गंभीर होने तक पीठ दर्द को नजरंदाज करते हैं भारतीय

By: | Last Updated: Wednesday, 15 October 2014 11:56 AM
Indian avoid backpain till it become seroius

मुंबई: पीठ दर्द की समस्या को नजरंदाज करने की आपको भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है, क्योंकि हालिया अध्ययन में यह बात सामने आई है कि भारत के अधिकतर लोग पीठ दर्द को शुरुआती दिनों में नजरंदाज करते हैं और स्थिति गंभीर होने पर ही मेडिकल मदद लेते हैं.

 

विश्व मेरुदंड दिवस (16 अक्टूबर) पर चिकित्सकों ने चेतावनी स्वरूप कहा है कि पीठ दर्द होने पर दर्द निवारक दवा लेना इसका समाधान नहीं है. मधुमेह की ही तरह पीठ का दर्द हमारे शरीर के अन्य अंगों को भी प्रभावित करता है तथा समय बीतने के साथ ही वह बेहद गंभीर होता चला जाता है.

 

क्यूआई स्पाइन क्लीनिक के निथिज अरेंजा ने कहा, “यह समझना जरूरी है कि पीठ का दर्द खतरे का संकेत है. अरेंजा ने कहा, “पीठ का दर्द गंभीर मेडिकल समस्या का संकेत हो सकता है, हालांकि यह मूल कारण नहीं हो सकता.”

 

करीब 7,968 मरीजों के मेडिकल आंकड़ों के अध्ययन के बाद शोधकर्ता इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि 56 फीसदी लोगों ने पीठ दर्द में चिकित्सकीय मदद लेने में एक से डेढ़ महीने का समय लिया.

 

निष्कर्ष के मुताबिक, पीठ दर्द के गंभीर होने का वर्ल्डवाइड ट्रेंड 20 फीसदी है, जबकि भारत में 56 फीसदी मरीज पीठ दर्द की समस्या के गंभीर स्थिति में पहुंचने के बाद मेडिकल सलाह के लिए पहुंचते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Indian avoid backpain till it become seroius
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लाउडस्पीकर पर बड़ा बयान दिया है. सीएम योगी...

बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

नई दिल्ली: तंत्र साधना के लिए 2 साल के बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट...

जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’
जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’

बेंगलूरू: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक सरकार की सस्ती खानपान सुविधा का उद्घाटन...

घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों को तोहफा, 70% सस्ती होगी नी-रिप्लेसमेंट
घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों को तोहफा, 70% सस्ती होगी नी-रिप्लेसमेंट

नई दिल्ली: घुटने के दर्द से परेशान बुजुर्गों के लिए अच्छी खबर है. मोदी सरकार ने नी-रिप्लेसमेंट...

बिहार में बाढ़ का कहर: अबतक 72 की मौत, पानी घटा पर मुश्किलें जस की तस
बिहार में बाढ़ का कहर: अबतक 72 की मौत, पानी घटा पर मुश्किलें जस की तस

पटना: पडोसी देश नेपाल और बिहार में लगातार हुई भारी बारिश के कारण अचानक आयी बाढ़ से बिहार बेहाल...

गोरखपुर ट्रेजडी: पिछले दो दिनों में और 35 बच्चों की मौत, DM की जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा
गोरखपुर ट्रेजडी: पिछले दो दिनों में और 35 बच्चों की मौत, DM की जांच रिपोर्ट में...

गोरखपुर: गोरखपुर में पिछले दो दिनों में 35 और बच्चों की मौत हो चुकी है. मेडिकल कॉलेज में 10 से 12...

दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में फैला स्वाइन फ्लू, देश में अबतक 600 की मौत
दिल्ली, यूपी समेत कई राज्यों में फैला स्वाइन फ्लू, देश में अबतक 600 की मौत

नई दिल्ली: देश के कई इलाकों में स्वाइन फ्लू कहर बरपा रहा है. अकेले गुजरात में ही इस साल स्वाइन...

सऊदी अरब: रियाद में फंसी लड़की की वापसी के लिए बहनों ने सुषमा से लगाई गुहार
सऊदी अरब: रियाद में फंसी लड़की की वापसी के लिए बहनों ने सुषमा से लगाई गुहार

नई दिल्ली/रियाद:  विदेशों में फंसे भारतीयों की जी जान से मदद करने वाली विदेश मंत्री सुषमा...

J&K: पुलवामा में लश्कर के जिला कमांडर अयूब लेलहारी को किया गया ढेर
J&K: पुलवामा में लश्कर के जिला कमांडर अयूब लेलहारी को किया गया ढेर

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के जिला कमांडर को आज...

गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी हादसे की जिम्मेदार
गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर और ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली...

नई दिल्ली: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 10 अगस्त से 12 अगस्त के बीच 48 घंटे के भीतर 36 बच्चों की...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017