दुनिया अब देखेगी भारत की समुद्री ताकत!

India’s International Fleet Review

नई दिल्ली: समंदर पर जो राज करेगा वही दुनिया पर राज करेगा और इसीलिए हिंद महासागर से लेकर दक्षिण चीन सागर पर आंख गड़ाए बैठे रहती हैं चीन और अमेरिका जैसी महाशक्तियां. इसी उबलते माहौल में समंदर में अपना दमखम दिखाने को तैयार है भारत.

आंध्रप्रदेश के तटीय शहर विशाखापट्टनम यानि सिटी ऑफ डेस्टेनी में कल से शुरु हो रहा है इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू. दुनियाभर की 52 देशों की नौसेनाएं बंगाल की खाड़ी में पहुंच चुकी हैं. दुनियाभर की नौसेनाओं के जंगी बेड़े के साथ भारतीय नौसेना की पूरी समुद्री ताकत इस समारोह में दिखाई देगी.

अपने थीम सोंग अहोय की तरह ही भारतीय नौसेना ने दुनियाभर के सभी ताकतवर और मित्र देशों को इस इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू यानि अंतर्राष्ट्रीय जंगी बेड़े की समीक्षा समारोह में आमंत्रित किया और सब विशाखापट्टनम यानि वाईज़ेग (VIZAG) में पहुंच गईं हैं.

अहोय दरअसल, समुद्र में चलने वाले नाविकों और नौसैनिकों का एक सांकेतिक शब्द है. इस शब्द को वे सभी एक दूसरे को बुलाने के लिए देते हैं. हजारों किलोमीटर के दायरे तक फैले हुए समुद्र में अगर कोई नाविक किसी दूसरे नाविक को अहोय लगाकर आवाज लगाता है तो दूसरा नाविक तुरंत उसकी आवाज सुनकर उससे मिलने के लिए पहुंच जाता है. बस इसी अहोय के आहवान पर दुनियाभर की नौसेनाएं भारतीय नौसेना के बुलावे पर भारत के समुद्री-तट पर पहुंच गई हैं.

दुनिया की किसी भी ताकतवर नौसेना का नाम लें और वो विशाखापट्टनम में हाजिर है. दुनिया की दो सबसे बड़ी समुद्री ताकत, अमेरिका हो या रूस, ब्रिटेन हो या जापान, या फिर इजरायल या फिर पड़ोसी देश श्रीलंका और बांग्लादेश या फिर वियतनाम, सब यहां जुट रहीं हैं. और सबसे चौकान्ने वाला नाम है चीन का.

चीन हमेशा से भारत का पारंपरिक दुश्मन माना जाता है. चीन की पनडुब्बी लगातार भारत के युद्धपोत पर चुपचाप नजर रखने के लिए कभी बंगाल की खाड़ी और कभी अरब सागर में दिखाई पड़ ही जाती है. लेकिन आईएफआर में हिस्सा लेने के लिए जब भारतीय नौसेना ने बुलाया, तो चीन अपने दो युद्धपोतों के साथ विशाखापट्टनम पहुंच रहा है. यानि दोनों देशों की पुरानी दुश्मनी अब दोस्ती में बदलती दिखाई पड़़ रही है.

जो 52 देशों की नौसेनाएं इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू में हिस्सा ले रही हैं उसमें से 36 देश तो अपने युद्धपोतों के साथ इस समारोह में शिरकत कर रहे हैं. बाकी देशों के डेलीगेशन और बड़े सैन्य-अधिकारी भाग ले रहे हैं. नौसेना के मुताबिक, पाकिस्तान को भी इस समारोह के लिए न्यौता भेजा गया था, लेकिन उसने आने में दिलचस्पी नहीं दिखाई.

लेकिन 52 देशों की नौसेनाओं के साथ भारतीय नौसेना की पूरी ताकत का प्रदर्शन इस जंगी बेड़े की समीक्षा में दिखाई पड़ेगी. समंदर के ये सिकंदर दुनिया को दिखाएंगे भारत की ताकत. भारतीय नौसेना की परमाणु पनडुब्बी.

आईएनएस चक्र को भी पहली बार दुनिया आंखों के सामने देखेगी. 8000 टन वाली परमाणु पनडुब्बी आईएनएस चक्र पलक झपकते ही दुश्मन की पनडुब्बियों और जहाज पर हमला करने में सक्षम है तो भारत के सबसे बड़े और ताकतवर युद्धपोत आईएनएस विक्रमादित्य का जलवा भी आईएफआर में देखने को मिलेगा. आईएनएस विक्रमादित्य में तैनात इजराइल निर्मित बराक-1 मिसाइल 9 किलोमीटर के दायरे में अपने दुश्मन की हर मिसाइल के परखच्चे उड़ा सकती है.

निगाहें उन विदेशी युद्धपोत पर भी होंगी जिन्हें दुनिया की बड़ी समुद्री ताकतें भेज रहीं हैं. मसलन, अमेरिकी नौसेना के सातवें बेड़े का गाइडेड मिसाइल डिस्ट्रॉयर USS McCAMBELL भी फ्लीट रिव्यू का हिस्सा बनेगा. आस्ट्रेलियाई नौसेना का HMAS Darwin भी फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लेने के लिए विशाखापत्तनम पहुंचा है. चीन के दक्षिण चीन सागर बेड़े में शामिल गाइडेड मिसाइल फ्रिग्रेट लिझाऊ और सनया भी फ्लीट रिव्यू में शामिल हो रहे हैं.

कुल मिलाकर भारत और विदेशी नौसेनाओं के करीब 100 युद्धपोत और पनडुब्बियां इस समारोह में अपना दमखम दिखाएंगे. विश्व के कुल व्यापार का 90 फीसदी हिस्सा समुद्र के जरिए ही होता है लिहाजा सभी देशों की नौसेनाओं के जुटने से भारत को इसका फायदा भी मिल सकता है.

फ्लीट रिव्यू सदियों से दुनियाभर की नौसेनाएं अपनी ताकत दुनिया को दिखाने के लिए करती आईं हैं. भारत में भी आजादी के बाद से नौसेना की फ्लीट रिव्यू की पंरपरा रही है. हर राष्ट्रपति अपने कार्यकाल में कम से कम एक बार भारतीय नौसेना के जंगी बेड़े की समीक्षा करता आया है. 1953 से लेकर अबतक 10 बार इस तरह का समारोह हो चुका है. भारतीय नौसेना ने भी वर्ष 2001 में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू का आयोजन किया था. इस रिव्यू में भारत ने अपने मित्र देशों को न्यौता दिया था. उस वक्त 39 देशों ने फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लिया था.

ये दूसरी बार है जब भारत में इंटरनेशनल फ्लीट रिव्यू होने जा रहा है. पिछली बार देश के पश्तिमी तट पर बसी कॉर्मिशियल-राजधानी मुंबई में इसका आयोजन किया गया था. यही वजह है कि इस बार पूर्वी तट पर नौसेना के पूर्वी कमांड के मुख्यालय, विशाखापट्टनम में इसका आयोजन किया गया है. साथ ही इस बार 52 देश हिस्सा ले रहे हैं और 36 देशों के युद्धपोत फ्लीट रिव्यू में हिस्सा लेंगे जिसका मोटो है ‘यूनाईटेड थ्रू ओसियन्स’.

इस मौके पर राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित रक्षा मंत्री और तीनों सेनाओं के प्रमुखों सहित वरिष्ठ सैन्य अधिकारी मौजूद रहेंगे.

4 फरवरी- आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू विशाखापत्तनम में मौजूद 1971 के युद्ध स्मारक में शहीदों को श्रद्धांजलि देकर 6 दिन के कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे. साथ आईएफआर-विलेज और मेरीटाइम प्रदर्शनी का उदघाटन करेंगे.

5 फरवरी- आंध्र प्रदेश के राज्यपाल, ईएसएल नरिसम्हन आईएफआर का विधिवत उदघाटन करेंगे. ओपनिंग सेरेमनी होगी. नौसेना प्रमुख एडमिरल आर ईए धवन सहित सभी देशों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ साझा प्रेस कांफ्रेंस.

6 फरवरी- राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री फ्लीट रिव्यू करेंगे जिसमें 52 देशों के करीब 100 युद्धपोत हिस्सा लेंगे.

7 फरवरी- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय नौसेना की ऑपरेशनल क्षमता का डेमो देखेंगे. ये डेमो दिन और रात दोनों में होगा. इसमें भारतीय नौसेना के जंगी बेड़े के सभी युद्धपोत, एयरक्राफ्ट कैरियर और परमाणु पनडुब्बी भी हिस्सा लेंगे.

7 फरवरी- रक्षा मंत्री दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मलेन का उदघाटन करेंगे.

8 फरवरी- सिटी परेड के साथ समापन समारोह

इस दौरान रक्षा-क्षेत्र में ‘मेक इन इंडिया’ पर कई सम्मलेन होंगे और भारतीय सामुद्रिक इतिहास और पंरपरा पर किताब भी रिलीज की जायेगी. एडमिरल धवन ने आईएफआर की बेवसाइट और मोबाइल एप्लीकेशन भी लांच किया गया है.

देखें खबर का वीडियो-http://abpnews.abplive.in/videos/indias-international-fleet-review-325197/

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: India’s International Fleet Review
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: India's International Fleet Review
First Published:

Related Stories

डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट फाड़े
डोकलाम के बाद उत्तराखंड के बाराहोती बॉर्डर पर चीन की अकड़, चरवाहों के टेंट...

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी जगजाहिर है. इस बीच उत्तराखंड के बाराहोती...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मिशन 2019 की तैयारियां शुरू कर दी हैं और आज इसको लेकर...

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी
'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी

नई दिल्ली: नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शार्मिला और उनके लंबे समय से साथी रहे ब्रिटिश नागरिक...

अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे
अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे

 मुंबई: मुंबई पुलिस के मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को महाराष्ट्र...

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017