IAF begins process to procure 100 fighter jets मोदी सरकार ने एयर फोर्स के लिए शुरू की 100 से अधिक लड़ाकू विमान की खरीद प्रक्रिया

मोदी सरकार ने शुरू की 100 से अधिक लड़ाकू विमानों की खरीद प्रक्रिया, वायुसेना की बढ़ेगी ताकत

केंद्र की मोदी सरकार ने वायुसेना के लिए 114 लड़ाकू विमान खरीदने का फैसला किया है. इसके लिए रक्षा मंत्रालय ने टेंडर प्रक्रिया शुरु कर दी है.

By: | Updated: 07 Apr 2018 09:47 AM
Indian Air Force IAF begins process to procure 100 fighter jets Under PM Modi Make in India

नई दिल्ली: चीन और पाकिस्तान से घटते-बढ़ते तनावों के बीच भारतीय वायुसेना को जल्द ही 100 से अधिक लड़ाकू विमान की ताकत मिल सकती है. केंद्र की मोदी सरकार ने वायुसेना के लिए 114 लड़ाकू विमान खरीदने का फैसला किया है. इसके लिए रक्षा मंत्रालय ने टेंडर प्रक्रिया शुरु कर दी है.


इनमें से 15 प्रतिशत फाइटर जेट्स (लड़ाकू विमान) विदेशी कंपनियों से सीधे खरीदे जाएंगे और बाकी 85 प्रतिशत 'मेक इन इंडिया' के तहत देश में ही तैयार किए जाएंगे. इसके लिए स्ट्रेटजिक पार्टनरशिप के तहत कोई भी भारतीय कंपनी किसी विदेशी कंपनी से करार कर इस टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा ले सकती है. इनमें से 25 प्रतिशत टू-इन सीटर जेट्स होगें (यानि ट्रेनिंग के लिए) और बाकी 75 प्रतिशत सिंगल-सीटर हैं.


ध्यान रहे की वायुसेना स्क्वाड्रन की कमी से जूझ रही है. एक स्क्वाड्रन में 16 से 18 विमान होते हैं. सेना के पास 42 स्क्वाड्रन रखने की स्वीकृति है लेकिन इस समय कुल 31 स्क्वाड्रन ही सक्रिय रूप में तैनात हैं. पिछले दिनों रक्षा संबंधी स्थायी समिति ने विमान की कमी पर चिंता जताई थी.


केंद्र की मोदी सरकार ने सितंबर 2016 में फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने का फैसला किया था. यह करीब 59,000 करोड़ का सौदा है. हालांकि इसमें देरी हो रही है. वहीं विपक्षी दलों खासकर कांग्रेस ने इस डील में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं.


वायुसेना ने चीनी बॉर्डर के करीब सी17 ग्लोबमास्टर की लैंडिंग कर रचा इतिहास

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Indian Air Force IAF begins process to procure 100 fighter jets Under PM Modi Make in India
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story दिल्ली हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिन्दर सच्चर का निधन, 'सच्चर कमेटी' के रहे थे अध्यक्ष