क्या बिहार में अब 12 साल बाद जंगलराज की वापसी हो गई है?

By: | Last Updated: Sunday, 27 December 2015 4:39 PM
Is Jangal Raj returns back in Bihar?

नई दिल्ली: क्या बिहार में 12 साल बाद फिर से रंगदारी का पुराना रोग लौट आया है? ये सवाल इसलिए क्योंकि कल दरंभगा जिले में दो इंजीनियरों की रंगदारी नहीं देने पर दिनदहाड़े हत्या कर दी गई. वारदात के बाद से बिहार के सीएम नीतीश कुमार के सुशान पर सवाल खड़े हो गए हैं. दो इंजीनियरों की हत्या ने 12 साल पहले इंजीनियर सत्येंद्र दुबे हत्यकांड की याद ताजा कर दी.

बिहार में जंगलराज रिटर्न्स!

इंजीनियर ब्रजेश सिंह और मुकेश कुमार की तस्वीरें जब भी आपके जेहन से दौड़ती होंगी आप सिहर उठते होंगे. सड़क निर्माण में लगे दोनों इंजीनियरों की कल दरभंगा जिले में 2 मोटरसाइकिल सवार 4 बदमाशों ने दिनदहाड़े हत्या कर दी. वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों का दुस्साहस तो देखिए. उन्होंने हत्या के बाद वहां एक पर्चा छोड़ा..पर्चे पर लिखा था, “जहां जाओगे वहीं पाओगे, मुझसे बचकर बिहार में कहां जाओगे.”

दरअसल मामला रंगदारी से जुड़ा हुआ है. सड़क निर्माण करने वाली प्राइवेट कंपनी c एंड c के प्रोजेक्ट इंजीनियर मुकेश कुमार सिंह और काम की मॉनिटरिंग कर रही रोडिक कंसल्टेंट कंपनी के फिल्ड इंजीनियर ब्रजेश कुमार सिंह.

बिहार के दरभंगा में राजमार्ग 88 के कंस्ट्क्शन के काम में लगे थे. पिछले कई दिनों से सीएंडसी कंपनी से 50 लाख रुपये की रंगदारी मांगी जा रही थी.

रंगदारी की मांग के बाद सुरक्षा के लिए 5 पुलिसवाले तैनात भी किए गए थे, लेकिन वारदात से ठीक पहले थाना प्रभारी ने विशेष कारण बताकर पुलिस सुरक्षा हटा ली.

सत्येंद्र दुबे की हत्या याद दिला गई!

darbhanga murder 2

रंगदारी की वारदात ने बिहार को 12 साल साल पीछे ला खड़ा किया है. इंजीनियर सत्येंद्र दुबे का चेहरा याद होगा आपको. 2003 में स्वर्णिम चुतर्भुज सड़क के निर्माण में लगे इंजीनियर की रगंदारी नहीं देने पर हत्या कर दी गई. कल दरभंगा में इंजीनियरों की हत्या को विपक्षी दल जंगलराज की वापसी बता रहे हैं.

दोनों इंजीनियरों की हत्या के पीछे कुख्यात अपराधी संतोष झा का हाथ बताया जा रहा है. राज्य सरकार ने हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए तेज तर्रार एसपी शिवदीप लांडे को जांच का जिम्मा सौप दिया है. राज्य सरकार दावा कर रही है. हत्या में शामिल एक भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा.

राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर पटना में बीजेपी और एलजेपी ने राज्य सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया.

दरभंगा हत्याकांड ने विपक्षी दलों को नीतीश सरकार पर हमला करने का मौका दे दिया. विपक्षी दल आरोप लगा रहे हैं कि नीतीश सरकार के शपथ ग्रहण के डेढ़ महीने के भीतर ही राज्य में कानून-व्यवस्था अपराधियों के लाचार हो गई है.

नीतीश सरकार में हत्याओं सूची

  1. रविवार, 27 दिसंबर की घटना:  सीतामढ़ी में डॉक्टर पी पी लोहिया के घर पर गोलाबारी हुई है. डॉक्टर से 5 लाख की रंगदारी मांग गई थी. अब पूरा परिवार दहशत में है.
  2. शनिवरा, 26 दिसंबर: दरभंगा में दो इंजीनियरों की हत्या, 5 लाख की रंगदारी मांगी गई
  3. वैशाली में दो समुदायों में लड़ाई हुई, इस दौरान एक पुलिस इंस्पेक्टर अजीत कुमार की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई
  4. दरभंगा में एएसपी विजय कुमार पासवान की चाकू मारकर हत्या की गई
  5. पटना- 12 साल की दलित लड़की से डीएम ऑफिस के कैंपस में रेप हुआ.
  6. पटना- महिला पुलिस के साथ छेड़खानी हुई

ये सभी घटनाएं बीते दो महीने के भीतर की है, जब से नीतीश कुमार की सरकार बड़ी जीत के साथ वापसी की है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Is Jangal Raj returns back in Bihar?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017