'इंदिरा गांधी ने किया था पाक परमाणु ठिकानों पर हमले का विचार'

By: | Last Updated: Tuesday, 1 September 2015 2:57 AM
Indira Gandhi considered military strike on Pakistan’s nuclear sites: CIA

वाशिंगटन: सत्ता में लौटने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1980 में पाकिस्तान के परमाणु ठिकानों पर हमले का विचार किया था. उस समय पाक परमाणु हथियार बनाने की क्षमता हासिल करने की कोशिश में जुटा था और इंदिरा गांधी की योजना थी कि ठिकानों पर हमला कर उसे बर्बाद कर दिया जाए. अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के एक दस्तावेज के हवाले से इस बात का दावा किया गया है.

 

केन्द्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए) द्वारा तैयार आठ सितंबर 1981 के ‘पाकिस्तान में परमाणु विकास पर भारत की प्रतिक्रिया’ शीषर्क के दस्तावेज में कहा गया कि तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री ने यह विचार उस समय किया जब अमेरिका पाकिस्तान को लड़ाकू विमान एफ 16 बेचने के अंतिम चरण में था.

 

सीआईए की वेबसाइट पर इस साल जून में 12 पृष्ठों के दस्तावेज का संपादित संस्करण डाला गया जिसके अनुसार, वर्ष 1981 में इंदिरा गांधी, पाकिस्तान के परमाणु हथियार कार्यक्रम की प्रगति को लेकर चिंतित थीं और उनका मानना था कि इस्लामाबाद परमाणु हथियार हासिल करने के करीब है. अमेरिका का भी इसी तरह का आकलन था.

 

इस अतिसंवेदनशील सीआईए रिपोर्ट में दावा किया गया कि अगर भारत की चिंता अगले दो या तीन महीनों में बढ़ती हैं तो हमारा मानना है कि स्थितियां प्रधानमंत्री गांधी द्वारा ऐसा फैसला करने की हो सकती हैं कि भारत, पाकिस्तान के परमाणु केन्द्रों को ध्वस्त करने के लिए पाकिस्तान के साथ सैन्य टकराव प्रारंभ कर सकता था.

 

रिपोर्ट लिखने के समय सीआईए ने कहा कि गांधी ने इस संबंध में इस तरह का कोई फैसला नहीं किया. रिपोर्ट के अनुसार, चूंकि पाकिस्तान परमाणु हथियारों में प्रयोग के लिए प्लूटोनियम और अतिसमृद्ध यूरेनियम बनाने के अंतिम चरण में था, गांधी ने इस खतरे का स्पष्ट जवाब भारतीय परमाणु परीक्षण तैयारियों को अधिकृत करके दिया.

 

सीआईए ने कहा कि फरवरी (1981) में भारतीय परीक्षण उपकरण के भूमिगत विस्फोट को अनुमति देने के लिए थार मरूस्थल में खुदाई शुरू की गई. रिपोर्ट के अनुसार मई में भारत ने 40 किलोटन परमाणु परीक्षण के लिए तैयारियां पूरी कर ली थीं. भारत को पाकिस्तान के संभावित परीक्षण के करीब एक सप्ताह बाद डिवाइस में विस्फोट करना था.

 

सीआईए ने कहा कि स्पष्ट है कि भारत सरकार ने आकलन किया कि पाकिस्तानी परमाणु विस्फोट राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा नहीं होगा और शांतिपूर्ण परमाणु विस्फोट कार्यक्रम की बहाली से क्षेत्र में भारत की श्रेष्ठता की छवि के नुकसान को कम किया जा सकता है.

 

यह भी पढ़ें

इमरजेंसी की याद दिलाकर आडवाणी क्या कहना चाह रहे हैं?

इमरजेंसी में क्या हुआ था? 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Indira Gandhi considered military strike on Pakistan’s nuclear sites: CIA
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017