जयपुर में शंकराचार्य स्वरूपानन्द के खिलाफ शिकायत दर्ज

By: | Last Updated: Thursday, 3 July 2014 2:39 AM

नई दिल्ली: एक स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता ने शिरडी के साईबाबा के संबंध में विवादित बयान को लेकर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है. इससे पहले भी साईं बाबा के खिलाफ विवादित बयान देने पर उनके खिलाफ कई केस दर्ज हो चुके हैं.

 

स्थानीय अदालत के निर्देश के बाद आज यह शिकायत वैशाली नगर थाना में दर्ज करायी गयी.

 

जांच अधिकारी डी सी पी मोहित चौधरी ने कहा कि शंकराचार्य के खिलाफ आरोपों की जांच की जा रही है और अगर उन्हें सही पाया गया तो आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की जाएगी.

 

एक सामाजिक कार्यकर्ता ने शिकायत में कहा कि वह साई बाबा के खिलाफ शंकराचार्य की टिप्पणी से आहत हैं. उन्होंने कहा कि विवादित बयान से सांई बाबा में आस्था रखने वाले लोगों की धार्मिक भावना आहत हुयी है.

 

एक स्थानीय अदालत ने उनकी शिकायत पर पुलिस को मामले में जांच करने और आरोपों के सही पाए जाने पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया था.

 

शंकराचार्य के इस विवादित बयान का कई लोगों ने विरोध किया है. लेकिन अपने  बयान को लेकर हुए विरोध के बाद भी शंकराचार्य अपने बयान को तर्कों के आधार पर सही ठहराने की कोशिश कर रहे हैं और इसी के चलते वे विवादों से भी घिर रहे हैं.

 

शंकराचार्य का बयान

शंकराचार्य ने कहा था, “ये कहा जाता है कि साईं बाबा हिंदू मुस्लिम एकता का प्रतीक हैं. तो ये तब प्रतीक होता जब हिंदुओं के साथ मुसलमान भी मानते. मुसलमान तो उसे मानते नहीं. हम क्यों माने? हमारी एकता का प्रतीक कहां है वो? हिंदू मुस्लिम एकता का भी प्रतीक नहीं है वो.  ये एक भ्रम है जो समाज में फैलाया जा रहा है.”

 

क्या ऐसा भी आप मानते हैं कि व्यसाय किया जा रहा है? इस सवाल के जवाब में शंकराचार्य ने कहा था, “तिरूपति बाला की जो आमदनी है उससे कम का मामला नहीं है ये. ये दूसरे लोग इसमें हावी हो रहे हैं. ये ब्रिटेन की तरफ से हो रहा है. ये चाहते हैं कि भारत में हिंदू प्रधान न रहें. ये लोग जो हैं विभाजित होते रहे हैं. इनकी सम्मिलित शक्ति ना बढ़ने पाए, ये बात है.”

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jaipur_shakaracharya_complaint
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017