पांच साल में कुछ नहीं कर सकते, 'अच्छे दिन' आने में लगेंगे 25 साल: अमित शाह

By: | Last Updated: Tuesday, 14 July 2015 2:53 AM
It will take 25 years for ‘achhe din’ promised by BJP to come, Amit Shah says

नई दिल्लीः पीएम नरेंद्र मोदी चुनाव से पहले देश की जनता से जिस ‘अच्छे दिन’ के वादे किए थे, अब उसे लानें में बीजेपी को 25 साल लगेंगे.  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सोमवार को भोपाल पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘अच्छे दिन आने में 25 साल लगेंगे.’

शाह ने यह भी कहा कि इंडिया को नंबर वन पोजिशन पर पहुंचाने के लिए बीजेपी को इन 25 साल में पंचायत से लेकर लोकसभा तक, हर चुनाव जीतना होगा. शाह ने कहा, ”देश को दुनिया के सर्वोच्च स्थान पर बैठाना है तो पांच साल की सरकार कुछ नहीं कर सकती.”

 

शाह ने आगे कहा,  मुद्रास्फीति दर घटाना, विदेश नीति, सीमा सुरक्षा, बेहतर नीतियां इन सभी में बेहतरी लाएंगे लेकिन उसके लिए हमें पांच नहीं बल्कि और समय देना होगा, और बीजेपी को सभी स्तर के चुनावों में जीत दिलानी होगी.

 

अमित  शाह के  इस बयान पर विपक्षी पार्टियों के हमले तेज हो गए हैं,  इस बयान पर दिल्ली  सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्विट करते हुए लिखा है, “अगर चुनाव के पहले भाजपा बता देती कि ये लोग अच्छे दिन 25 साल में लाएंगे, तो क्या लोग इन्हें वोट देते?”

 

वहीं कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने लिखा है,  “अच्छे दिन आने में  25  साल लगेंगे” अमित जी आपके अच्छे दिन तो आ गये, ऐश करिये सारे मुक़दमों को समाप्त करा लीजिये. जनता जाये भाड़ में”

 

इस पूरे मुद्दे पर बीजेपी  ने मीडिया पर आरोप लगाते हुए कहा है कि,
“मीडिया  ने इस बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया है. गलत तरीके से हेडलाइन बनाकर लोगों को गुमराह करने की कोशिश की जा रही  है.”

 

घर की कमियां बाहर न बताएं : अमित शाह

अमित शाह ने आगे कहा, “अगर घर का बच्चा कमजोर हो तो प्रचारित न करें और घर की कमियां बाहर बताने से बचें. शाह का इशारा व्यापमं घोटाले की तरफ था, जिसे लेकर पूरे देश में मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार की किरकिरी हो रही है. कई बार तो मीडिया के जरिए भ्रमित करने की कोशिश होती है, इसलिए जरूरी है कि सतर्क रहें.”

 

शाह यहां मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में पार्टी के महासंपर्क अभियान की समीक्षा बैठक में हिस्सा लेने आए थे. बैठक में व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) घोटाले की किसी ने खुलकर तो चर्चा नहीं की, मगर खुसपुसाहट हर तरफ रही. शाह ने भी अपनी बात इशारों में ही की.

 

उन्होंने यहां समन्वय भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में पदाधिकारियों को नसीहत के साथ हिदायतें भी दी. उन्होंने कहा, “घर की कमियों को बाहर प्रचारित करने से बचें, कमी को घर में ही बताएं.”

 

बैठक में अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि “पार्टी ने सदस्यता महाअभियान को मिस्ड काल करके आरंभ किया. महाअभियान में भारी सफलता मिली है. 11 करोड़ सदस्य बन चुके हैं. पार्टी कार्यकर्ता उनके निवास पर जाकर पार्टी की रीति-नीति, वैचारिक दर्शन से रूबरू कराएंगे और केंद्र और राज्यों की उपलब्धियों से परिचित कराएंगे. पार्टी आगामी तीन माह में 15 लाख कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करेगी.”

 

उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं का जिक्र किया और कहा कि जन-धन योजना ने आम आदमी को समाजिक प्रतिष्ठा प्रदान की है. स्किल इंडिया, मेक-इन-इंडिया से लाखों रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं, इसी तरह की अन्य पहल से भारत के भविष्य की ठोस आधारशिला रख दी गई है.

 

शाह ने कहा,”प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय योग को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दिलाकर भारतीय मूल्यों को महिमा मंडित किया है.”

 

उन्होंने कहा कि हम जनता के बीच दावा कर सकते हैं कि बीजेपी ने कल्याणकारी राज्य की अवधारणा को धरातल पर परिभाषित किया है. मध्य प्रदेश में विकास दर दहाई में होना और कृषि विकास दर 24 प्रतिशत होकर निरंतर बने रहना वास्तव में बीजेपी सरकार और कार्यकर्ताओं का ही पराक्रम और कमाल कहा जा सकता है.

उन्होंने कहा, “छत्तीसगढ़ आजादी के बाद भुखमरी का केंद्र रहा है. बीजेपी की रमन सरकार बनने के बाद अभावों और भूख पर प्रभावी ढंग से प्रहार किया गया. हर घर में चावल गेहूं, आयोडीन नमक, केरोसीन की व्यवस्था कर भूख की ज्वाला शांत कर घर-घर में आशा की रोशनी जगाई गई.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: It will take 25 years for ‘achhe din’ promised by BJP to come, Amit Shah says
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017