ISIS को रोकने के लिए भारत का 'ऑपरेशन चक्रव्यूह'!

By: | Last Updated: Saturday, 1 August 2015 3:53 PM

नई दिल्ली: भारत में आतंकी संगठन आईएस के असर को रोकने के लिए गृह मंत्रालय ने आज खुफिया एजेंसियों के साथ अहम बैठक की है. इसी बैठक के दौरान ऑपरेशन चक्रव्यूह की रणनीति पर चर्चा हुई.

 

अरब देशों में इंसानियत का कत्ल करने वाला आतंकवादी संगठन आईएस और उसी आईएस का झंडा जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में! जिस किसी की नजर आईएस के इस झंडे पर पड़ी, वो भौंचक्का रह गया. सवाल उठा कि आखिर आईएस ने देश के इन गुमराह युवकों को क्या घुट्टी पिलाई है जो वो आतंक की दुनिया में अपनी मंजिल तलाश रहे हैं ?

IS के खिलाफ क्या है ‘ऑपरेशन चक्रव्यूह’?  

गृहमंत्रालय ने देश के इन्हीं युवकों को आईएस के चंगुल से बचाने के लिए खुफिया एजेंसियों और आतंकवाद के नजरिए से देश के 12 संवेदनशील राज्यों के डीजीपी और गृह सचिव के साथ अहम बैठक की. इसी बैठक के दौरान आईएस के खिलाफ ऑपरेशन चक्रव्यूह की व्यूह रचना की गई है.

 

IS के खिलाफ ऑपरेशन चक्रव्यूह

आतंकवादी संगठन IS के खिलाफ बनाए गए ऑपरेशन चक्रव्यूह के तीन कोण हैं. गृहमंत्रालय ने तीन तरफ से आईएस के खिलाफ रणनीति बनाई है.

 

सोशल मीडिया, धर्मगुरू और भगोड़े आतंकवादी

 

सोशल मीडिया

 

हाल के दिनों में देखा गया है कि आतंकवादी संगठन आईएस सोशल मीडिया के जरिए भारतीय युवकों को गुमराह करने की कोशिश कर रहा है. हैदराबाद और महाराष्ट्र के कुछ गुमराह युवक सोशल के जरिए ही आईएस के संपर्क में आये थे. इसी को देखते हुए ऑपरेशन चक्रव्यूह के तहत रणनीति बनाई गई है कि सुरक्षा एजेंसियां सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखेंगी कि देश का कोई युवक आईएस के आतंकी विचारधारा से प्रभावित तो नहीं हो रहा है ?

 

सोशल मीडिया, धर्मगुरू और भगोड़े आतंकवादी

धर्मगुरू

आतंकवादी संगठन आईएस के खिलाफ बनाए गये ऑपरेशन चक्रव्यूह का दूसरा कोण हैं- मुस्लिम धर्मगुरू . दरअसल आतंकवादी संगठन आईएस इस्लाम के नाम पर ही इस्लाम को शर्मसार कर रहा है. वो धर्म के नाम पर ही अधर्म का खेल खेल रहा है. आईएस के इस नापाक खेल को रोकने के लिए रणनीति बनाई गई है कि मुस्लिम धर्मगुरुओं से अपील की जाएगी कि वो गुमराह युवकों को बताएं कि इस्लाम इंसानियत की शिक्षा देता है, खून खराबे और नफरत की नहीं ?

 

सोशल मीडिया, धर्मगुरू और भगोड़े आतंकवादी

भगोड़े आतंकवादी

 

ऑपरेशन चक्रव्यूह का तीसरा और आखिरी कोण हैं भगोड़े आतंकवादी. दरअसल सुरक्षा एजेंसियों को खबर मिली है कि देश के कई भगोड़े आतंकवादी सीरिया और इराक में जाकर आईएस के लिए काम कर रहे हैं. ऐसे भगोड़े आतंकवादी आईएस के साथ काम करते हुए देश के युवकों को गुमराह कर रहे हैं. ऑपरेशन चक्रव्यूह के तहत इन भगोड़े आतंकवादियों पर नजर रखने के लिए गुप्त रणनीति बनाई गई है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ISIS
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017