाले और साम्प्रदायिक’’ बयान दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कुछ सामान्य बयानबाजी करते हैं ‘‘लेकिन किसी के खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है.’’

 

अमेरिकी कांग्रेस के एक पैनल ने कहा है कि 2014 में मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से भारत में धार्मिक अल्पसंख्यकों को ‘‘हिंसक हमले, जबर्दस्ती धर्मांतरण’’ और आरएसएस जैसे समूहों के ‘‘घर वापसी’ अभियानों का सामना करना पड़ा है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: India shouldn’t be stereotyped by “isolated” cases: BJP
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017