मौत के चक्रव्यूह की ऐसी कहानी जिसे जानकर आप कांप उठेंगे?

By: | Last Updated: Monday, 21 December 2015 9:20 PM
ISIS plan for indian?

नई दिल्ली: आज की तारीख में आज एक खास पड़ताल. पड़ताल मौत के चक्रव्यूह की. दुनिया का खूंखार आतंकी संगठन IS भारत के नौजवानों को फुसलाकर उन्हें आतंक की ट्रेनिंग दे रहा है. कैसे उसके चक्रव्यूह में भारतीय नौजवान फंस रहे हैं? मुंबई से आई चौंकाने वाली खबर. यहां तीन लड़कों के IS में शामिल होने की खबर आई है जिसके बाद सुरक्षा एंजेंसियों के कान खड़े हो गए हैं.

मोहसिन शेख
ऑटो ड्राइवर
उम्र- 26 साल

वाजिद शेख
ग्रेजुएशन की डिग्री
उम्र-25 साल

और
अयाज सुल्तान
कॉल सेंटर कर्मचारी
उम्र 23 साल

मुंबई के मालवणी इलाके के ये वो तीन चेहरे हैं जिन्होंने बेगुनाहों का कत्ल करने और नफरत फैलाने वाले आतंकी संगठन IS का दामन थाम लिया है. IS के आतंकी इन्हें बरगलाने में कामयाब रहे हैं. हिंदुस्तान की सरजमी छोड़कर ये IS के गढ़ सीरिया में आतंक की ट्रेनिंग लेने के लिए निकल पड़े हैं.

2112 8pm chakraviewh 2

आतंक की राह पर ये कब और कैसे निकले इसकी भनक घरवालों को भी नहीं लगी. कोई खोज-खबर नहीं मिलने पर 16 दिसंबर को वाजिद शेख के परिवार वाले खुद मुंबई के मालवणी थाने पहुंचे और पुलिस को जानकारी दी. वाजिद शेख के भाई के मुताबिक वो अपनी बहन से आधारकार्ड बनवाने की बात कहकर घर से निकला था लेकिन फिर घर लौटकर नहीं आया.

 

सबसे पहले अयाज सुल्तान ने 30 अक्टूबर को घर छोड़ सीरिया की राह पकड़ी. अयाज, मोहसिन और वाजिद तीनों दोस्त है. माना जा रहा है कि अयाज ने ही मोहसिन और वाजिद को सीरिया आने के लिए कहा था. वाजिद शेख तो अपनी पत्नी को भी जिहाद के लिए ले जानेवाला था लेकिन उसने वाजिद की बात नहीं मानी.

9pm-isis.jpg

आशंका जताई जा रही है कि मोहसिन और वाजिद ने एक साथ सीरिया जाने की योजना बनाई थी. 16 दिसंबर को घर छोड़ने से एक दिन पहले मोहसिन ने वाजिद को कई बार फोन किया था. वाजिद के घर में नहीं होने पर फोन वाजिद की बहन ने उठाया था. मोहसिन को लगा कि फोन वाजिद ने ही उठाया है और उसने तुंरत चलने की बात कही. मोहसिन पर कुछ केस भी दर्ज हैं.

 

वाजिद के अचानक गायब होने पर परिवार सदमें हैं और उसकी सलामती की दुआ कर रहा है.

परिवार के मुताबिक तीनों के व्यवहार में तीन-चार महीने पहले ही बदलाव आने लगा था. लेकिन उन्होंने ये कभी सपने में नहीं सोचा था कि उनके लड़के आतंकी संगठन IS में शामिल होने के बारे में सोच रहे हैं. वाजिद और मोहसिन के परिवार ने पुलिस से शिकायत करके उन्हें IS के चंगुल से बाहर निकालने की गुहार लगाई है.

 

वहीं अयाज सुल्तान के घर जब एबीपी न्यूज पहुंचा तो वहां तो उसका परिवार नहीं था लेकिन उसके पड़ोसी के मुताबिक अयाज में आए बदलाव की वजह से उसकी मां परेशान रहती थीं. अयाज कॉलेज ड्रॉपआउट था और अब कॉल सेंटर मे काम करता था. अयाज ये बताकर गया की वो शादी में शामिल होने के लिए जा रहा है लेकिन वापस नहीं लौटा.

 

मुंबई एटीएस तीनों के परिवार से पूछताछ कर रही है. जांच में पता चला है कि तीनों इंटरनेट के जरिए IS के लोगों से जुड़े थे और एक ग्रुप बनाकर सीरिया जाने की प्लान बनाया था.

खूंखार आतंकी संगठन ISIS ने मौत का चक्रव्यूह फैला रखा है, पहले वो मासूम लड़के लड़कियों को अपने जाल में फंसाता है और फिर उन्हें इराक और सीरिया में मौत के हवाले कर देता है. अब तक 6 भारतीय ISIS के लिए अपनी जान दे चुके हैं. क्या है ISIS के सरगना बगदादी का मौत का चक्रव्यूह. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई से करीब 150 किलोमीटर दूर, पुणे, इस शहर को महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी कहा जाता है. ये शहर कई बार आतंकी गतिविधियों की वजह से भी चर्चा मे रहा है, लेकिन इस बार इसके चर्चा मे आने की वजह काफी खतरनाक है.

 

इस शहर में इस बार बगदादी की एक लेडी सुसाईड बॉंबर तैयार हो रही थी, सबसे खतरनाक आतंकी संगठन आईएसआईएस की खतरनाक ऑनलाईन ट्रेनिंग की शिकार, एक नाबालिग सुसाईड बॉंबर, तैयार हो रही थी बगदादी के लिए खुद की जान देने के लिए और साथ में कई लोगों की जान लेने के लिए यानी सुसाईड बॉंबर बनने के लिए.

2112 8pm chakraviewh 1

पुणे के इस इलाके में है उस लडकी का घर, जो बगदादी के आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के लिए सुसाईड बॉम्बर बन चुकी थी. वो अच्छे घर से ताल्लुक रखती है, लेकिन केवल 16 साल की उम्र मे ही इंटरनेट पर उसने आईएसआईएस के ऐसे वीडियो देखे कि वो बगदादी के लिए सुसाईड बॉम्बर बनने के लिए तैयार हो गई, रोजाना जीन्स पहनने वाली ये लडकी बुरका पहनने लगी, घरवालों को ये समझ तो आया की उसमे कुछ बदलाव है, लेकिन उन्होने उसकी तरफ ध्यान नहीं दिया.

 

एटीएस को निगरानी के दौरान इस बात की भनक लग गई, वो पहुंच गई इस लडकी के घर, और जब उन्होंने घरवालो को बताया कि उनकी बेटी इस्लामिक स्टेट की सुसाइड बॉम्बर बन रही है, तो उनके पैरो तले जमीन खिसक गई. ये लड़की नाबालिग है और अब एटीएस उसकी काउंसिलिंग कर रही है. ये लडकी अब तक इंटरनेट पर आईएसआईएस के कई लोगो के संपर्क मे आ चुकी है, उसके घरवाले अब कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं.

 

लेकिन सबसे बडी बात कैसे तैयार हो जाती है लडकियां बगदादी के सुसाईड बॉंबर बनने के लिए, कैसे तैयार हो जाते है नौजवान बगदादी के सुसाईड बॉम्बर बनने के लिए, अब तक भारत के छह नौजवान आईएसआईएस मे शामिल होकर बगदादी के लिए अपनी जान दे चुके है, कौन है ये छह लोग, इनके बारे मे खुफिया एजंसियों ने बनाई है एक खतरनाक रिपोर्ट.

भारतीय खुफिया एजेंसी की सनसनीखेज रिपोर्ट

आईएस के लिए जिन्होंने अपनी जान दे दी,
वो 6 भारतीय कौन थे
जो आतंक की दुनिया से कभी नहीं लौटे
वो क्या करते थे?
वो कहां रहते थे
और कैसे शामिल हो गए दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट यानी आईएस में

जिनके बारे मे कोई बोलने को तैयार नही.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: ISIS plan for indian?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: isis PM Narendra Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017