SPECIAL REPORT: कैसे बारूद से ISIS लिख रहा है भारत के खिलाफ खूनी स्क्रिप्ट?

By: | Last Updated: Thursday, 30 July 2015 4:57 PM
ISIS

नई दिल्ली: आतंकवाद का एक नया खतरा भारत पर मंडरा रहा है. आप भले ही उसे साढ़े पांच हजार किलोमीटर दूर इराक और सीरिया की समस्या मानें लेकिन अब दुनिया के सबसे खुंखार आतंकी संगठन माने जान वाले इस्लामिक स्टेट के निशाने पर भारत है. ये खुलासा एक ऐसे दस्तावेज से हुआ जिसमें भारत को निशाना बनाने के आईएस के मंसूबों का ब्लू प्रिंट दर्ज है.

 

साढ़े पांच हजार किलोमीटर दूर सीरिया और इराक की धरती पर पल-पल दहशत फैलाने वाली अगर आपके गली-मोहल्ले में ठीक आपके सामने आ खड़ी हों तो?

 

आतंक के सबसे खौफनाक संगठन आईएस के कत्लेआम का नजारा आपके अपने शहर, घर, दफ्तर तक पैर पसार ले तो? डरा देते हैं ये सवाल लेकिन आईएस का एक आधिकारिक दस्तावेज आपको इन सवालों की वजह बताने जा रहा है.

 

इस दस्तावेज में दर्ज योजना जानें

 

भारत में हमले की तैयारी पूरी तरह शुरू हो चुकी है. ये हमला अमेरिका को उकसाने के लिए करेगा आईएस. इसके खिलाफ अमेरिका जवाबी हमला कर सकता है. ऐसे में दुनिया भर के मुस्लिम एक हो जाएंगे और दुनिया का आखिरी महायुद्ध शुरु हो जाएगा.

 

इस दस्तावेज में भी दर्ज है कि इराक और सीरिया के कई हिस्सों पर कब्जा करके खुद को इस्लामिक स्टेट घोषित करने वाले आईएस ने भारत के खिलाफ हमले के लिए अल कायदा और तालिबान को भी अपने साथ जोड़ने की तैयारी भी शुरू कर दी है.

 

अब हमारे लिए मिडिल ईस्ट से आने वाली तस्वीरों के मायने बदल गए हैं. अब तक भारत से कुछ युवाओं के आतंकी संगठन के लिए रुझान और जुड़ने की कोशिशों की खबर आती थी. ये खबर भी आई थी कि भारत के एक हिस्से में आईएस समर्थक झंडे के साथ नजर आ चुके हैं लेकिन भारत सीधे आईएस के निशाने पर आ जाएगा ऐसी खबर पहले कभी नहीं आई थी.

 

यूएसए टुडे ने अपनी रिपोर्ट में जिस दस्तावेज के हवाले से ये चौंकाने वाली खबर दी है वो पाकिस्तान में कट्टरपंथी संगठन तालिबान के एक सदस्य से मिली है. 32 पेजों वाले उस दस्तावेज में ना सिर्फ भारत पर हमले का ब्लूप्रिंट दिया गया है बल्कि ये भी दर्ज है कि आईएस ने अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने के लिए बड़े पैमाने पर आतंकियों की भर्ती भी शुरू कर दी है.

 

पिछले दो साल में आईएसआईएस नाम का आतंकी संगठन लगातार मजबूत हो रहा है. उसने इराक और सीरिया में एक बड़े इलाके पर कब्जा किया और उन इलाकों को एक नए देश इस्लामिक स्टेट के तौर पर पेश करना शुरू कर दिया है. लेकिन अब सामने आए उर्दू दस्तावेज से पता चलता है कि इस नक्शे को नई दुनिया में बदलना चाहता है आईएस.

 

अब उसके निशाने पर सीरिया में उसके कब्जे वाले इलाके से सटा टर्की, अफगानिस्तान में लौट रहीं अमेरिका की फौजें, अफगानिस्तान से सटी पाकिस्तानी सीमा और भारत है.

 

माना जा रहा है कि भारत पर हमले के लिए उसे भारत के पास एक मजबूत बेस भी चाहिए और पाकिस्तान की आईएसआई भी भारत में खूनी खेल खेलने के लिए उससे हाथ मिला सकती है. अलकायदा और तालिबान को अपने साथ मिलाने की पेशकश भी भारत को आतंकी वारदातों का निशाना बनाने की कोशिश का ही हिस्सा है.

 

तीन महीने पहले ही अंग्रेजी अखबार द गार्जियन ने एक रिपोर्ट में लिखा था. अफगानिस्तान में इंटरनेशनल फोर्सेज के कमांडर जनरल जॉन एफ कैंपबेल के मुताबिक आईएस का सधा हुआ सोशल मीडिया अभियान अफगानिस्तान में मौजूद तालिबान लड़ाकों को अपनी ओर खींच रहा है. जो लड़ाके काबुल सरकार को पिछले 10 साल में उखाड़ नहीं पाए हैं और नया रोमांच तलाश रहे हैं.

 

यही नहीं भारतीय इंटेलिजेंस ब्यूरो ने भी यूएसए टुडे में छपी रिपोर्ट से ठीक पहले एक एलर्ट जारी करके कहा था कि आईएस में महाराष्ट्र के कल्याण के 4 लड़के शामिल हुए थे. इसके अलावा 7 और भारतीय युवा आईएस संगठन में शामिल हुए. इनमें अरीब मजीद नाम का एक युवा गिरफ्तार हो चुका है. साफ संकेत हैं कि भारत में आईएस की गतिविधियां बढ़ रही हैं. लेकिन अगर आईएस अपने मंसूबे को हकीकत में बदलने की खौफनाक योजना में कामयाब होता है तो क्या भारत आईएस के साथ सीधी लड़ाई में कामयाब हो पाएगा?

 

अमेरिका की अगुवाई में आईएस के खिलाफ लड़ाई जारी है लेकिन अब तक उस पर लगाम लगाने में अमेरिका भी कामयाब नहीं हुआ है.

 

आईएस भारत ही नहीं पूरी दुनिया के लिए खौफ का दूसरा नाम बना हुआ है. पहली वजह है खूनखऱाबे का बर्बर तरीका और दूसरा हाई टेक प्रचार. असर ये है कि सिर्फ दो साल में आईएस की ताकत दो गुनी हो चुकी है.

 

आईएस की का खौफ तस्वीरों पर चढ़कर आप तक आता रहा है. आईएस ने सीरिया और इराक में सुन्नी लड़ाकों की फौज खड़ी की और दोनों देशों के बड़े हिस्से पर कब्जा कर चुका है.

 

ईराक और सीरिया में अपने कब्जे वाले इलाकों को आईएसआईएस ने इस्लामिक स्टेट का नाम दिया है और अब आतंकी संगठन भी नाम बदल कर आईएस हो चुका है और अब जो दस्तावेज सामने आए हैं उससे पता चलता है कि आईएस अब भारत पर बड़े हमलों के मंसूबे बांध रहा है.

 

बड़े हमले के लिए आईएस की तैयारी भी जानें.

लॉस एंजिलस टाइम्स ने ठीक एक साल पहले अमेरिकी खुफिया एजेंसी के हवाले से आईएस की ताकत का अंदाजा पेश किया था.

 

साल 2014 में करीब 10 हजार लड़ाकों से आईएस में शामिल होने का अनुमान था. लेकिन ये तादाद 20 हजार से 35 हजार के बीच हो सकती है. इसमें से करीब 2000 आतंकी विदेशी मूल के हैं. यानी इराक और सीरिया से जिनका कोई नाता नहीं है.

 

लेकिन साल भर में आईएस की शक्ल एक बड़े दैत्य में बदल चुकी है. इसी साल फरवरी में आई यूएसए टुडे की रिपोर्ट बताती है कि आईएस हर महीने 1000 नए लड़ाके भर्ती कर रहा है. आईएस ने अब तक करीब 20 हजार विदेशी युवाओं को अपना आतंकी बना लिया है. ये अमेरिका के 14000 विदेशी मूल के आईएस आतंकियों के अनुमान से कहीं ज्यादा है.

 

अब आपको उस प्रचार के तरीके को समझना होगा जिसकी वजह से आतंकवादी संगठन आईएस भटके हुए युवाओं को जोड़ने में कामयाब हो रहा है. आप चौंक जाएंगे ये जानकर कि धमाकों का इस्तेमाल यहां अमन का पैगाम देने के लिए नहीं बल्कि आईएस के खौफ की कहानी सुनाने के लिए किया जा रहा है. आईएस के मुंह खून लग चुका है. उसे पता है कि ये खून-खराबा उन लोगों को उसके आतंक की दुनिया तक खींच लाएगा जिन्हें इसमें मजा आता है.

 

भले ही आईएस सुन्नी संगठन हो लेकिन प्रचार के इस तरीके के जरिए वो ब्रिटेन, अमेरिका, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया और यहां तक कि भारत तक के लोगों पर इतना गहरा असर डाल रहा है कि 90 देशों के युवा आईएस का हिस्सा बन चुके हैं.

 

वो दौर गया जब खौफ फैलाने के काम आते थे वीडियो. अब तो आईएस लोगों को संगठन में शामिल होने के लिए ऐसे संदेश वाले वीडियो भी जारी करता है. मौत के वीडियो भी अब किसी हॉलीवुड फिल्म की तर्ज पर तैयार किए जा रहे हैं.

 

आईएस के मीडिया सेल को ना तो पैसों की कमी है और ना ही नई तकनीकों की. यही वजह है कि फ्लेम ऑफ फायर जैसी फिल्म बनाने के लिए किसी हॉलीवुड फिल्म की तरह आईएस ने 2 लाख डॉलर यानी करीब सवा करोड़ रुपये खर्च कर दिए. कहा जाता है कि आईएस ने ये पैसे सद्दाम हुसैन के गृहनगर मोसूल में कब्जे के दौरान के बैंकों से लूटे थे और वो दुनिया का सबसे अमीर आतंकी संगठन बन गया.

 

ये तरीके उसे कही ज्यादा खतरनाक बनाते हैं और अब भारत पर हमले की उसकी योजना एक बड़ी चुनौती बनकर खड़ी है. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ISIS
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: isis
First Published:

Related Stories

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

ब्रिक्स सम्मेलन: तनातनी के बीच सितंबर के पहले हफ्ते में चीन जाएंगे पीएम मोदी
ब्रिक्स सम्मेलन: तनातनी के बीच सितंबर के पहले हफ्ते में चीन जाएंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद को लेकर चीन युद्ध का माहौल बना रहा है. इस तनाव के माहौल में पीएम नरेंद्र...

गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे हुई ?
गोरखपुर ट्रेजडी: इलाहाबाद HC ने योगी सरकार से पूछा सवाल, बच्चों की मौत कैसे...

इलाहाबाद: गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले की न्यायिक जांच की मांग को...

योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक नहीं लगाई
योगी के बयान पर बोले अखिलेश- थानों में पहले भी मनती थी जन्माष्टमी, हमने रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री...

ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी
ABP न्यूज़ का खुलासा: सृजन NGO में बाहर से सामान मंगाकर सिर्फ पैकिंग होती थी

भागलपुर:  बिहार में जिस सृजन घोटाले को लेकर राजनीति गरम है उसको लेकर बड़ा खुलासा किया है. एबीपी...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017