जम्मू: तिरंगे के साथ स्टेट फ्लैग फहराने पर हाई कोर्ट ने लगाई रोक

By: | Last Updated: Saturday, 2 January 2016 9:31 AM
jammu and kashmir hc stays its two flag order

जम्मू: जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट की एक खंडपीठ ने एकल पीठ द्वारा सरकारी भवनों और संवैधानिक प्राधिकारियों के वाहनों पर राज्य का झंडा लहराने के आदेश पर आज रोक लगा दी जिससे राजनीतिक भूचाल आ गया.

भाजपा के राष्ट्रीय सचिव फारूख खान ने न्यायमूर्ति ताशी रबस्तान और न्यायमूर्ति बंसी लाल भट की खंडपीठ के सामने एकल पीठ के आदेश को चुनौती देते हुए याचिका दायर की थी. न्यायमूर्ति हसनैन मसूदी की एकल पीठ ने सरकार के उस परिपत्र को सही ठहराया था जिसमें सभी संवैधानिक अधिकारियों को अपने सरकारी भवनों एवं वाहनों पर राज्य का झंडा लगाने को कहा गया था.

दलीलें सुनने के बाद खंडपीठ ने एकल पीठ के आदेश पर रोक लगाई.

याचिकाकर्ता के वकील सुनील सेठी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘काफी देर तक दलीलें सुनने के बाद खंडपीठ ने अंतत: एकल पीठ के आदेश पर रोक लगा दी.’’ विस्तृत आदेश की प्रतीक्षा है.

जम्मू कश्मीर का अलग झंडा है क्योंकि राज्य को संविधान में विशेष राज्य का दर्जा मिला हुआ है.

झंडा घटनाक्रम से राज्य में एक राजनीतिक विवाद खड़ा हो गया था और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने यह कहते हुए मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद पर निशाना साधा था कि यदि वह अपनी सहयोगी भाजपा की ‘कुटिल’ साजिश से राज्य की मर्यादा और झंडे को बचा नहीं सकते तो उन्हें अपने पद से हट जाना चाहिए तथा कोई ऐसा ढूढना चाहिए जो इसका बचाव कर सके.

राज्य में मुफ्ती की पार्टी पीडीपी की सहयोगी भाजपा का रूख ‘एक विधान, एक निशान, एक प्रधान’ का रहा है.

सत्तारूढ़ पीडीपी ने कहा कि राज्य के झंडे का राष्ट्रीय ध्वज से कोई टकराव नहीं है और राज्य में दोनों को सम्मान दिया जाएगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: jammu and kashmir hc stays its two flag order
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: national flag state flag umar abdullah
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017