ईमानदारी से काम करने की सजा तबादला!

By: | Last Updated: Thursday, 17 September 2015 12:14 PM
IPS officer allegedly targeted by BJP

नई दिल्लीः आईपीएस अधिकारी पंकज चौधरी नई दिल्ली में 11वीं बटालियन आरएसी में कमांडेंट हैं . चौधरी ने आरोप लगाया है कि राजस्थान के बूंदी में एसपी रहते हुए इन्होंने दंगा रोकने के लिए जिन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की उन्हें बाद में छोड़ दिया गया.

 

इनका आरोप है कि कार्रवाई के कुछ ही दिनों बाद इनका तबादला कर दिया गया. पंकज चौधरी ने ये आरोप राजस्थान के बूंदी दंगा मामले में खुद के खिलाफ चार्जशीट थमाए जाने के बाद लगाया है.

 

राजस्थान कैडर के आईपीएस अधिकारी पंकज चौधरी पर आरोप है कि 12 सितंबर 2014 को बूंदी के नैनवा के खानपुर गांव में हुए दंगे दौरान ये समय पर घटनास्थल पर नहीं पहुंचे. जिसकी वजह से संवेदनशील हालात बन गए. हालात पर नियंत्रण करने के लिए कर्फ्यू लगाना पड़ा. इसी के बाद गृह विभाग की ओर से पंकज चौधरी को चार्जशीट देने की सिफारिश की गई थी, जबकि पंकज चौधरी का कहना है कि एसपी रहते हुए ये और उनके अधिकारियों ने दंगा को रोकने के लिए अच्छा काम किया था.

 

पंकज चौधरी अपने बयानों के कारण अक्सर सुर्खियों में रहे हैं. पोकरण से तत्कालीन कांग्रेस विधायक सालेह मोहम्मद के पिता गाजी फकीर के खिलाफ उन्होंने 4 अगस्त 2013 में हिस्ट्रीशीट खोली थी. इसके बाद उन्हें जैसलमेर एसपी के पद से हटा दिया गया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: IPS officer allegedly targeted by BJP
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: allegedly BJP IPS officer targeted
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017