इशरत जहां मामला: दो आरोपी पुलिस अधिकारियों की अर्जी विचारार्थ मंजूर

By: | Last Updated: Saturday, 20 September 2014 4:49 PM

अहमदाबाद: विशेष सीबीआई अदालत ने इशरत जहां फर्जी मुठभेड़ मामले में आरोपी दो पुलिस अधिकारियों की अर्जियों को विचारार्थ स्वीकार कर लिया जिनमें उन्होंने अपनी जमानत की उस शर्त को बदलने की मांग की है जो उनके गुजरात से बाहर जाने पर रोक लगाती है.

 

न्यायाधीश गीता गोपी ने आईपीएस अधिकारियों जीएल सिंघल और अनाजू चौधरी की याचिकाओं को विचारार्थ मंजूर किया. हालांकि सीबीआई ने यह कहते हुए इसका विरोध किया कि अगर उन्हें गुजरात के बाहर जाने की इजाजत दी गयी तो वे फरार हो सकते हैं या सबूतों से छेड़छाड़ कर सकते हैं.

 

लेकिन आरोपी अधिकारियों के वकील बृजराजसिंह झाला ने दलील दी कि वे देश छोड़ने की मांग नहीं कर रहे और मामले में अधिकतर गवाह पुलिस अधिकारी हैं जो गुजरात में रहते हैं.

 

शहर अपराध शाखा के एक दल ने 15 जून, 2004 को अहमदाबाद-गांधीनगर मार्ग पर इशरत जहां, जावेद शेख, जीशान जौहर और अमजद अली राणा को मुठभेड़ में मार दिया था. सीबीआई के अनुसार यह मुठभेड़ फर्जी थी.

 

सिंघल को इस साल मई में राज्य रिजर्व पुलिस में समूह कमांडेंट के तौर पर सेवा में बहाल किया गया था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ishrat Jahan case: Court allows 2 accused cops to go out
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017