जगेंद्र मर्डर केसः सीबीआई जांच याचिका पर SC ने मांगा केंद्र और यूपी सरकार से जवाब

By: | Last Updated: Monday, 22 June 2015 5:57 AM
jagendra case

नई दिल्लीः शाहजहांपुर में जलाकर मार दिए गए पत्रकार जगेन्द्र सिंह के मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की याचिका पर संज्ञान लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार और केंद्र सरकार से दो हफ्तों के भीतर जवाब मांगा है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले में अबतक की गई कार्रवाई का ब्यौरा भी तलब कि‍या है. इस हत्या मामले में यूपी सरकार के मंत्री राम मूर्ति वर्मा पर आरोप है जिसकी अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. इतना ही नहीं आरोपी मंत्री अब तक अपने पद पर बने हुए हैं.

यूपी पत्रकार हत्याकांड में सरकार को नोटिस 

 

परिवार वालों को मिल रही धमकियां

इस बीच खबर है कि पत्रकार जगेंद्र सिंह के पिता और बेटे यूपी के सीएम अखिलेश यादव से मुलाकात कर हैं. परिवार वालों का आरोप है कि मंत्री के गुर्गे उन्हें लागातार धमकियां दे रहे हैं. मामले को 20 लाख रुपया और सरकारी नौकरी का लालच देकर मामला रफा-दफा करने की बात कही जा रही है.

 

क्या है याचिका में

दाखिल जनहित याचिका में शाहजहांपुर में पत्रकार को जलाये जाने की घटना का हवाला दिया गया है. याचिका में कहा गया है कि मामले में एक मंत्री और पुलिसवालों के शामिल होने की वजह से यूपी पुलिस मामले की ठीक से जांच नहीं कर रही है. इसलिए घटना की जांच का काम सीबीआई को सौंप दिया जाना चाहिए. इसके अलावा याचिका में भारत में पत्रकारों के ऊपर होने वाले हमलों का हवाला दिया गया. कहा गया है कि दुनिया के कई देशों के मुकाबले भारत में पत्रकारों पर बहुत ज़्यादा खतरा होता हैं. खास तौर पर छोटे शहरों और कस्बों में काम करने वाले पत्रकार लगातार धमकी और हमलों का सामना करते हैं. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट से दरख्वास्त की गई है कि वो देश में पत्रकारों की सुरक्षा के लिए दिशानिर्देश जारी करे. सुप्रीम कोर्ट ने इस मांग पर भी विचार करने का फैसला किया है. इस बारे में केंद्र और यूपी के साथ ही प्रेस काउन्सिल ऑफ़ इंडिया को भी नोटिस जारी किया है. याचिकाकर्ता के वकील का कहना है कि जल्द ही सभी राज्यों को इस मामले में पक्ष बनाने के लिए अर्ज़ी दाखिल की जायेगी.

 

क्या है पूरा मामला

जगेंद्र सिंह को पुलिस वालों ने 1 जून को उनके घर में रेड के दौरान कथित तौर पर पुलिस वालों ने आग लगा दी थी. बाद में 8 जून को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी. आरोप हैं कि यह रेड जगेंद्र सिंह के यूपी सरकार में मंत्री राम मूर्ति वर्मा के खिलाफ जमीन कब्जाने और भ्रष्टाचार के मामले में कई फेसबुक पोस्ट लिखने पर की गई थी. इसके अलावा जगेंद्र सिंह ने राम मूर्ति और उनके गुंडों पर रेप का आरोप लगाने वाली एक आंगनबाड़ी वर्कर की मदद की कोशिश भी की थी. यूपी सरकार लगातार अपने मंत्री का बचाव करने में लगी है. एफआईआर के बाद भी अब तक मंत्री की गिरफ्तारी नहीं हुई है. 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jagendra case
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017