साहित्यकार लिखना बंद करें तो हम सोचेंगे : महेश शर्मा

By: | Last Updated: Tuesday, 13 October 2015 5:08 AM

नई दिल्ली : साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटाने की मची होड़ के बीच केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा का विवादित बयान आया है. संस्कृति मंत्री महेश शर्मा ने कहा है कि लेखक और साहित्यकार लिखना बंद करें तो फिर हम इस बारे में आगे कुछ सोचेंगे. हालांकि बाद में केंद्रीय मंत्री इस तरह के किसी बयान से पलट गए हैं.

 

पढ़ें : क्या साहित्य अकादमी में राजनीति हो रही है?

 

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार महेश शर्मा ने कहा कि साहित्यकार अपनी नाराजगी जताने के लिए पुरस्कार लौटा रहे हैं. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वो कह रहे हैं कि ऐसे हालात में कुछ नहीं लिख सकते तो मैं कहना चाहता हूं कि पहले वो लिखना छोड़ें फिर आगे हम कुछ सोचेंगे.

 

पढ़ें : दादरी कांड के आरोपी के पिता दिखे केंद्रीय मंत्री के साथ  

 

इसके साथ ही महेश शर्मा ने साहित्यकारों की नीयत पर सवाल उठाए हैं. साथ ही कहा है कि पुरस्कार लौटाने वालों के बैकग्राउंड को देखना चाहिए, सच्चाई सामने आ जाएगी. शर्मा ने सवाल उठाया है और कहा है कि किसी से कोई शिकायत है तो वो पीएम से, सीएम से या मुझसे बात करनी चाहिए थी.

 

पढ़ें : अखलाख की हत्या हादसा और गलतफहमी का नतीजा: महेश शर्मा

 

गौरतलब है कि अब तक करीब अलग-अलग भाषाओं के 21 साहित्यकारों ने अपने साहित्य अकादमी पुरस्कार लौटा दिए हैं. कई अन्य साहित्यकारों ने इसका विरोध किया है तो कुछ इसके समर्थन में भी उतर आए हैं. उनका आरोप है कि देश में सांप्रदायिक माहौल बिगड़ रहा है और सरकार खामोश है.

 

पढ़ें : पूर्व राष्ट्रपति कलाम पर महेश शर्मा के बयान पर बवाल, ओवैसी ने मांगा इस्तीफा

 

उल्लेखनीय है कि शर्मा ने इससे पहले दादरी कांड पर भी हल्का बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि अखलाक की मौत महज एक हादसा है. इस बयान पर भी काफी बवाल मचा था लेकिन शर्मा अपने रुख पर कायम रहें.

 

पढ़ें : लड़कियों का रात को पार्टी करना हमारी संस्कृति नहीं: मंत्री महेश शर्मा

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: It is their personal choice to return it. We accept it : Sharma
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017